सीपत एनटीपीसी प्रबंधन को भू-विस्थापित व हिंसा पीड़ित परिवार को नौकरी व मुआवजा दिलाने लिखा पत्र

रायपुर। सीपत एनटीपीसी में भुस्थापित किसान के मुआवजे को लेकर संतोष सोनवानी प्रवक्ता छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी(स्लम सेल) के नेतृत्व में भू-विस्थापित किसान परिवार कलेक्टर सारांश मित्तर को पत्र दिये थे जिस पर अपर कलेक्टर नूपुर पन्ना द्वारा एनटीपीसी प्रबंधन से मुआवजा एवं भू-विस्थापित परिवार को नौकरी हेतु पत्र लिखकर जवाब मांगा गया है। ज्ञात हो कि आज से 20 साल पूर्व ग्राम रॉक थाना सीपत के एक किसान का मुआवजे बंटवारे को लेकर उनके पिता चंद्रिका राठौर एवं भाइयों सुमन राठौर, छतराम राठौर,

http://सीएम भूपेश बघेल ने कहा – दिल्ली और पड़ोसी राज्य में कोरोना के बढ़ते मामलों से सावधान रहने की जरूरत

मंझरीबाई एवं नर्मदाबाई द्वारा हत्या कर दी गई थी, जिसके मुआवजे के लिए तत्कालीन विधायक रामेश्वर खरे द्वारा कलेक्टर निवास का घेराव किया गया था। जिस पर तत्कालीन कलेक्टर  कुजूर के द्वारा तीन सूत्रीय मांगों के आश्वासन पर मामला थमा था पर आज तक ना वह मांग पूरा हुआ और न ही उन भू-विस्थापित के सदस्यों को कोई रोजगार दिया गया, बल्कि दर दर भटकने के लिए छोड़ दिया। कांग्रेस प्रवक्ता संतोष सोनवानी के पत्र पर संज्ञान लेते हुए अपर कलेक्टर ने सीपत एनटीपीसी प्रबंधन से जवाब मांगते हुए भू-विस्थापित परिवार को मुआवजा व नौकरी के लिए पत्र लिखा है।