छत्तीसगढ़ में ग्रामीण अर्थव्यवस्था को सशक्त बनाने के कार्याें को खादी और ग्रामोद्योग आयोग ने सराहा

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को छत्तीसगढ़ में ग्रामोद्योग को बढ़ावा देने की अभिनव पहल के लिए खादी और ग्रामोद्योग आयोग, सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय भारत सरकार के राज्य निदेशक बद्रीलाल मीना एवं पदाधिकारियों ने शॉल और सूत माला पहनाकर सम्मानित किया। इस अवसर पर कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे, छत्तीसगढ़ राज्य गौ सेवा आयोग के अध्यक्ष डॉ. महंत रामसुंदर दास को भी सम्मानित किया गया। खादी और ग्रामोद्योग आयोग के पदाधिकारियों ने छत्तीसगढ़ में गौठानों और गोधन न्याय योजना के माध्यम से ग्रामीण अर्थव्यवस्था को सशक्त बनाने, गांवों में उद्यम एवं रोजगार का अवसर सुलभ कराने के लिए छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा किए जा रहे प्रयासों को सराहा। उन्होंने इस मौके पर मुख्यमंत्री एवं कृषि मंत्री को कुमारप्पा नेशनल पेपर इंस्टिट्यूट द्वारा गोबर से निर्मित प्राकृतिक पेंट का पैक भी भेंट किया।

http://किसानों को सहुलियत देने के साथ ही बिचौलियों पर रखें कड़ी नजर : अमरजीत भगत

यहां यह उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ राज्य के गौठानों में गोबर से प्राकृतिक रंग के निर्माण की तकनीक के हस्तांतरण के लिए आज मुख्यमंत्री निवास कार्यालय में आयोजित एमओयू के लिए कुमारप्पा नेशनल पेपर इंस्टिट्यूट जयपुर, खादी और ग्रामोद्योग आयोग, सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय भारत सरकार के राज्य निदेशक बद्रीलाल मीना, उप मुख्य कार्यकारी अधिकारी ओम प्रकाश, संचालक डॉ. अजय कुमार सिंह पहुंचे थे। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की उपस्थिति में प्राकृतिक पेंट तकनीक हस्तांतरण के लिए छत्तीसगढ़ राज्य गौ सेवा आयोग के पंजीयक डॉ. राजीव देवरस एवं कुमारप्पा नेशनल पेपर इंस्टिट्यूट जयपुर, खादी और ग्रामोद्योग आयोग, सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय भारत सरकार की ओर से बद्रीलाल मीना ने एमओयू पर हस्ताक्षर किए।

Back to top button