कोमाखानमहासमुन्द

खसरे को खत्म करने और रूबैला को नियंत्रित करने इस माह से चलाया जा रहा अभियान

संबंधित विभागों को सहयोग देने के निर्देश : मजीलस – रूबेला अभियान हेतु जिला टास्क फोर्स की गठन
महासमुंद
विश्व स्वास्थ्य संगठन दक्षिण पूर्व एशिया क्षेत्र के दस अन्य देशों के साथ भारत 2020 तक खसरे को खत्म करने और रूबैला, जन्मजात रूबेला सिंड्रोम (सी.आर.एस.) को नियंत्रित करने को संकल्पबद्ध है। इस दिशा में स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय भारत सरकार ने पूरे देश में चरणबद्ध तरीके से खसरा -रूबेला (एम.आर.) टीकाकरण अभियान चलाकर 9 माह से 15 वर्ष (कक्षा 10वीं) तक के समस्त बच्चों को टीकाकृत करने का निर्णय लिया है। इस संबंध में अपर कलेक्टर शरीफ मोहम्मद की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में जिला टास्क फोर्स की बैठक संपन्न की गई।

http://पत्रकारों के भवन में पहुंचकर नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव ने क्या दिया यह जानिए…

अभियान चलाया जाएगा

बैठक में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एस.बी. मंगरूलकर ने बताया कि खसरे को खत्म करने और रूबैला, जन्मजात रूबेला सिंड्रोम (सी.आर.एस.) को नियंत्रित करने अगस्त माह में अभियान चलाया जाएगा।

http://मिथुन राशि के जातक जमानत से बचे, मकर राशि के जातक को धन प्राप्ति के योग

उन्होंने बताया कि खसरा एक ऐसा संक्रामक रोग है जो कि पांच वर्ष के बच्चों की मृत्यु का प्रमुख कारण है। उन्होंने बताया कि अटीकाकृत गर्भवती महिला अगर गर्भावस्था के दौरान रूबेला वायरस से संक्रमित हो जाती है तो यह भ्रूण मृत्यु का कारण हो सकता है तथा स्वतः गर्भपात और गर्भ दोष जैसे कि सी.आर.एस.का कारण बन सकता है।

यहां पढ़ें: http://चाकू की नोक पर सूमो सहित महिला को ले उड़े, तीन दिन बाद आरोपी पुलिस पकड़ से बाहर

उन्होंने बताया कि आंकड़ों से यह पाया गया है कि मीजल्स-रूबैला की घटना 15 वर्ष तक के बच्चों में ज्यादा पाई जाती है। साथ ही विश्व में खसरे से होने वाली समस्त मौतों की 36 फीसदी  मौतें भारत में घटित होती है तथा रूबैला की घटनाओं के बोझ के कारण हमारे देश में मीजल्स- रूबेला एक गंभीर समस्या बनती जा रही है।

http://सांसद विधायक की सार्थक पहल बागबाहरा को मिलेगा दो एक्सप्रेस ट्रेन का स्टापेज

विश्व स्वास्थ्य संगठन से आए डॉ. प्रशांत ने बताया कि भारत सन 2020 तक खसरा उन्मूलन तथा सी.आर.एस. के नियंत्रण के लिये प्रतिबद्ध है। इस अभियान में 9 माह से 15 वर्ष (कक्षा 10वी) तक के समस्त बच्चों को लक्षित करते हुए राज्य व्यापी वृहद् टीकाकरण अभियान चलाया जाएगा।

अभिभावकों से अपील

जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. अरविन्द गुप्ता ने बताया कि इस अभियान में जिले का लक्ष्य लगभग 370000 बच्चों को शामिल करना है। कुल लक्षित बच्चों का लगभग 75 प्रतिशत टारगेट स्कूल जाने वाले बच्चों के आयु वर्ग का है। शिक्षा विभाग के क्षेत्रीय कार्यकर्तां, स्कूल शिक्षक तथा अभिभावकों का सहयोग अभियान के सफलता के लिए अति महत्वपूर्ण है।

http://ग्रामीणों की सूचना पर भारी मात्रा में बागबाहरा पुलिस ने पकड़ी कच्ची शराब

इस अभियान के दौरान 9 माह से 15 वर्ष (कक्षा 10वी) तक के समस्त बच्चों को आंगनबाड़ी केन्द्र, शिक्षा संस्थान जैसे सरकारी, गैर सरकारी विद्यालय, मदरसा आदि में पहुंच कर ख़सरा- रूबेला (एम.आर.) का एक टीका दिया जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button