खाद के बढ़े दामों से किसानों की लागत में होगी डेढ़ गुना वृद्धि: संसदीय सचिव ने किसानों की आय बढ़ाने केंद्र सरकार के दावों को बताया ढकोसला

महासमुंद। संसदीय सचिव व विधायक विनोद सेवनलाल चंद्राकर ने कहा कि एक तरफ केंद्र सरकार कृषि कानूनों के जरिए किसानों की आय बढ़ाने के दावे कर रही है। लेकिन दूसरी तरफ केंद्र के रसायन एवं उर्वरक मंत्रालय (केमीकल एंड फर्टीलाइजर मिनीस्ट्री) के अंतर्गत आने वाले इफको ने खाद के दामों में लगभग डेढ़ गुना की वृद्धि की है। खाद के बढ़े दामों की वजह से किसानों की लागत में डेढ़ गुना की वृद्धि हो जाएगी। संसदीय सचिव चंद्राकर ने इफको द्वारा खाद के दामों में हुई वृद्धि पर निशाना साधते हुए कहा कि केंद्र सरकार कृषि क्षेत्र में निजीकरण का रास्ता खोल रही है। एक तरफ सरकार किसानों की आय दोगुनी करने का वादा करती है, दूसरी तरफ किसानों की फसल में लगने वाली लागत को बढ़ा रही है।

http://महासमुंद: रिटायर्ड डिप्टी कलेक्टर डीएस ध्रुव का बीती रात निधन, संसदीय सचिव ने जताया शोक

अब खाद के दामों में बेतहाशा वृद्धि कर सरकार ने किसानों पर एक और चोट कर दी है। कोरोना संकट काल के बीच किसानों के सामने एक नई आफत आ गई है। इफको इंडियन फार्मर्स फर्टिलाइजर्स कोआपरेटिव लिमिटेड ने खाद के दाम बढ़ा दिए हैं। कोरोना काल में पहले से ही आर्थिक तंगहाली झेल रहे किसानों को खाद की बढ़ी कीमतों ने परेशानी में डाल दिया है। डीएपी की प्रति 50 किलो की बोरी की कीमत इफको ने 1900 रुपए कर दी है। पहले डीएपी किसानों को 1200 रुपए में उपलब्ध हो रहा था। डीएपी के साथ साथ एनपीके 10ः26ः26, एनपीके 12ः32ः16, एनपीके 15ः15ः15, एनपी 20ः20ः0ः13 की कीमतों में बेतहाशा वृद्धि कर दी गई है। संसदीय सचिव चंद्राकर ने कहा कि केंद्र सरकार के इन विनाशकारी कदमों की वजह से किसान अपनी जमीन बेचने पर मजबूर हो जाएंगे। कुल मिलाकर सरकार अपने इन कदमों की बदौलत कृषि क्षेत्र में काॅरपोरेट घरानों का दखल बढ़ाने का ही प्रयास कर रही है।

http://कोरोना संकट के बावजूद भी किसानों के हितों की नहीं होगी अनदेखी- सीएम भूपेश बघेल

एक लाख का सहयोग करने पर संसदीय सचिव ने जताया आभार

कोरोनो महामारी के संकटकाल से निपटने के लिए रामजानकी मंदिर समिति झालखम्हरिया ने मुख्यमंत्री सहायता कोष में एक लाख रुपए का सहयोग किया है। आज बुधवार को संसदीय सचिव चंद्राकर को समिति के अध्यक्ष सेवकराम साहू ने एक लाख रुपए का चेक सौंपा। इस सहयोग के लिए संसदीय सचिव चंद्राकर ने मंदिर समिति के पदाधिकारियों का आभार जताते हुए इस विषम परिस्थितियों में सहयोग के लिए समाजसेवी संगठनों व दानदाताओं को आगे आने का आव्हान किया है।

हमसे जुड़िए

https://twitter.com/home             

https://www.facebook.com/?ref=tn_tnmn

https://www.facebook.com/webmorcha/?ref=bookmarks

https://webmorcha.com/

https://webmorcha.com/category/my-village-my-city/

9617341438, 7879592500,  7804033123