मेरा गांव मेरा शहर

गांजा बेच रही महिला को गांव के ही महिलाओं ने पकड़कर किया पुलिस के हवाले

महासमुंद। ग्रामीण क्षेत्रों में खुलेआम होे रही नशाखोरी सेे चिंतिंत अब महिला संगठनों ने आगे बढ़कर इसका मुकाबला कर रही हैं। बसना थाना के भूकेल के नारी शक्ति संगठन ने गांव के ही सुंदराबाई को अवैध रूप से बेच रहे गांजा को रंगे हाथ पकड़कर पुलिस के सुपर्द किया है। समिति के सदस्य राधिका बाई पोर्ते, उमा पारेश्वर, सुशीला पोर्ते, बिमला बघेल सहित सदस्यों ने पुलिस का काम किया। आरोपी महिला के पास से गांजा 01.008 किलोग्राम कीमती 4000 रुपये को गवाहों के समक्ष जप्त कर कब्जा पुलिस लिया गया। जप्तशुदा गांजा के पैकेट को खोलकर समरस कर 100-100 ग्राम के दौ पैकेट सेम्पल निकालकर A-1, A-2 मार्क देकर तथा शेष गांजा 0.808 ग्राम को कपडा के थैला में भरकर शीलबंद किया गया। समस्त कार्यवाही गवाहों के समक्ष मौके पर की जाकर आरोपी के विरूद्ध धारा 20(ख) एनडीपीएस एक्ट का घटित करना पाये जाने से आरोपी को को गिरफ्तार कर मय माल के थाना लाया गया आरोपी के विरूद्ध अपराध पंजीबद्ध कर जप्तशुदा माल गांजा को प्रधान आरक्षक लेखक को मालखाने में सुरक्षित रखने हेतु दिया गया।
40 किलो गांजा के दो युवक गिरफ्तार
क्राइम ब्रांच ने सिटी ग्राउंड के सामने पदमपुर की ओर से आ रही कार क्रमांक यूपी 10ईके 7100 को रोककर तलाशी ली तो कार की डिक्की से 40 किलों गांजा बरामद हुआ। वाहन में दो लोगो सवार थे, जिनमें भूपचन्द्र पिता फूलचंंद्र 42 वर्ष एवं मनोज पिता घनश्याम चौरसिया उम्र 38 दोनों निवासी जिला-थाना मोहबा उत्तर प्रदेश को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ के दौरान दोनों आरोपियों ने सोनपुर ओडिशा से अवैध गांजा लेकर उत्तर प्रदेश के मोहबा जिले में खपाने के लिए ले जाना स्वीकार किया। दोनों आरोपियों से क्रेता एवं विक्रेताओं को संबंध में भी पूछताछ जारी है। जब्त गांजा की कीमत तकरीबन एक लाख 60 हजार रुपए आंकी गई है। साथ ही अवैध परिवहन में प्रयोग की जा रही टाटा इंडिगो मांज़ा कार भी जब्त की गई है। युवकों को गिरफ्तार कर जेल भेज गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button