इंडोनेशिया की गायब पनडुब्बी का मलबा मिला, 53 लोगों के मिलने की उम्मीद टूटी

जकार्ता। अचानक गायब हुई इंडोनेशिया की पनडुब्बी के सही-सलामत मिलने की उम्मीद तकरीबन टूट गई है। देश की नौसेना ने शनिवार को घोषणा कर दिया है कि बाली के तट से गायब हुई पनडुब्बी डूब गई है। इसके साथ ही अब इस पर सवार 53 सदस्यों की जान बचने की उम्मीद भी खत्म हो गई है। नौसेना अध्यक्ष ने कहा कि एक सर्च पार्टी को KRI Nanggala 402 के कुछ हिस्से मिले हैं जिनमें इसके अंदर मौजूद सामान भी शामिल है। अभी तक आशंका जताई जा रही थी कि पनडुब्बी में पर्याप्त ऑक्सिजन नहीं बची है और इसका बचना मुश्किल है।

सिर्फ तीन दिन की ऑक्सीजन थी

इस पनडुब्बी की खोज में जहाजों से लेकर विमान और सैकड़ों सैन्यकर्मी लगे थे। हालांकि, इसमें ऊर्जा जाने के बाद सिर्फ तीन दिन की ऑक्सीजन बची थी जिसका समय शनिवार को खत्म हो गया। नौसेना प्रमुख युदो मार्गोनो ने बताया कि अब इस पनडुब्बी को डूबा हुआ माना जा रहा है। उन्होंने साफ किया कि जो सामान मिला है, वह किसी और जहाज का नहीं है।

MP अनूठी पहल: 10 लोगों की मौजूदगी में विवाह करने वाले वर-वधु को देंगे डिनर, SDM करेंगे सम्मानित

नौसेना अधिकारियों ने टॉर्पीडो का टुकड़ा और सबमरीन के पेरिस्कोप को लूब्रिकेट करने के लिए इस्तेमाल होने वाली ग्रीज की बोतल दिखाई। इसके अलावा वह चटाई भी मिली है जिस पर बैठकर मुस्लिम नमाज करते हैं। इंडोनेशियाई पनडुब्बी को खोजने के लिए भारतीय नौसेना ने भेजी अपनी DSRV, जानें कैसे करती है काम

अधिक दबाव नहीं झेल सकी

यह पनडुब्बी बुधवार को एक अभ्यास के दौरान गायब हो गई थी। जिस जगह पर इसके डूबने की आशंका जताई गई थी, वहां तेल फैला हुआ था। इससे अंदाजा लगाया गया कि ईंधन के टैंक को नुकसान के कारण इसके साथ घातक हादसा हुआ है। यह 700 मीटर की गहराई तक का दबाव झेल सकती थी और उसके नीचे जाने पर इसके फटने का खतरा था। इसकी ओर से डाइव की इजाजत मांगी गई थी लेकिन उसके बाद इससे संपर्क टूट गया।