महासमुन्द

पेट्रोल-डीजल के दामों में वृद्धि, कांग्रेसियों ने फूंका भाजपा सरकार का पुतला

पेट्रोल-डीजल के दामों में तत्काल कमी करने की मांग

महासमुंद।

  • बागबाहरा ब्लॉक कांग्रेस कमेटी ने पेट्रोल-डीजल के दामों में बेतहाशा वृद्धि के विरोध में ग्राम खल्लारी में भाजपा सरकार का पुतला दहनकर जमकर नारे लगाए।
  • कांग्रेसियों ने पेट्रोल-डीजल के दामों में तत्काल कमी करने की मांग की।
  • इस दौरान ब्लॉक कांग्रेस के अध्यक्ष अंकित बागबाहरा ने कहा कि कच्चे तेल की कीमतों में कमी होने के बाद भी भाजपा सरकार पेट्रोल-डीजल के मूल्यों में वृद्धि कर अपनी जेबें भर रही है।
  • उन्होंने कहा कि केंद्र की कांग्रेस गठबंधन वाली पूर्ववर्ती सरकार ने जहां 10 वर्षों में पेट्रोल-डीजल में टैक्स के माध्यम से मात्र 76000 करोड़ की आय अर्जित की थी।
  • वहीं भाजपा की केंद्र सरकार ने मात्र 3 वर्षों में ही सवा तीन लाख करोड़ की आय टैक्स से अर्जित कर ली है, जो कि लगभग सवा दो लाख करोड़ अधिक है।
  • डीजल पर जहां कांग्रेस सरकार के समय मात्र 9 रुपए टैक्स था, वो आज भाजपा शासन में बढ़कर 28 रुपए हो चुका है।
  • पेट्रोल-डीजल पर जीएसटी क्यों नहीं। http://यहां पढ़े

  • अंकित ने कहा कि कांग्रेस की केंद्र सरकार के समय कच्चे तेल की कीमत 130 डॉलर प्रति बैरल भी गई थी, तब भी जनहित में कांग्रेस सरकार ने कीमतों में नियंत्रण रखा था।
  • आज जब कच्चे तेल की कीमत मात्र 70 डॉलर प्रति बैरल है, तब भी भाजपा सरकार मनमाना मूल्य आम जनता पर थोप रही है।
  • भाजपा सरकार पेट्रोल-डीजल को आज भी जीएसटी से जान बुझकर बाहर रखा है।
  • उन्होंने कहा कि पेट्रोल-डीजल रोजाना की जरूरत का सबसे मुख्य साधन है।
  • इसकी कीमतों में इजाफा होने से आम आदमी की जेब में सीधे-सीधे मार पड़ती है।
  • आज की बेतहाशा बढ़ती महंगाई से आम जनता का जीना मुहाल हो गया है।
  • ये रहे मौजूद

  • पुतला दहन के दौरान वरिष्ठ कांग्रेसी व पूर्व जनपद सदस्य माखन सोन, मुकुंद सिन्हा, तारेश साहू, भूपेंद्र ठाकुर,बजरंगी यादव,ताम्रध्वज बघेल, टेकराम कुलदीप,पोखन साहू,देवशरण तिवारी,भूपेंद्र ध्रुव, नरेंद्र यादव,जय यादव, शशांक चंद्राकर, पीताम्बर ध्रुव, प्रेमलाल ध्रुव, सुरेश पटेल, सुखदेव नागवंशी, सुखदेव साहू, जागेश्वर यादव, सचिन ध्रुव, दिनू ध्रुव, देवा ध्रुव, शुक्ला ध्रुव, नटराज ध्रुव आदि मौजूद थे।

यहां पढ़े..भाजपाईयों का उपवास अपनी नाकामियों पर पर्दा डालने की कोशिश: अंकित

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button