रायपुर समेत महासमुंद, बस्तर, कोरिया में लोगों को पैसे डबल होने का लालच देकर करोड़ों के ठगी वाले PACL के डायरेक्टर को CG पुलिस ने पंजाब में पकड़ा

रायपुर। PACL ये नाम छत्तीसगढ़ में जाना-पहचाना है। 2014 से लेकर 2016 तक प्रदेश के ग्रामीण एवं शहरों में खुब चर्चा में रही। इस नाम ने लोगों को धन जमा करने और भविष्य में आय दोगुना करने का झांसा दे रही थी। इस नाम के सैकड़ों एजेंट प्रदेशभर में घुम रहे थे। स्थिति ये रही कि कुछ ही साल चलने के बाद ये नाम स्कैम तक जा पहुंचा। लोगों से मिले करोड़ों रुपए लेकर इस कंपनी ने अपना बोरिया बिस्तर समेट भाग खड़ा हुआ। अब इस PACL कंपनी के डायेक्टर सुखदेव सिंह को छत्तीसगढ़ की Police ने  पंजाब से लेकर आई है।

इस फर्जी कंपनी डायेक्टर का नाम सुखदेव सिंह है। इसे सीबीआई ने पकड़ा था। बीते कुछ दिनों से इसे पंजाब की रूपनगर जेल में रखा गया था। बतादें, रायपुर राजधानी मौदहापारा थाने में भी सुखदेव के खिलाफ साल 2016 में ठगी की मामला दर्ज हुई थी। पांच साल बाद अब Police इसे यहां लेकर आई है। गुरुवार को इसे कोर्ट में पेशकर Raipur  की सेंट्रल जेल में रखा गया है। अब यहां सुखदेव पर केस चलेगा।

ये है छत्तीसगढ़ का भ्रष्ट अफसर….ACB चीफ रहने के दौरान ADG जीपी सिंह ने ब्लैकमेल कर करोड़ों कमाए, मनी लॉन्ड्रिंग और Odisha में बेनामी संपत्ति के सबूत मिले

प्रदेश के 15 हजार लोगों के  नाम, रकम कितनी पता लगा रही पुलिस

रायपुर के मौदहापारा पुलिस मामला दर्ज कर जांच में लिया है। Police  के अनुसार, अब तक प्रदेश 15 हजार लोगों की पहचान की है जिसने इनके पास रकम जमा की थी। बताया जा रहा है सभी को मिलाकर करोड़ों रुपए गबन करने का आरोप सुखदेव पर है। रकम कितनी है, इसकी जांच जारी है। प्यारे लाल निर्मलकर जो कि अमलेश्वर जिला दुर्ग के रहने वाले हैं सबसे पहले इन्होंने ही इस शातिर ठग के खिलाफ Police से शिकायत की थी।

रायपुर राजधानी के कचहरी चौक स्थित कृष्णा काम्पलेक्स में PACL का ऑफिस बनाया गया था। ये चिट फंड कंपनी सुखदेव सिंह ही चलाता था। मौदहापारा Police की टीम ने कृष्णा कॉम्पलेक्स स्थित चिट फंड कंपनी से कम्प्यूटर और दूसरे सामान जब्त कर लिए थे। रायपुर Police को सुखदेव की तलाश थी कि तभी पता चला कि CBI ने भी ऐसी ही शिकायत पर एक्शन लेते हुए पंजाब से सुखदेव को पकड़ा है। मौदहापारा Police की टीम ने पंजाब के रूपनगर जाकर प्रोडक्शन वारंट पर आरोपी सुखदेव सिंह को रायपुर राजधानी  लाया।

अब ठग की प्रॉपटी बेचकर दी जाएगी लोगों को रकम

Police को अपनी जांच में पता चला है कि आरोपी डायरेक्टर सुखदेव सिंह ही अपनी चिट फड कंपनी का मैनेजिंग डायरेक्टर था जो फायनेंस से जुड़े फैसले लेता था। इसके साथ कुछ और लोग भी कंपनी के डायरेक्टर थे जो Police के जांच रडार पर हैं। उन लोगों पर भी कार्रवाई हो सकती है। Police टीम को कंपनी के नाम पर रायपुर, बस्तर, महासमुंद, रायगढ़ सहित राजनांदगांव में 600 एकड़ जमीन खरीदने की बात भी पता लगी है। अब इस प्रॉपर्टी को कुर्की करने की प्रक्रिया की जा रही है। आरोपी सुखदेव सिंह के खिलाफ रायपुर समेत महासमुंद, बस्तर, कोरिया और बेमेतरा में भी ठगी के मामले दर्ज हैं।

हमसे जुड़िए

https://twitter.com/home             

https://www.facebook.com/?ref=tn_tnmn

https://www.facebook.com/webmorcha/?ref=bookmarks