कोविड: देश में Omicron का खतरा हुए 32, सरकार की चेतावनी पर ध्यान दें

सरकार ने कोविड वायरस (covid virus) के ओमिक्रॉन वेरिएंट (Omicron Variant) के संक्रमित मामलों को लेकर सरकार ने एक बार फिर नागरिकों चेतावनी दिया है। सरकार ने कहा कि मास्क के उपयोग में लापरवाही जोखिम भरा है।

नई दिल्ली/मुंबई। सरकार ने कोविड वायरस (covid virus) के ओमिक्रॉन वेरिएंट (Omicron Variant) के संक्रिमत मामले को लेकर सरकार ने नागरिकों का एक बार फिर आगाह किया है. सरकार ने कहा कि मास्क के उपयोग में लापरवाही बरतना जोखिम भरा और अस्वीकार्य बताया है. ऐसा करके व्यक्ति अपने साथ ही दूसरों की जान से भी खिलवाड़ कर सकते हैं।

ओमिक्रॉन के संक्रिमत बढ़कर हुए 32

भारत में अब ओमिक्रॉन वेरिएंट (Omicron Variant) के संक्रमित मामले बढ़कर 32 हो गए हैं. पुणे जिले में साढ़े 3 साल बच्ची सहित महाराष्ट्र में ओमिक्रॉन के 7 नए संक्रिमत मामले सामने सामने आए हैं. इस बच्ची को ओमिक्रॉन की सबसे कम उम्र की मरीज बताया जा रहा है.

महाराष्ट्र में 7 नए मामलों में से 4 पुणे जिले से हैं. सभी पीड़ित नाइजीरिया से आई भारतीय मूल की 3 महिलाओं के संपर्क में आए थे, जिनमें पहले इस संक्रमण की पुष्टि हुई थी. गुजरात में भी ओमिक्रॉन (Omicron Variant)  के दो नए मामले सामने आए हैं.

‘मास्क में ढिलाई करना खतरनाक’

नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) डॉ. VK के पॉल ने शुक्रवार को मीडिया से बात करते हुए वाशिंगटन यूनिवर्सिटी में ‘इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ मीट्रिक्स एंड इवैल्यूएशन’ के आकलन का हवाला दिया. उन्होंने कहा कि देश में मास्क का इस्तेमाल कोरोना वायरस की दूसरी लहर आने के पहले की अवधि की तुलना में कम हो गया है. यह अपने आप में बहुत खतरनाक है.

‘दोनों डोज जरूर लगाएं

उन्होंने कहा, ‘हम आपको आगाह करते हैं कि अभी mask हटाने का समय  नहीं आया है. इस तरीके से हम फिर से खतरे की स्थिति में आ गए हैं. सुरक्षा क्षमता के नजरिए से हम निचले, जोखिम भरे और अस्वीकार्य स्तर पर हैं. हमें यह याद रखना होगा कि टीके की दोनों खुराक और मास्क अहम हैं.’ डॉक्टर VK पॉल ने कहा कि देश के जिन इलाकों में कोरोना (Coronavirus) के ज्यादा मामले आ रहे हैं. वहां के लोगों को घबराने की जरूरत नहीं है.

कोविड प्रोटोकॉल का करें पालन’

वहीं केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय में संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि हमें अपनी और आसपास के लोगों की कोविड-19 से रक्षा करने के लिए कोविड प्रोटोकॉल (covid protocol) का पालन करने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि ओमिक्रॉन (Omicron Variant) के मामले सभी वेरिएंट के मामलों के 0.04 प्रतिशत से भी कम हैं. सभी मामले में हल्के लक्षण देखे गए हैं. उन्होंने कहा कि चिकित्सीय रूप से ओमीक्रोन (Omicron Variant) से स्वास्थ्य देखभाल व्यवस्था पर अभी तक बोझ नहीं पड़ रहा है लेकिन सावधानी बरतनी होगी

Back to top button