यहां सरकार ने कोरोना को मान लिया आम फ्लू, लोगों से इसके साथ जीने की अपील

इंडिया सहित कई देशों में कोविड (covid) पाबंदियों का सख्ती से पालन भले ही किया जा रहा है लेकिन यूरोप के कुछ ऐसे देश भी हैं जहां पाबंदी हटाने की प्रारंभ कर दी है। स्पेन में मास्क और वैक्सीन को अनिवार्य नहीं मानने का निर्णय लिया गया है।

कोविड (covid) संकट को लेकर विश्वभर में पाबंदियां का दौर पुन: वापस आया है लेकिन यूरोप के देशों में मास्क और वैक्सीन की अनिवार्यता को हटाने की शुरुआत हो गई है। स्पेन की गर्वमेंट ने कोरोना को एक आम फ्लू मान लिया है. साथ ही लोगों से इसके साथ जीने की अपील की गई है।

खत्म होने की स्थिति में है महामारी?

मास्क ही नहीं वहां की गर्वमेंट ने कोरोना वैक्सीन (corona vaccine) की अनिवार्यता भी हटा सकती है. गर्वमेंट का मानना है कि कोरोना का ओमिक्रॉन वेरिएंट (Omicron Variants) ही महामारी को खात्मे की कगार पर ले जाएगा और यह प्रक्रिया शुरू हो चुकी है. ब्रिटेन के एजुकेशन सेक्रेटरी ने बताया कि यूके अब पेंडेमिक से एंडमिक की दिशा की ओर बढ़ रहा है.

विशेषज्ञों के अनुसार, ओमिक्रॉन वेरिएंट से संक्रमित होने पर हॉस्पीटल में एडमिट होने की आशंका बहुत कम है. साथ ही मौत का आंकड़ा भी कम दर्ज हो रहा है. ऐसे में स्पेन के PM प्रेडो सांचेज ने महामारी काल में लगाई गईं पाबंदियां को समाप्त कर सामान्य जनजीवन में लौटने का निर्णय लिया है.

CG “डायरी’ कांड’ से मचा बवाल, 366 करोड़ के भ्रष्टाचार की शिकायत, BJP ने मोर्चा खोला, CM के पास पहुंचे एजुकेशन मिनिस्टर

इस देश में वैक्सीनेशन जरूरी नहीं

उन्होंने कहा कि अब महामारी के समाप्त होने के हालात की समीक्षा में जुटे हुए हैं लेकिन यूरोप की सरकारें शायद इसे अलग मापदंडों पर तौल रही हैं. उधर, आयरलैंड में भी बढ़ते कोरोना मामलों के बावजूद स्वैच्छिक वैक्सीनेशन (vaccination) सिस्टम बनाया जा रहा है. सरकार अब लोगों को वैक्सीनेशन (vaccination)  के मामले में खुद फैसला करना का अधिकार देना चाहती है.

इसके साथ भी कई देशों ने क्वारंटीन पीरियड को घटाने का फैसला किया है. इसके साथ ही जरूरी सेवाओं पर किसी तरह की कोई पाबंदी नहीं लगाई जा रही है. चेक रिपब्लिक ने हाल ही में आइसोलेशन पीरियड को दो हफ्तों से घटाकर सिर्फ 5 दिन कर दिया है.

आने वाले दिनों में अगर बाकी यूरोपीय देश भी अपने यहां पाबंदियों में ढील देते हैं तो पिछले साल जैसे हालात पैदा होने की भी आशंका है. हालांकि डेनमार्क में भी पाबंदियां हटाई गईं हैं और मास्क को जरूरी नहीं माना जा रहा है. ऐसा ही फैसला नीदरलैंड की सरकार ने भी लिया है और वहां अब मास्क पहनना अनिवार्य नहीं है.

WHO ने इस बीच ओमिक्रॉन को लेकर चेतावनी दी है. संगठन ने कहा कि डेल्टा वेरिएंट (Delta Variants) की तुलना में भले ही ओमिक्रॉन से बीमारी के कम गंभीर होने को लेकर कुछ जानकारियां हैं, लेकिन यह हल्की बीमारी नहीं है क्योंकि ओमिक्रॉन के चलते भी लोगों को अस्पताल में भर्ती कराने की नौबत आ ही रही है।

https://twitter.com/WebMorcha

 

https://www.facebook.com/webmorcha

 

https://www.instagram.com/webmorcha/

Back to top button