यदि ब्रह्म मुहूर्त में आए ये सपने आएं तो मानिए आपकी किस्मत का दरवाजा खुलने वाली है…जानिए आपके सपने क्या है?

सपना तो सपना है ये कहावत भी चरितार्थ है, लेकिन, सपना का संबंध जीवन के अवचेतन मन में चल रहे विचारों के अलावा भविष्‍य में होने वाली घटनाओं (Incidents) को भी देखा जाता है। कहा जाता है सपने में दिखी चीजें आने वाली घटनाओं का संकेत देती हैं. इस बारे में पूरा का पूरा स्वप्न शास्‍त्र लिखा गया है, जो नींद में देखे गए सपनों का मतलब बताता है. स्वप्न शास्त्र के मुताबिक, सुबह 3 बजे से 5 बजे के बीच के समय में देखा गया सपना कभी-कभी बहुत सच के नजदीक होता है इसलिए कि इस समय में दैवीय शक्तियों का बड़ा असर रहता है. आइये जानते हैं कि वे कौन से सपने हैं, जो मनुष्य को अपार धन-संपदा का मालिक बनाते हैं.

ऐसे सपने धन-दौलत मिलने का देते हैं संकेत

सपना में व्यक्ति यदि खुद को अनाज के ढेर पर चढ़ता हुआ देखे और उसी समय उसकी नींद खुल जाए तो निश्चित रूप से धन लाभ होता है.  सपना में कोई छोटा बच्चा मस्ती करता हुआ दिखाई देना, धन प्राप्ति का इशारा है. सपना में कलश यानी कि पानी से भरा घड़ा या कोई अन्‍य बड़ा पात्र देखने से निश्चित तौर पर धन लाभ होता है. उस पर मिट्टी के घड़ा या पात्र देखना सर्वश्रेष्ठ होता है. ऐसे व्यक्ति को जल्‍द ही अपार धन मिलने के साथ-साथ भूमि लाभ होता है. सपना में खुद को या फिर दूसरों को स्नान करते हुए देखना भी शुभ होता है. ऐसा सपना यदि आपके द्वारा यात्रा करने के समय के आसपास आए तो यह यात्रा से धन लाभ कराने का संकेत देता है.

राशिफल: इन राशियों पर बुध की बनी रहेगी कृपा, पढ़ें राशिफल..मेष, मिथुन और कुंभ राशि के जातक स्वास्थ्य पर दें ध्यान

गंगा नदी में डुबकी लगाते देखना भी बहुत शुभ है. इससे रुका हुआ पैसा या उधार दिया हुआ पैसा जल्‍द वापस मिल जाता है. सपना में दांत टूटते देखना भी जल्‍द पैसा दिलाता है. यह नौकरी-व्यापार में लाभ मिलने का संकेत भी सपना देता है. सपना में खूनखराबा देखने से भी धन लाभ होता है. इससे वह पैसा भी मिल जाता है कहीं मुश्किल में फंसा हो. सपना में खुद को नौकरी का इंटरव्यू देने के लिए जाते हुए देखना भी जल्‍द ही आर्थिक लाभ होने का इशारा देता है.

सपना में दिवंगत पूर्वजों का आना भी लाभ का संकेत है. सपना में मंदिर, शंख, गुरु, शिवलिंग, दीपक, घंटी, द्वार, राजा, रथ, पालकी, उजला आकाश और पूर्णिमा के चंद्रमा का दिखाई देना तो धर्म-पुराणों में भी शुभ बताया गया है. बल्कि इससे जुड़ी कई कथाएं भी प्रचलित है.

(नोट: इस लेख में दी गई सूचनाएं सामान्य जानकारी और मान्यताओं पर आधारित हैं. Webmorcha  इसकी पुष्टि नहीं करता है.)