मेरा गांव मेरा शहर

लेबर और मुंशी के भरोसे बन रही ढाई करोड़ की सड़क, रोड बनाने की अवधि भी समाप्त, 10 फीसदी नहीं हो पाया काम

ठेकेदार की लापरवाही के कारण आम लोगों को हो रही परेशानी

महासमुंद। बिरकोनी से बड़गांव मार्ग का मजबूतीकरण किया जा रहा है। इसके लिए शासन से 239.96 लाख रुपए की निविदा राशि जारी हुई है। लेकिन, पीडब्ल्यूडी के अफसरों और ठेकेदार की लापरवाही से गुणवत्ताहीन सड़क का निर्माण किया जा रहा है। यहां अफसर नहीं, बल्कि मुंशी और पीडब्ल्यूडी के लेबर कर्मचारी ही देखरेख कर रहे हैं।

  • बता दें कि करीब 5 किमी के सड़क निर्माण में कई जगहों को अधूरा छोड़ दिया गया है। स्थिति यह है कि इस सड़क पर चलना मुश्किल हो गया है।
  • सूचना फलक में वर्षा ऋतु छोड़कर सड़क बनाने का समय चार माह उल्लेखित है।
  • 23 जनवरी 2018 को कार्य शुरू किया गया।

यहां पढ़िए…तीन दंतैल हाथी जब रामायण सुनने पहुंचे…

10 फीसदी काम पूरा नहीं

  • इस तरह अब तक सड़क का निर्माण पूरा हो जाना चाहिए था। लेकिन, अभी की स्थिति में 10 फीसदी काम पूरा नहीं हुआ है।
  • सड़क में जिस तरह गिट्‌टी डाली जा रही है, उसमें कही अधिक मोटाई तो कही कम कर दिया गया है।
  • ग्रामीण दिलीप निषाद ने बताया कि सड़क में जो गिट्‌टी का उपयोग किया जा रहा है, उससे सड़क ज्यादा दिन तक टिक नहीं पाएगी।
  • ग्रामीणों ने बताया कि जो गिट्‌टी के चूरा को फैक्ट्री वाले फेंकते हैं, ऐसे गिट्‌टी का यहां उपयोग किया जा रहा है।
  • यहां अफसर कब देखने आते हैं, इसका किसी को पता नहीं है।

पढ़िए क्या कहते हैं अफसर

  • पीडब्ल्यूडी के एसडीओ एसआर चंद्राकर का कहना है कि सड़क निर्माण में गुणवत्ता का ख्याल रखा जा रहा है, हां यह जरूर है कि ठेकेदार धीमी गति से काम कर रहा है, ठेकेदार को जल्द निर्माण करने के लिए चेतावनी दी गई है, अगर समय पर निर्माण पूरा नहीं होगा तो कारवाई की जाएगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button