प्रेस क्लब पिथौरा में हुआ कलमवीर और समाजसेवियों का सम्मान, मीडिया की भूमिका पर चिंतन

महासमुन्द। प्रेस क्लब पिथौरा द्वारा दीवाली मिलन और सम्मान समारोह का आयोजन वन काष्ठागर पिथौरा के सभागार में किया गया। समारोह में जिलेभर के चुनिंदा करीब दो दर्जन कलमकारों को ‘कलमवीर सम्मान’ प्रदान किया गया। साथ ही कोविड-19 कोरोना संक्रमण काल में समाज सेवा के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने वाले समाजसेवियों, अधिकारी-कर्मचारी, स्वयंसेवी संगठन, श्रृंखला साहित्य मंच , व्यापारी एकता मंच के पदाधिकारियों को सम्मानित किया गया |

दो सत्रों में सम्पन्न हुआ समारोह

समारोह दो सत्रों में सम्पन्न हुआ। प्रथम सत्र के बौद्धिक कार्यक्रम में वन विकास निगम के अध्यक्ष देवेंद्र बहादुर सिंह मुख्य अतिथि थे। संसदीय सचिव व खल्लारी विधायक द्वारिकाधीश यादव अति विशिष्ट अतिथि थे। विशिष्ट अतिथि नपं अध्यक्ष आत्माराम यादव, उपाध्यक्ष दिलप्रीत खनूजा, प्रेस क्लब महासमुन्द अध्यक्ष आनंदराम साहू, वरिष्ठ पत्रकार नीरज गजेंद्र, केपी साहू, डॉ निर्मल साहू, शीतला समाज अध्यक्ष प्रेमलाल सिन्हा मंचस्थ थे। अतिथियों ने विद्या की देवी माता सरस्वती और धन की देवी माता लक्ष्मी की पूजा अर्चना कर समारोह का शुभारंभ किया। दीपावली मिलन समारोह होने से खास तौर पर लक्ष्मी पूजन किया गया। राजगीत और स्वागत गान की स्कूली छात्राओं ने मनमोहक प्रस्तुति दी।

प्रेस क्लब भवन निर्माण का मार्ग प्रशस्त

स्वागत उदबोधन में प्रेस क्लब पिथौरा के अध्यक्ष रजिंदर खनूजा ने इस आयोजन की प्रासंगिकता  और पत्रकारों के संगठन की मजबूती के लिए प्रेस क्लब भवन निर्माण का प्रस्ताव रखा। उन्होंने जनप्रतिनिधियों से भूमि आरक्षित करने और भवन निर्माण के लिए धनराशि उपलब्ध कराने की मांग रखी। जिस पर विधायकद्वय देवेंद्र बहादुर सिंह और द्वारिकाधीश यादव दोनों ने हर सम्भव सहयोग करने आश्वस्त किया। साथ ही उपयुक्त स्थल चयन कर सूचित करने कहा।

अलगाववाद को समाप्त करने कलम चलावें- यादव

प्रथम सत्र में उपस्थितजनों को संबोधित करते हुए संसदीय सचिव द्वारिकाधीश यादव ने कहा कि संविधान में मीडिया को लोकतंत्र का चौथा स्तम्भ कहा गया है। प्रेस को स्वतंत्र रखा गया है और तीनों तंत्रों की निगरानी की महती जिम्मेदारी भी सौंपी गई है।  उन्होंने कहा कि पत्रकार ही एक ऐसा जिम्मेदार नागरिक होता है, जो सरकार और जन सामान्य की अच्छी-बुरी सभी बातें सरकार से लेकर आम जनता तक पहुचाता है। मीडिया अपनी भूमिका बखूबी निभा रही है। पत्रकारों का समाज मे सबसे ऊंचा स्थान है। इसकी गरिमा को बनाए रखने की चुनौती आज पत्रकार समाज पर है। श्री यादव ने पत्रकारों से आह्वान करते हुए कहा कि  पत्रकारों को देश मे बढ़ रहे जातिवाद और अलगाववाद को समाप्त करने कलम चलाना  चाहिए। अलगाववाद बहुत ही खतरनाक है। भाईचारा पुनर्स्थापित करने के लिए कलमकार महती भूमिका निभाएं।

शासन-प्रशासन को सतर्क करते हैं पत्रकार-सिंह

प्रथम सत्र के मुख्यातिथि की आसंदी से बसना विधायक देवेंद्र बहादुर सिंह ने कहा कि पत्रकारिता का कार्य बहुत जिम्मेदारीपूर्ण है। पत्रकार ही हैं जो शासन-प्रशासन को सतर्क करते हैं। पत्रकार जागरूक नहीं रहेंगे तो स्वच्छ समाज का निर्माण  नहीं हो सकता है। इस क्षेत्र से विद्वान जुड़े हैं। पत्रकारिता करने वाले कुछ लोग शौक से आते हैं तो कुछ हालात देखकर पत्रकार बन जाते हैं। आज विश्वसनीयता की कसौटी पर खरा उतरना बड़ी चुनौती है। हम जनप्रतिनिधियों को क्षेत्र की अच्छे-बुरे कार्यो की जानकारी पत्रकारों के माध्यम से ही मिलती है। श्री सिंह ने कहा कि किसी भी अख़बार के माध्यम से पत्रकारों द्वारा दी गयी जानकारी पर वे तत्काल संज्ञान लेकर कार्यवाही करते हैं।

 पत्रकारों की विश्वसनीयता कायम रखें-आनन्द

विशिष्ट अतिथि की आसंदी से संबोधित करते हुए महासमुंद प्रेस क्लब के अध्यक्ष आनंदराम साहू ने कहा कि वर्तमान समय में पत्रकारिता विश्वसनीयता की चुनौतियों से जूझ रहा है। पत्रकारों की विश्वसनीयता कायम रखना हर कलमकार की जिम्मेदारी है। उन्होंने 1780 में प्रारंभ हुए प्रिंट मीडिया से वर्तमान में इंटरनेट मीडिया की भीड़ का इतिहास बताते हुए कहा कि 341 वर्षों में भारतीय मीडिया ने बहुत तरक्की की है। सूचना क्रांति के युग में इक्कीसवीं सदी में सूचना के अनेक माध्यम उपलब्ध हैं। लेकिन, विश्वसनीयता का संकट गहरा गया है।

हम पत्रकारों की महती जिम्मेदारी है कि पत्रकारिता की विश्वसनीयता कायम रखें। समाज और सरकारों की भी जिम्मेदारी है कि प्रेस की स्वतंत्रता के साथ-साथ आर्थिक और कानूनी सुरक्षा मीडिया कर्मियों को प्रदान करें। पत्रकारों की कार्यप्रणाली और आचरण पर प्रकाश डालते हुए कहा कि पत्रकार आईना दिखाने का कार्य करेंगे, तो आंच नहीं आएगी। व्यवसायिक प्रतिस्पर्धा के चलते भ्रमित होने की वजह से मीडिया पर प्रहार बढ़ा है।

सच के सिवाय कुछ न लिखें: नीरज

वरिष्ठ पत्रकार नीरज गजेंद्र ने कहा कि हमें वही लिखना चाहिए जो हमने देखा है। यही पत्रकारिता का मूलमंत्र है। उन्होंने वर्तमान दौर की पत्रकारिता की दिशा और दशा पर चिंतन करते हुए कहा कि पत्रकार, कलम को हथियार न बनाएं। मार्गदर्शक की भूमिका निभाएं। कलमकार, राजनीति को दिशा देते आए हैं। यह महती जिम्मेदारी निष्पक्षता के साथ निभाया जाना चाहिए। कुलवंत खनूजा, आत्माराम यादव ने भी प्रथम सत्र को संबोधित किया।

द्वितीय सत्र में सम्मान समारोह

द्वितीय सत्र के मुख्य अतिथि महासमुन्द संसदीय क्षेत्र से लोकसभा सदस्य (सांसद) चुन्नीलाल साहू थे। अध्यक्षता नीलांचल सेवा समिति के संस्थापक संपत अग्रवाल ने की। विशिष्ट अतिथि प्रेमशंकर पटेल, प्रेस क्लब महासमुन्द अध्यक्ष आनंदराम साहू, वरिष्ठ पत्रकार संजय डफले, कृष्णानंद दुबे, केपी साहू, नीरज गजेंद्र मंचस्थ थे। द्वितीय सत्र का शुभारंभ अतिथियों के सम्मान में स्वागतगान से हुआ। छात्राओं ने सुमधुर स्वागत गीत प्रस्तुत किया। स्वागत उदबोधन स्वप्निल तिवारी ने देते हुए हर साल पिथौरा में इस तरह के आयोजन की प्रांसगिकता  प्रतिपादित की।

मीडिया के पास दिव्य दृष्टि : चुन्नीलाल

समापन सत्र के मुख्यातिथि क्षेत्रीय सांसद चुन्नीलाल साहू ने कहा कि मीडिया के पास दिव्य दृष्टि है। कहा जाता है कि जहां न पहुंचे सरकार, वहां तक पहुंच जाते हैं पत्रकार। वर्तमान समय में मीडिया सर्वव्यापी है। पत्रकार ही हैं जो लोकतांत्रिक व्यवस्था में संतुलन बनाने का काम करते हैं। उन्होंने सम्मान समारोह को प्रेरणादायक बताते हुए कहा कि ऐसे आयोजन से सेवा करने की सीख मिलती है। मीडिया सूचना का माध्यम मात्र नहीं, शासन-प्रशासन तंत्र पर लगाम कसने में भी अहम भूमिका निभा रही है।उन्होंने नीलांचल सेवा समिति द्वारा कोरोना आपदा के समय में हजारों लोगों का उच्च स्तर पर उपचार करवा कर उनकी जान बचाने के लिए सराहना की।

नीलांचल सेवा समिति का ध्येय ‘नेकी कर दरिया में डाल’ : संपत

बसना क्षेत्र में अपनी विशिष्ट सेवा भावना के लिए चर्चित नीलांचल सेवा समिति के संस्थापक व  कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे संपत अग्रवाल ने कहा कि  कोरोना आपदा से प्रभावित हजारों पीड़ितों की जान उनकी समिति ने बचाई है। इस कार्य मे भविष्य में भी लगे रहेंगे। सम्पत ने प्रेस क्लब के सदस्यों की सराहना करते हुए कहा कि इनकी खबरों का ही असर है कि वे दुखी परेशान पीड़ितों की पहचान कर उनकी सहायता कर पाते हैं।जिससे समिति का उद्देश्य पूरा होता है। उन्होंने कोरोना से निपटने 50-60 लाख रुपये का रेमडेसीवीर इंजेक्शन और 15-16 ऑक्सीजन सिलेंडर दान में देने की बात कही। वर्तमान में 65 हजार से अधिक नीलांचल सेवा समिति के सदस्य हैं।

पत्रकारिता में निरंतरता आवश्यक है- उत्तरा

वरिष्ठ महिला पत्रकार उत्तरा विदानी ने द्वितीय सत्र में उपस्थितजनों को संबोधित करते हुए कहा कि पत्रकारिता में निरंतरता आवश्यक है। सतत प्रयास करते रहें। परेशानियों से घबराएं नहीं। नकारात्मकता से ऊपर उठकर विकासपरक और सकारात्मक पत्रकारिता करें। जनता और सरकार के बीच मीडिया सेतु का काम करती है। इसे विश्वास का पुल बनाने की जरूरत है।

पत्रकारों को आर्थिक सुरक्षा दें- संजय

वरिष्ठ पत्रकार संजय डफले ने  कहा कि अब छोटे शहरों में भी प्रेस क्लब बन रहे हैं। लिहाजा इनके लिए भवन और भवन में ईलाइब्रेरी, अच्छे साहित्य और अन्य मूलभूत सुविधाएं दी जानी चाहिए। इसके साथ ही पत्रकारों को आर्थिक सुरक्षा की दरकार है। जिससे पत्रकार को आजीविका के लिए भटकना न पड़े और वे निर्भिक होकर समाचार संकलन कर सके। उन्होंने कहा कि सूचना क्रांति के साथ ही पत्रकारिता में मारक क्षमता बढ़ गई है। कलमकारों को संयमित होकर लिखने की जरूरत है। प्रेस क्लब के गरिमामय कार्यक्रम को भाजपा नेता प्रेमशंकर पटेल, साहित्यकार शिवशंकर पटनायक सहित अनेक लोगों ने सम्बोधित किया। संचालन उमेश दीक्षित और आभार ज्ञापन महासचिव मनोहर साहू ने किया।

 इन्हें मिला कलमवीर सम्मान

सम्मान समारोह में केपी साहू, संजय डफले, कृष्णानंद दुबे, धनंजय त्रिपाठी, आनंदराम साहू, आशुतोष तिवारी, उत्तरा विदानी, आशुतोष शर्मा, हकीमुददीन नासिर, विपिन दुबे, मनोहर ठाकुर, अरविंद यादव, डॉ निर्मल साहू, नीरज गजेंद्र, रेखराज साहू, अमिताभ पाल, भास्कर राव पांढरे, ताराचंद पटेल, मनोज मिश्रा, राजेन्द्र सिन्हा, भगत राम वाधवा आदि को कलमवीर सम्मान से विभूषित किया गया। शॉल श्रीफल और सम्मान पत्र भेंट किया गया। इनके अलावा श्रृंखला साहित्य मंच, व्यापारी एकता मंच, शहीद स्मारक समिति, नर-नारायण सेवा समिति, पेंशनर्स एसोसिएशन, तत्कालीन एसडीएम राकेश गोलछा, थाना प्रभारी कोसले सहित अनेक सेवाभावी लोगों को सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम को सफल बनाने में प्रेस क्लब के नवनिर्वाचित अध्यक्ष रजिंदर खनूजा, महासचिव मनोहर साहू, वरिष्ठ संरक्षक कुलवंत खनूजा,स्वप्निल तिवारी, संरक्षक पवन गुप्ता , ऋषिकेश शुक्ला, राजेन्द्र सिन्हा, मनराखन ठाकुर,नन्दकिशोर अग्रवाल,सुरेंद्र पांडे,राजेश मिश्रा, प्रमोद सिन्हा , महेंद्र सोनी, राजेश बंसल,दिनेश गोयल,सौरभ अग्रवाल ,विजय गुप्ता,आशीष शर्मा कनक तिवारी सहित सभी सदस्यों का सराहनीय योगदान रहा।

Back to top button