शासकीय कार्यवाहियों में ‘विकलांग‘ की जगह अब ‘दिव्यांग‘ शब्द का होगा प्रयोग

0
13

रायपुर। दिव्यांगजन कल्याण की योजनाओं और उससे संबंधित आगामी सभी शासकीय कार्यवाहियों में ‘विकलांग‘ के स्थान पर ‘दिव्यांग‘ शब्द का प्रयोग किया जाएगा। भारत सरकार द्वारा जारी दिव्यांगजन अधिकार अधिनियम 2016 के परिप्रेक्ष्य में मंत्रालय से राज्य सरकार के सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा इस संबंध में अधिसूचना जारी कर दी गई है। साथ ही इस आशय की सूचना सभी प्रशासकीय विभागों, विभागाध्यक्षों, संभागीय आयुक्तों, कलेक्टरों सहित आयोग, मंडल कार्योलयों को प्रेषित की गई है।

http://रायपुर : छत्तीसगढ़ की महिला स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों पर शोध करें, उनके योगदान को पाठ्यक्रम में शामिल करें: सुश्री उइके

सूरजपुर : कलेक्टर ने प्रेमनगर के स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल का किया निरीक्षण

सूरजपुर। कलेक्टर डॉ. गौरव कुमार सिंह ने जिले के प्रेमनगर में स्थित स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल का निरीक्षण कर आवश्यक व्यवस्थाओं का जायजा लिया। कलेक्टर ने स्कूल में स्थित आत्मानंद स्कूल की व्यवस्थाओं को देख संबंधित अधिकारी को आवश्यक व्यवस्था दुरूस्थ करने के निर्देश दिये। निरीक्षण के दौरान जिला पंचायत सीईओ राहुल देव, जिला शिक्षा अधिकारी एवं अन्य विभाग के अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे। कलेक्टर डॉ. गौरव कुमार सिंह ने स्कूल का भ्रमण कर कहा स्कूल के बारे में  जानकारी प्राप्त हो इसके लिए उन्होंने बाहर बड़ा नोटिस बोर्ड लगाने के निर्देश दिये। उन्होंने छात्रों को गुणवत्ता युक्त शिक्षा प्रदाय करने के लिए दीक्षा एप्प के माध्यम से विद्यार्थियों को पढ़ाने कहा।

http://रायपुर : ​​​​​​​मंत्री उमेश पटेल और महिला एवं बाल विकास मंत्री ने स्वामी आत्मानंद शासकीय उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम विद्यालय का किया निरीक्षण

कलेक्टर ने छात्रों को सर्वसुविधायुक्त वातावरण में पढ़ने के लिए क्लास रूम को साफ-सफाई रखने के निर्देश दिए। स्कूल में  मरम्मत कार्य करने हेतु पीडब्ल्यूडी तथा आरईएस को निर्देश दिए। उन्होंने स्कूल बिल्डिंग का भी निरीक्षण किया तथा सिपेज हो रहें हैं उन्हें तत्काल सुधार करने के निर्देश दिये एवं बिल्डिंग के उपर सर्वसुविधायुक्त निर्माण करने को भी निर्देशित किया। निरीक्षण के दौरान जिला पंचायत सीईओ राहुल देव ने स्कूल के शिक्षकों से बात कर स्कूल की व्यवस्था दुरूस्थ करने, शिक्षकों के नियमित स्कूल आने, छात्रों का निरंतर काउंसलिंग करने तथा व्यक्तित्व विकास संबंधी शिक्षा पर जोर देने कहा है। कलेक्टर ने प्रयोगशाला कक्ष का भी निरीक्षण किया तथा प्रयोगशाला में प्रयोग होने वाले सभी सामग्रियों की उचित व्यवस्था करने के निर्देश दिये।