ज्योतिष/धर्म/व्रत/त्येाहार

आपके राशि में यदि साढ़े साती का प्रकोप कर लें ये उपाय

शनि देव मनुष्य के अच्छे-बुरे कर्मों का खाता-बही रखते हैं. अच्छे काम करने वाले लोगों पर हमेशा की इनकी कृपा बनी होती है। लेकिन बुरे लोगों को उतना ही दंड देते है...

शनि देव मनुष्य के अच्छे-बुरे कर्मों का खाता-बही रखते हैं. अच्छे काम करने वाले लोगों पर हमेशा की इनकी कृपा बनी होती है। लेकिन बुरे लोगों को उतना ही दंड देते है…

व्यक्ति की कुंडली में शनि दोष (Shani Dosh) होने से वे मानसिक, शारीरिक और आर्थिक क्षति होने की संभावना रहती है. अगर किसी व्यक्ति पर शनि की साढ़े साती (Shani Sade Sati) चल रही होती है, तो ये तीन चरणों में होती है. वहीं, शनि ढैय्या (Shani Dhaiya) ढ़ाई साल के लिए होती है.शनिवार के दिन अगर कुछ उपाय कर लिए जाएं, तो व्यक्ति को शनि साढ़े साती से मुक्ति मिलती है.

करें शनि साढ़े साती के उपाय (Shani Sade Sati Upay)

शनि दोष से मुक्ति पाने और शनि देव की कृपा पाने के लिए घर में शमी का पेड़ लगा लें. नियमित रूप से पेड़ की सुबह-शाम पूजा करें. ऐसी मान्यता है कि शमी के पेड़ में शनिदेव विराजमान रहते हैं. इनकी पूजा से व्यक्ति के जीवन से संकट दूर होते हैं.

मार्निंग इनोवेशन, चाणक्य की इन बातों को अमल करेंगे तो पूरे दिन होगा शानदार

धार्मिक मान्यता है कि शनिवार के दिन सरसों के तेल और काले तिल से शनि देव की पूजा करें. इसके साथ ही शनि चालीसा का पाठ करने से लाभ होता है. इस दिन दान-पुण्य से भी शनि दोष से जल्द दूर हो जाते हैं.

धार्मिक ग्रंथों में निहित है शनि देव ने हनुमान जी को एक बार वरदान दिया था कि वे हनुमान जी के भक्तों को परेशान नहीं करेंगे. अत: हनुमान जी की पूजा से शनि दोष समाप्त हो जाता है. नियमित रूप से हनुमान चालीसा का पाठ करने से व्यक्ति शनि दोष से मुक्त रहता है.

ऐसा माना जाता है कि भगवान शिव की पूजा से भी व्यक्ति की साढ़े साती समाप्त हो जाती है. इसलिए शनिवार को शिव चालीसा और महामृत्युंजय का पाठ करें. ऐसा करने से व्यक्ति को शनि दोष से जल्द छुटकारा मिल जाता है.

Related Articles

Back to top button