कोमाखान

जानिए: आकाशीय बिजली से कैसे करें बचाव जागरूकता लाने पोस्टर का किया विमोचन

रायपुर. राजस्व मंत्री और राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के उपाध्यक्ष प्रेमप्रकाश पाण्डेय ने वज्रपात-आकाशीय बिजली से बचाव के लिए आसान उपायों को बताने वाली पोस्टर का विमोचन किया है। जिसमें बताया गया है कि आकाशीय बिजली से स्वयं की और अपने सम्पति की सुरक्षा कैसे की जा सकती है।

अकाशीय बिजली चमके तो इन बातों का रखें ध्यान

  • आकाशीय बिजली से बचने के लिए आसान सावधानियां बरतने की सलाह पोस्टर के माध्यम से आम लोगों को दी गई है।
  • पोस्टर में बताया गया है कि बरसात अथवा आकाशीय गर्जना के दौरान घर में है तो पानी का नल, फ्रिज, टेलीफोन आदि को न छुएं
  • बिजली से चलने वाले सभी उपकरणों को बंद कर दे।
  • यदि दो पहिया वाहन, साइकिल, ट्रक, खुले वाहन, नौका आदि पर सवार हो तो तुरंत उतरकर सुरक्षित स्थानों पर चले जाएं

यहां पर पढ़िए: /http://प्रसुता तड़फती लेकिन डाक्टरों को इसकी परवाह नहीं

  • धातु की डंडी वाले छाते का उपयोग न करें।
  • टेलीफोन व बिजली के खम्भे, टेलीफोन व टेलीफोन टावर से दूर रहें।
  • कपड़े सूखाने के लिए जूट या सूत की रस्सी का उपयोग करें तार का नहीं।
  • बिजली की चमक देख तथा गर्जन की आवाज सुनकर ऊंचे एवं एकल पेड़ो के नीचे न जाएं।
  • यदि आप जंगल में हो तो छोटे एवं घने पेड़ों के नीचे चल दे। वृ़क्षों, दलदल वाले स्थलों तथा जल स्त्रोंतो से यथा सम्भव दूर रहें।
  • खुले आकाश में रहने को बाध्य हो तो नीचे के स्थलों को चुने। एक साथ कई आदमी इक्टठे न हो।
  • दो आदमी की बीच की दूरी कम से कम 15 फीट हो। तैराकी कर रहे लोग, मछुवारे आदि अविलम्ब पानी से बाहर निकल जाएं।
  • गीले खेतों में हल चलाते रोपणी या अन्य कार्य कर रहे किसान, तालाब में कार्य कर रहे व्यक्ति तुरंत सूखे एवं सुरक्षित स्थान पर चले जाएं।
  • धातु से बनी कृषि यंत्र, डंडा आदि से दूर रहें।

विज्ञापन

बधाई

यदि संभव हो घर में तडित चालक लगवाएं

  • यदि खेत खलिहान में काम कर रहे हो और किसी सुरक्षित स्थान की शरण में जाना सम्भव न हो तो जहां है वहीं रहें
  • और पैरों के नीचे सूखी चीजें जैसे- लकड़ी, प्लास्टिक, बोरा या सूखे पत्ते रख लें।
  • दोनो पैरों को आपस में सटा लें और दोनो हाथों को घुटनों पर रख कर अपने सिर को जमीन की तरफ झुका लें,
  • लेकिन सिर को जमीन से न छुएं। गर्जन की स्थिति में जमीन पर कभी भी न लेटें।
  • अपने घरों तथा खेत-खलिहानों के आस-पास कम ऊंचाई वाले उन्नत किस्म के फलदार वृक्ष समूह लगाएं।
  • ऊंचे पेड़ के तनों या टहनियों में तांबे का एक तार स्थापित कर जमीन में काफी गहराई तक दबा लें ताकि पेड़ सुरक्षित हो जाएं।
  • यदि सम्भव हो तो अपने घरों में तडित चालक लगवा लें और खुले क्षेत्र में धातु के सम्पर्क में आने से बचें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
IND vs BAN: रोहित शर्मा ने पहला वनडे हारने के बाद सुधारी गलती आईपीएल के अगले सीजन में लागू होगा ये अनोखा नियम, अब 11 नहीं इतने खिलाड़ी एक ही मैच में लेंगे हिस्सा ढाका में भारत और बांग्लादेश की टक्कर, ‘करो या मरो’ मैच में उतरेगी टीम इंडिया IND vs BAN: रद्द होगा भारत-बांग्लादेश के बीच दूसरा वनडे Anupamaa Spoiler: कहानी ने मारी पलटी! अनुपमा का होगा किडनैप, डिंपल का ये एक्शन बजाएगा विलेन की बैंड