बिलासपुर संभागायुक्त ने किया कोरबा के कटघोरा एसडीएम और तहसील कार्यालय का निरीक्षण

0
29

रायपुर। छत्तीसगढ़ शासन के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा राजस्व प्रकरणों का शीघ्रता से निराकरण करने के निर्देश दिए है। इसी कड़ी में संभागायुक्त डॉ. संजय अलंग ने आज कोरबा जिले के कटघोरा पहुंचकर एसडीएम तथा तहसील कार्यालय का औचक निरीक्षण किया। कलेक्टर श्रीमती रानू साहू की मौजूदगी में डॉ. अलंग ने राजस्व संबंधी भू-प्रकरणों की जानकारी रीडर शाखा के लिपिक से ली। उन्होंने डायवर्सन अर्थदण्ड आदि प्रकरणों में बी 1, बी 2, बी 7 के साथ सी श्रेणी के रिकॉर्ड अगले तीन महीने में अद्यतन करने का निर्देश उपस्थित राजस्व अधिकारियों को दिया। डॉ. अलंग ने रिकॉर्ड अपडेशन के बाद वास्तविक राजस्व मांग और उपकर आदि का आकलन करने को कहा।

http://छत्तीसगढ़ राज्य ओपन स्कूल द्वारा आयोजित हाई स्कूल की मुख्य परीक्षा परिणाम घोषित

संभागायुक्त ने भूमि से संबंधित प्रकरणों में लैण्ड रिकॉर्ड भी नस्ती करने के निर्देश दिए। संभागायुक्त ने नकल शाखा, सांख्य लिपिक शाखा, शिकायत शाखा, भू-बंटन शाखा, राजस्व अधीक्षक शाखा, भू-अर्जन शाखा, नजूल शाखा, स्थापना शाखा का भी निरीक्षण किया। उन्होंने शाखाओं में मौजूद कर्मचारियों और प्रभारी अधिकारियों को अपनी-अपनी शाखा के सभी रिकॉर्ड अद्यतन और व्यवस्थित रखने के सख्त निर्देश दिए। डॉ. अलंग ने इन शाखाओं मे अपने काम से आने वाले लोगों से भी मित्रवत् अच्छा व्यवहार करने और उनकी हर संभव सहायता करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने सभी अधिकारी-कर्मचारियों को समय पर कार्यालय आने और अपना काम पूरी निष्ठा से समय पर करने को कहा।

संभागायुक्त ने इस दौरान राजस्व अधिकारियों को राजस्व प्रकरणों को तेज़ी से नियमानुसार निराकृत करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि नामांतरण, बंटबारा सहित फ़ौती जैसे छोटे कामों के लिए भी किसानों और आम ज़नों को सरल प्रक्रिया अपनाकर परेशानी से बचाया जाये। डॉ. अलंग ने पटवारी रिपोर्ट के कारण निराकृत होने से लम्बित प्रकरणों को 31 जुलाई तक निराकृत करने के निर्देश दिए। उन्होंने राजस्व प्रकरण के निराकरण पर जारी आदेश के बाद उसके रिक़ार्ड सुधार की करवाई करने को भी कहा, ताकि किसानो और आम ज़नो को अपने राजस्व रिक़ार्ड अपडेट होकर मिल सके। संभाग आयुक्त ने अर्थ दंड के प्रकरणों में मिली राशि को चालान द्वारा निर्धारित समय अवधि में शासकीय खाते में जमा कराने और इसका पूरा रिक़ार्ड पंजी में संधारित करने के भी निर्देश दिए।

डॉक्टर अलंग ने अधिकारियों को अपने अधीनस्थ कार्यालयों का नियमित निरीक्षण करने और एसडीएम को पटवारी बस्ता की जांच करने का भी निर्देश दिया। निरीक्षण के दौरान कमिश्नर डॉ. अलंग ने नाजिर शाखा और स्थापना शाखा,स्टेशनरी भण्डार रजिस्टर सहित अन्य रिकॉर्ड दुरुस्त रखने पर डॉ. अलंग ने लिपिकों की तारीफ़ की। इसी प्रकार नाजिर शाखा में कैशबुक संधारण और अन्य संबंधित दस्तावेजों को अद्यतन रखने पर संभागायुक्त से तारीफ मिली। इस दौरान सीईओ श्री कुंदन कुमार, उप आयुक्त श्रीमती अर्चना मिश्रा, एसडीएम श्रीमती सूर्यकिरण तिवारी, नगर निगम आयुक्त श्री कुलदीप शर्मा सहित राजस्व अमला उपस्थित रहा।

http://निवेशकों की समस्याओं को देखते हुए संसदीय सचिव ने की सीएम से चर्चा, समय बढ़ाने का दिया आश्वासन

डॉ अलंग ने तहसील कार्यालय निरीक्षण के दौरान राजस्व प्रकरणों में पैरवी करने वाले वकीलों से भी मुलाकात की तथा उनकी समस्याएं सुनीं। इस दौरान संभागायुक्त ने पेशी के लिए आए हुए किसानों और आमजनों से भी मुलाकात की और उनके प्रकरणों के बारे में जानकारी ली। वकीलों ने संभाग आयुक्त को कटघोरा में कोर्ट टिकट नहीं मिलने की जानकारी दी, जिस पर डॉ अलंग ने पर्याप्त मात्रा में कोर्ट टिकट उपलब्ध कराने का निर्देश सहायक कोषालय अधिकारी को दिया। डॉ. अलंग ने इस दौरान निर्धारित दिन व समय पर राजस्व कोर्ट में उपस्थित रहकर प्रकरणों की सुनवाई और निराकरण का निर्देश अधिकारियों को दिया। वकीलों ने कटघोरा में अपर कलेक्टर का लिंक कोर्ट भी शुरू करने की मांग संभाग आयुक्त से की।