यदि जीवन में उतार-चढ़ाव अधिक है तो कुंडली में गुरु है कमजोर, ऐसे करें मजबूत

यदि जीवन में लगातार वाले उतार-चढ़ाव हो रहा है तो कुंडली में आपका गुरु ग्रह कमजोर होना संभव है। गुरु ग्रह को हम बृहस्पति ग्रह के नाम से भी जानते हैं। गुरु ग्रह जीवन में सकारात्मक ऊर्जा भी प्रदान करते हैं।

गुर ग्रह: ज्योतिष गणना में ग्रहों का बहुत अधिक महत्व है। कुंडली में ग्रह के प्रभाव से मनुष्य के जिंदगी में सुख-दुख के रूप में देखा जाता है। गुरु कमजोर होने से व्यक्ति के जीवन में होने वाले उतार-चढ़ाव को देखा जा सकता है। ज्योतिष गणना के अनुसार, व्यक्ति के जब कुंडली में गुरु ग्रह सही स्थान पर होते हैं तो तो जीवन के हर क्षेत्र में भरपूर सफलता मिलती है। गुरु ग्रह जीवन में सकारात्मक ऊर्जा भी प्रदान करते हैं। सकारात्मक मनुष्य के जिंदगी में हमेशा खुशहाली रहेगी। जानिए कुंडली में गुरु को कैसे मजबूत कर प्रसन्न किया जाए।

जानिए गुरु को मजबूत करने के तरीके

गुरुवार को किसी मंदिर में घी, दही, आलू एवं कपूर को दान देना चाहिए। इससे गुरु की स्थिति मजबूत होता है, जिससे जिंदगी में भरपूर सफलता मिलती है।

इसके साथ ही गुरु को मजबूत बनाने के लिए पुखराज पहनना चाहिए, इससे यश और सफलता की प्राप्त होती है।

गुरु को मजबूत बनाने के लिए हमें गुरुवार के दिन बृहस्पति की पूजा और व्रत करना चाहिए। इससे कुंडली में गुरु मजबूत होते हैं।

4- गुरु को मजबूत करने के लिए मनुष्य को सोना का आभूषण पहनाना चाहिए। इसके अलावा नहाने के पानी में गंगाजल मिलाकर नहाना करना चाहिए। इससे घर में सुख- शांति आती है।

गुरु मंत्र का जप ऐसे करें

गुरु का बीज मंत्र

ऊँ ग्रां ग्रीं ग्रौं स: गुरुवे नम:

गुरु का वैदिक मंत्र

देवानां च ऋषिणा च गुर्रु कान्चन सन्निभम।

बुद्यिभूतं त्रिलोकेश तं गुरुं प्रण्माम्यहम।।

गुरु को मजबूत करने के लिए हमें इन मंत्रों का जप करना चाहिए।

https://twitter.com/WebMorcha

 

https://www.facebook.com/webmorcha

 

https://www.instagram.com/webmorcha/

Back to top button