छत्तीसगढ़: पत्रकार की कोरोना से मौत: विडबंना लाश के बीच ऑक्सीजन लेकर जान बचाने बैठा रहा पूरी रात, दूसरे दिन मौत हो गई….

भिलाई12 अप्रैल 2021/छत्तीसगढ़: पत्रकार की कोरोना से मौत: कोविड के बढ़ते संक्रमण के बीच छत्तीसगढ भिलाई से एक दुखद खबर सामने आई है। छत्तीसगढ़ में संक्रमण अब इतनी भयावह हो गई है कि अब रोज एक दर्दभरी कहानी सामने आ रही है। आलम ये है संख्या बढ़ने के कारण लोगों का सहीं समय पर उपचार न मिलने की स्थिति उत्पन्न हो गई है। जानकारी के अनुसार, मृतक वीडियों पत्रकार कुछ दिनों पहले ही अपना कोविड  टेस्ट कराया था, रिपोर्ट एक सप्ताह बाद आई थी। रिपोर्ट देर से आने के कारण उसकी तबीयत बहुत ज्यादा बिगड़ गई। इसके बाद उसे गंभीर अवस्था में जिला अस्पताल में एडमिट कराया गया था। रविवार की शाम उपचार के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया।

मृतक वीडियों जर्नलिस्ट का नाम जितेंद्र साहू (32) था, जो भिलाई के एक नीजि मीडिया संस्थान में कैमरामैन के पद पर पदस्थ था। जानकारी के अनुसार, जितेंद्र साहू की कुछ दिनों पूर्व तबीयत खराब हुई थी। नार्मल सर्दी, खांसी, बुखार था। उन्होंने खुद की समझ से दवाइयां खाईं। धीरे-धीरे और भी तकलीफ बढ़ती गई, जिसके बाद उन्होंने अपना कोविड टेस्ट कराया। टेस्ट कराने के बाद कोविड रिपोर्ट लेट से आने के कारण उनकी तबीयत अधिक ही खराब हो गई। गंभीर अवस्था में शनिवार को उन्हें लेकर परिजन जिला अस्पताल पहुंचे, जहां उनका उपचार शुरू हुआ और शाम में ही खबर मिली की मौत हो गई है।

महासमुंद: जीत से पहले हार लेकर पहुंचे समर्थक…निर्विरोध जनपद अध्यक्ष बने यतेन्द्र कुमार साहू

कोरोना अब दे रहा अधिक दर्द

परिजनों ने बताया कि, जितेंद्र साहू जब गंभीर थे तो वो खुद ही कोविड वार्ड में ऑक्सीजन लिए बेड पर संक्रमित लाश के बीच बैठे थे। इस दौरान उनके उपचार की एक फोटो भी मीडिया में काफी वायरल हो रही है, फ़ोटो को देखकर आपका भी दिल पसीज जाएगा। फ़ोटो में आप देख सकते हैं कि जितेंद्र साहू कोरोना वार्ड के बैड पर बैठे है और उनके ठीक पीछे एक पॉजिटिव शव पड़ा हुआ है। इस फोटों के सामने आने के बाद अब पूरे दुर्ग जिले के स्वास्थ्य व्यवस्था की पोल खुलती हुई साफ नजर आ रही है। आप खुद अंदाजा लगा सकते हैं कि कोरोना से क्या हालात है इस वक्त दुर्ग जैसे शहर की।

बहरहाल,  वीडियो जर्नलिस्ट जितेंद्र साहू अब इस दुनिया में नहीं है। जितेंद्र साहू के  निधन के बाद उनका पूरा परिवार टूट गया है। दोनों बच्चों के भरण-पोषण की जिम्मेदारी अब उनकी पत्नी के कंधों पर आ गई है। साथ ही उनके परिवार में रोजी रोटी का भी संकट मंडरा रहा है।

हमसे जुड़िए

https://twitter.com/home             

https://www.facebook.com/?ref=tn_tnmn

https://www.facebook.com/webmorcha/?ref=bookmarks

https://webmorcha.com/

https://webmorcha.com/category/my-village-my-city/

9617341438, 7879592500,  7804033123

Leave a Comment