छत्तीसगढ़देश/विदेशमेरा गांव मेरा शहररायपुर

घर से निकलने से पहले जान लें, CG में आज-कल भारी बारिश का अलर्ट

धमतरी और गरियाबंद जिलों में एक-दो स्थानों पर भारी वर्षा और वज्रपात का येलो अलर्ट भी जारी हुआ है।

रायपुर। प्रदेश में शनिवार शाम से हो रही बारिश अब आफत का बारिश साबित हो सकता है। बतादें, शनिवार को प्रदेश के कई जगहों पर वज्रपात भी हुई है। जांजगीर-चांपा में अलग-अलग स्थानों पर आकाशीय बिजली गिरने से 5 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई। मौसम विभाग के अनुसार आज-कल यानी 7-8 अगस्त को को भारी बारिश होगी। इसमें बीजापुर जिले में एक-दो स्थानों पर भारी से अति भारी बरसात के साथ आकाशीय बिजली गिरने की भी संभावना जताई जा रही है।

मौसम विभाग ने अगले 24 घंटों में बीजापुर जिले के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। इसमें कहा गया है कि बीजापुर जिले में एक-दो स्थानों पर गरज-चमक के साथ भारी से अति भारी वर्षा और वज्रपात की संभावना है। प्रदेश के 7 अन्य जिलों बस्तर, दंतेवाड़ा, सुकमा, कोण्डागांव, नारायणपुर, धमतरी और गरियाबंद जिलों में एक-दो स्थानों पर भारी वर्षा और वज्रपात का येलो अलर्ट भी जारी हुआ है।

देश के मौसम का मिजाज

मौसम विभाग के मुताबिक छत्तीसगढ़ (Chattisgarh), गुजरात (Gujarat), महाराष्ट्र (Maharashtra) के कुछ हिस्सों और गोवा (Goa) में 7 अगस्त को भारी बारिश का रेड अलर्ट जारी किया है. वहीं मध्य प्रदेश (MP) और सौराष्ट्र में सोमवार 8 अगस्त से लेकर मंगलवार 9 अगस्त तक बारिश होने का अनुमान लगाया है. वहीं तेलंगाना, तटीय और उत्तरी कर्नाटक, तटीय आंध्र प्रदेश और केरल में भी अगले कुछ दिन भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है. IMD के मुताबिक 7 अगस्त को पश्चिम और मध्य भारत में अत्यधिक भारी बारिश की संभावना है. इस दौरान मध्य और पश्चिम भारत में बारिश (Rain) से जुड़ा ऑरेंज अलर्ट (Orange Alert) जारी किया गया है.

रविवार को सूर्य की तरह चमकेगा इन जातकों का किस्मत, जानें मेष से मीन राशि

मौसम विभाग ने अगले 48 घंटे में बीजापुर जिले में एक-दो स्थानों पर अति भारी बरसात का रेड अलर्ट जारी किया है। वहीं बस्तर, दंतेवाड़ा, सुकमा, कोण्डागांव, कांकेर और नारायणपुर जिलों में एक-दो स्थानों पर अतिभारी वर्षा और वज्रपात का ऑरेंज अलर्ट जारी हुआ है। अगले 72 घंटों में बस्तर, दंतेवाड़ा, बीजापुर, सुकमा, कोण्डागांव, कांकेर और नारायणपुर जिलों के लिए अति भारी से सीमांत भारी बरसात का रेड अलर्ट जारी हुआ है। मौसम विभाग ने राहत आयुक्त से अति भारी बरसात के प्रभाव से राहत के लिए सतर्क रहने और जरूरी उपाय करने की अपील की है।

मौसम वैज्ञानिक एचपी चंद्रा ने बताया, मानसून द्रोणिका कोटा, रायसेन, रायपुर, दीघा और उसके बाद दक्षिण-पूर्व की ओर पूर्व-मध्य बंगाल की खाड़ी तक 0.9 किलोमीटर ऊंचाई तक विस्तारित है। एक ऊपरी हवा का चक्रीय चक्रवाती घेरा झारखंड और उससे लगे गंगेटिक पश्चिम बंगाल के ऊपर 3.1 किलोमीटर ऊंचाई तक विस्तारित है। ऊपरी हवा का एक दूसरा चक्रवाती घेरा उत्तर तटीय आंध्र प्रदेश और उससे लगे पश्चिम-मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर 4.5 किलोमीटर ऊंचाई तक विस्तारित है। इसके प्रभाव से छत्तीसगढ़ के दक्षिणी हिस्से में भारी वर्षा का संयोग बन रहा है।

Related Articles

Back to top button