यदि आप ये 8 Apps करते हैं उपयोग तो करें तत्काल डिलीट, वरना खा सकते हैं धोखा

एंड्रॉयड ओएस आधारित स्मार्टफोन चलाने वाले यूजर्स जब चाहें, तब गूगल प्ले स्टोर पर जाकर कोई भी ऐप Apps डाउनलोड कर सकते हैं। यह एक अच्छी सहूलियत है लेकिन कई बार यही सुविधा खतरनाक भी साबित हो सकती है।  दरअसल, एक बार फिर से जोकर वायरस का खतरा एंड्रॉयड यूजर्स पर मंडराने लगा है। इससे पहले भी जोकर वायरस ने 40 से अधिक ऐप्स को टारगेट किया था। इस बार वायरस ने करीब 8 एप्स को अपना निशाना बनाया है।

91 मोबाइल्स ने क्विक हील्स की रिपोर्ट का हवाला देते हुए बताया है कि गूगल प्ले स्टोर पर मौजूद 8 एंड्रॉयड एप्स पर जोकर मैलवेयर पाया है, जिनके नाम Auxilliary Message, Element Scanner, Fast Magic SMS, Free CamScanner, Go Messages, Super Message, Super SMS और Travel Wallpapers हैं।

साइबर सिक्योरिटी कंपनी ने इसकी जानकारी अल्फाबेट के स्वामित्व वाली कंपनी को दी ही है और इन्हें गूगल प्लेस्टोर से हटा दिया गया है। अगर आपके फोन में ये ऐप्स हैं तो इन्हें अनइंस्टॉल कर दें, नहीं तो वायरस आपके फोन पर भी अटैक कर सकता है, जरूरत पड़े तो आप अपने फोन को रिसेट भी कर सकते हैं।

एक एप्लीकेशन के साथ जोकर मैलवेयर स्मार्टफोन यूजर्स से रीड नोटिफिकेशन, फोन कॉल्स और कॉन्टैक्ट बुक की परमिशन ले लेता है। इसके बाद ऐप्स आपकी नोटिफिकेशन, फॉन कॉल्स, एसएमएस और कॉन्टैक्ट को पढ़ सकता है। ऐसे में यह फोन में मौजूद कई जानकारी और बैंक संबंधी जानकारी को चोरी कर सकता है। जोकर एक मैलवेयर ट्रोजन है, जो मुख्यतः एंड्रॉयड डिवाइस को टारगेट करता है।

प्रभार वाले जिले बदलने के बाद TS सिंह का बयान- पहले 12 विधानसभा थे मेरे प्रभार वाले जिले में, अब 5 हैं….मैं खिलाड़ी की तरह काम करूंगा!

स्मार्टफोन में किसी भी ऐप को परमिशन देने से पहले एक बार ये जरूर चेक कर लें कि क्या वाकई उसे उस परमिशन की जरूरत है। ज्यादातर ऐप गैर जरूरी परमिशन का एक्सेस ले लेते हैं। इतना ही नहीं अगर आप पुराने ऐप्स को दी गई परमिशन का रिव्यू करना चाहते हैं तो आपको फोन की सेटिंग्स में जाना होगा। इसके बाद वहां ऐप्सी को परमिशन को चेक कर सकते हैं और गैर जरूरी परमिशन को बंद कर सकते हैं। इस फीचर प्रोसेस को विस्तार से जानने के लिये यहां क्लिक करें।