कोविड-19 के नियमों का पालन करते हुए जिले के शिक्षक घर-घर जाकर विद्यार्थियाें को सूखा राशन पैकेट का कर रहें हैं वितरण

महासमुंद। राज्य शासन द्वारा कोविड-19 के संक्रमण काल में शालाओं के बंद रहने की अवधि विगत 01 मार्च 2021 से 30 अप्रैल 2021 तक में बच्चों को खाद्य सुरक्षा भत्ता के रूप में 40 दिवस के लिए सूखा राशन वितरण करने के निर्देश दिए गए है। जिला कलेक्टर डोमन सिंह के निर्देशानुसार जिला शिक्षा अधिकारी के मार्गदर्शन में जिले में संचालित समस्त प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालय में अध्ययनरत् समस्त छात्र-छात्राओं को शिक्षकों के सहयोग से कोविड-19 के दिशा-निर्देशों एवं नियमों का पालन करते हुए घर-घर जाकर प्रति विद्यार्थी शासन के नियमानुसार पैकेट तैयार कर सूखा राशन सामग्री वितरण किया जा रहा है। जिला शिक्षा अधिकारी राॅबर्ट मिंज ने बताया कि कक्षा पहली से आठवीं तक शासकीय विद्यालयों में अध्ययनरत बच्चों को खाद्य सुरक्षा भत्ता के रूप में फरवरी 2021 तक का सूखा राशन वितरण किया जा चुका है।

http://महासमुंद। अनावश्यक दवाईयां न देने के संबंध में स्वास्थ्य विभाग द्वारा नीति निर्धारित

लेकिन कोरोना संक्रमण के कारण आगामी आदेश तक राज्य के सभी विद्यालयों को बंद रखा गया है। इस बंद अवधि में बच्चों को 01 मार्च 2021 से 30 अप्रैल 2021 तक 40 दिवस का सूखा राशन प्रदान करने के आदेश के पालन में विद्यालय के सभी शिक्षकों द्वारा विश्वव्यापी कोरोना संक्रमण कोविड-19 को ध्यान में रखते हुए सुरक्षित रूप से सभी बच्चों के घर-घर जाकर सूखा राशन का वितरण सभी विकासखण्डों में किया जा रहा है। जिले के 1305 शासकीय प्राथमिक स्कूलों में 72 हजार 842 विद्यार्थी दर्ज है एवं 500 उच्च माध्यमिक स्कूलाें में 47 हजार 288 विद्यार्थी दर्ज हैं। इस प्रकार कुल एक लाख 20 हजार 130 विद्यार्थियों को सूखा राशन के रूप में चावल, दाल, आचार, सोयाबीन बड़ी, तेल एवं नमक के निर्धारित पैकेट का वितरण बच्चों के घर-घर जाकर किया जा रहा है।

हमसे जुड़िए

https://twitter.com/home             

https://www.facebook.com/?ref=tn_tnmn

https://www.facebook.com/webmorcha/?ref=bookmarks

https://webmorcha.com/

https://webmorcha.com/category/my-village-my-city/

9617341438, 7879592500,  7804033123