Thursday, January 28, 2021
Home देश/विदेश आगामी कुछ घंटों में खतरनाक हो सकता है ‘’अंफन’’ इन राज्यों में...

आगामी कुछ घंटों में खतरनाक हो सकता है ‘’अंफन’’ इन राज्यों में मंडराया खतरा

अंफन

नई दिल्ली, एजेंसी। बंगाल की खाड़ी में उठ रहे तूफान अंफन (Amphan)  कई राज्यों के लिए डेंजर हो सकता है। मौसम विभाग के मुताबिक इस समय देश में वेस्‍टर्न डिस्‍टर्बेंस एक्टिव है। इस वजह से देश के पहाड़ी क्षेत्रों जैसे, जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड के साथ ही पंजाब, हरियाणा, उत्तरी राजस्थान व पश्चिमी उत्तर प्रदेश में भी मौसम खराब हो सकता है। भारतीय मौसम विभाग के अनुसार बंगाल की दक्षिण-पूर्वी खाड़ी और पड़ोसी क्षेत्रों से उठा चक्रवाती तूफान अम्फान अगले 12 घंटे में खतरनाक रूप ले सकता है। दक्षिण पूर्वी बंगाल की खाड़ी में करीब 1000 किलोमीटर की दूरी पर अगले 12 घंटे में चक्रवाती तूफान में तेजी से वृद्धि हो सकती है। ओडिशा के तटीय क्षेत्र और आसपास के क्षेत्र में तूफान की चेतावनी दी है।

200 किलोमीटर प्रति घंटा से चलेंगी हवा की रफ्तार

अंफन तूफान आने वाले समय में कितना घातक रूप ले सकता है इसका अंदाजा इसकी रफ्तार से लगाएं जा रहे हैं। 19 मई तक इसकी रफ्तार 200 किलोमीटर प्रति घंटा होने की संभावना जताई गई है। इस कारण से ओडिशा, बंगाल में दो दिनों तक भारी बारिश भी होगी। 20 मई तक यह दोनों राज्यों को पार करेगा। चक्रवाती तूफान की गति और क्षमता को देखते हुए प्रदेश सरकार ने आज दिन में केन्द्र सरकार से अनुरोध किया कि वह अम्फान के रास्ते से होकर गुजरने वाली सभी श्रमिक स्पेशल ट्रेनों को अस्थाई रूप से स्थगित कर दे।

यहां पढ़ें ब्रकिंग : मोदी सरकार का 20 लाख करोड़ का पूरा ब्योरा ये रहा- आप भी जानिए

ओडिशा में एनडीआरएफ की 10 टीमें तैनात

ओडिशा के बालासोर, भद्रक, केंद्रपाड़ा, पुरी, जगतसिंहपुर, जाजपुर और मयूरभंज जिलों में राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) की 10 टीमें तैनात की गई हैं। 7 टीमें कटक में 3 एनडीआरएफ बीएन मुंडाली में हैं।

भारत मौसम विभाग भुवनेश्वर, डायरेक्टर एच.आर.विश्वास ने बताया कि 20 मई की दोपहर से शाम के बीच अम्फान चक्रवात के पश्चिम बंगाल के सागर द्वीप और बांग्लादेश के हातिया द्वीप के बीच में लैंडफाल कर सकता हैं। वहां चक्रवात भयानक रूप ले लेगा। चक्रवात के कारण ओडिशा में भारी वर्षा होगी और तेज आंधी चलेगी।

अगले कुछ घंटों में ले सकता है गंभीर चक्रवाती तूफान का रूप

समाचार एजेंसी पीटीआई ने गृह मंत्रालय के अधिकारी के हवाले से कहा कि अगले छह घंटों के दौरान चक्रवाती तूफान में गंभीर औऱ तेजी आने की संभावना है और 12 घंटे के दौरान बहुत भयंकर चक्रवाती तूफान में बदल सकता है। यह सोमवार तक लगभग उत्तर की ओर बढ़ने की संभावना है और फिर उत्तर-पश्चिम बंगाल की खाड़ी में उत्तर-पूर्व की ओर फिर से बढ़ेगा।

18 मई को भयंकर चक्रवाती तूफान में बदल सकता है अंफन

भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक दक्षिण-पूर्व बंगाल की खाड़ी में दबाव का क्षेत्र बना था, जो धीरे-धीरे चक्रवात में बदलने लगा है। यह चक्रवात 17 मई से बंगाल की खाड़ी के उत्तर-पश्चिम में पश्चिम बंगाल और उत्तरी ओडिशा के तट की तरफ बढ़ेगा। जो 18 मई यानी सोमवार को गंभीर चक्रवाती तूफान में बदल सकता है।

सरकार अलर्ट

राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन बल (एनडीआरएफ), सशस्त्र बलों और भारतीय तटरक्षक बल को सतर्क किया गया है और राज्य सरकार के अधिकारियों से समन्वय करने को कहा गया है। गृह, रक्षा मंत्रालयों के साथ-साथ भारतीय मौसम विभाग और एनडीआरएफ के वरिष्ठ अधिकारियों ने बैठक में हिस्सा लिया। राज्य सरकारों के मुख्य सचिवों और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने वीडियो कांफ्रेंस के जरिये बैठक में हिस्सा लिया।

दीघा समुद्र तट से 1140 किमी दूर है चक्रवात

मौसम विभाग ने रविवार सुबह 5 बजकर 30 मिनट पर तूफान को लेकर ताजा बुलेटिन जारी किया है। इसके मुताबिक ये तूफान फिलहाल बंगाल की खाड़ी के दक्षिण पूर्व में है और ये उत्तर पश्चिम की तरफ बढ़ रहा है। हवा की रफ्तार इस वक्त 6 किलोमीटर प्रतिघंटा है। तट से इसकी दूरी का हिसाब लगाया जाय तो ये ओडिशा के पारादीप से 990 किलोमीटर दक्षिण में है. जबकि पश्चिम बंगाल के दीघा से इसकी दूरी 1140 किलोमीटर दक्षिण पश्चिम की तरफ है।

मौसम विभाग के अनुसार, इस दौरान 70 किलोमीटर प्रति घंटे तक तेज हवाएं चलेंगे और बारिश भी होगी। मौसम विभाग इसे लेकर ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग के अनुसार, उत्तर भारत में पश्चिमी विक्षोभ अभी भी सक्रिय है। इसका असर पर्वतीय इलाकों जैसे जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के साथ-साथ पंजाब, हरियाणा, उत्तरी राजस्थान और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में भी बना हुआ है। जिसे लेकर मौसम विभाग ने ऑरेंज अलर्ट जारी किया है।

आज शाम तक भयंकर चक्रवात में बदल सकता है तूफान

यह चक्रवात शनिवार की सुबह पश्चिम बंगाल में दीघा के दक्षिण-दक्षिण पश्चिम में 1,220 किलोमीटर की दूरी पर था। मौसम कार्यालय ने यहां बताया कि इस तूफान के प्रभाव से 19 मई से राज्य के तटीय जिलों में भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना है। क्षेत्रीय मौसम विभाग के निदेशक जीके दास ने बताया कि कम दबाव का क्षेत्र रविवार की शाम तक भयंकर चक्रवात में बदल सकता है और यह 17 मई तक उत्तर-उत्तरपश्चिम की ओर बढ़ सकता है। उन्होंने बताया कि इसके 18 से 20 मई के दौरान उत्तर-उत्तरपूर्व की ओर बढ़ने और फिर पश्चिम बंगाल तट की ओर बढ़ने की संभावना है। इस तूफान से पश्चिम बंगाल, ओडिशा और आंध्र प्रदेश के तटीय इलाकों में तबाही हो सकती है। ओडिशा के जगतसिंहपुर, केंद्रपाड़ा, बालासोर और भद्रक जैसे जैसे तटीय इलाकों में इसका असर देखने को मिल सकता है।

Cyclone Amphan: भयंकर समुद्री तूफान की आशंका, तेज हवा के साथ भारी बारिश की संभावना बरकरार

Cyclone Amphan: भयंकर समुद्री तूफान की आशंका, तेज हवा के साथ भारी बारिश की संभावना बरकरार

loading…


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
webmorcha/com
11398/ 70
webmorcha.com webmorcha.com

Most Popular

Recent Comments