ज्योतिष/धर्म/व्रत/त्येाहार

मेष राशि के जातकों के हाथ की बनावट कोन के आकार की होती है। उंगलियों की अपेक्षा हथेली बड़ी होती है। मूल में हाथ विस्तृत तथा शीर्ष पर सिकुड़ा होता है। मस्तिष्क विशाल तथा मुखाकृति विद्वत्तासूचक होती है। आपके सिर या कपाल के किसी भी भाग पर चोट का निशान रहेगा अथवा छाती या चेहरे पर कहीं तिल या मस्से का चिह्न रहता है। इस राशि के लोगों की भौंहें हमेशा ऊपर चढ़ी रहती हैं। वह हर समय चौकस बने रहते हैं।

हर कार्य में सतर्कता पर पहले इनका ध्यान रहता है। साथ ही साथ वह सफाई पसंदहोते हैं। हर काम साफ-सुथरे ढंग से करना पसंद रहता है। आंखें कमजोर रहती हैं। इस राशि का प्रभाव मस्तिष्क पर रहता है। अतः इन लोगों को मानसिक शांति कम रहती है। मेष राशि के जातकों में ऊष्णता अधिक रहती है। इसलिए गरम गरम चीजों का सेवन करने से शरीर में रोग उत्पन्न होने की संभावना अधिक रहती है।

__________________________________________________________________________

मेष – शारीरिक गठन                                                                   

मेष – व्यक्तित्व

मेष – आजीविका और किस्मत

मेष – रूचियां/ आपकी इच्छा

मेष – भाग्यशाली दिन

मेष – व्यवसाय 

मेष – भाग्यशाली रंग

मेष – विवाह और दांपत्य जीवन

मेष – शिक्षा

मेष – भाग्यशाली अंक

मेष – आर्थिक पक्ष

मेष – प्रेम संबंध

मेष – स्वभावगत कमियां

मेष – स्वास्थ्य

मेष – चारित्रिक विशेषताएँ

मेष – इष्ट मित्र

मेष – भाग्यशाली रत्न

मेष – घर-परिवार

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button