होम

एक माह के भीतर औसत 15 प्रतिशत बढ़े आवश्यक वस्तुओं के दाम: विनोद

विनोद

महासमुंद। पूर्व संसदीय सचिव व महासमुंद के पूर्व विधायक विनोद सेवन लाल चंद्राकर ने आवश्यक वस्तुओं के आसमान छूती कीमतों के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जिम्मेदार ठहराते हुए उन्हें महंगाई मैन की संज्ञा देते हुए कहा कि लोग कमरतोड़ महंगाई से त्रस्त हैं और सरकार लोगों को राहत देने के लिए कोई कदम नहीं उठा रही है। पिछले 10 साल के मोदी कार्यकाल में दाल, चावल, हरी सब्जियों, पेट्रोल-डीजल, गृह निर्माण साग्रियों के दामों में बेतहाशाा वृद्धि से आम आदमी का बजट बिगड़ गया है। उन्होंने कहा कि महंगाई मैन मोदी के तीसरे कार्यकाल में महंगाई और बढ़ने का प्रबल संभावना है।

श्री चंद्राकर ने कहा कि जनता महंगाई से त्रस्त हो चुकी है, लेकिन सरकार महंगाई से लोगों को राहत देने के लिए कुछ नहीं कर रही है। प्रधानमंत्री मोदी ने चुनाव के दाैरान अपनी एक भी सभा में महंगाई का जिक्र नहीं किया। जनता का ध्यान भटकाने के लिए केवल हिंदू-मुस्लिम खेलते रहे। आज परिणाम ये है कि मोदी के तीसरे कार्यकाल की शपथ ग्रहण करते ही आवश्यक वस्तुओं की कीमतें बढ़ रही है।

महासमुंद बागबाहरा के किसान ने सूधखोर से परेशान की आत्महत्या

श्री चंद्राकर ने कहा कि खाने पीने के सामान का वजन घटाकर उनकी कीमत बढ़ा दी गई है। उन्होंने कहा, सरकार चाहे तो उत्पाद शुल्क कम कर जनता को बड़ी राहत दे सकती है। डीजल का दाम घटेगा तो यातायात की लागत घटेगी और सब्जियां तथा जरूरी चीजें सस्ती होंगी। खाने- पीने के सामानों की कीमत ज्यादा और वजन कम करके देश की जनता की जेब पर डाका डाला जा रहा है। आज अति आवश्यक वस्तु दूध में प्रति लीटर 3 रूपए वृद्धि के 70 रु, आलू में 43% वृद्धि के साथ 35 रू. किलो, प्याज में 46% वृद्धि के साथ 40 रू. किलो, टमाटर 36% वृद्धि के साथ 40 रु. किलो, दाल 28% वृद्धि के साथ 180 रू. किलो बिक रहा है।

गरीब व मध्यम वर्ग परिवार सीमित आय के साथ परिवार चलाते हैं। जिस तरह से महंगाई दर में वृद्धि हो रही है, उस हिसाब से मजदूरों की मजदूरी व मध्यम वर्ग के इनकम में बढ़ोत्तरी नहीं होती। जिससे घर का पूरा बजट बिगड़ रहा है। पहले पांच रुपये में 80 ग्राम बिस्कुट मिलता था जो अब 50 ग्राम कर दिया गया है। इसी तरह से पहले चायपत्ती 50 रुपये में 200 ग्राम मिलती थी, जो अब 57 रुपये हो  गई है। नमकीन अब 10 रुपये में 32 ग्राम मिल रहा, जो पहले 65 ग्राम मिलता था।

https://www.facebook.com/webmorcha

ये भी पढ़ें...