महासमुंद बड़ी खबर… हाथी ने 2 ग्रामीणों को कुचला, मौके पर बुजुर्ग और युवक की मौत

0
1887
webmorcha.com
छत्तीसगढ़ महासमुंद के गांव कोसरंगी में घुसा हाथी

महासमुंद। रविवार रात दंतैल हाथी के कुचलने महासमुंद के समीप गांव में एक बुजुर्ग और एक युवक की मौत हो गई। हिंसक हो चुके दंतैल हाथी के आबादी क्षेत्र में विचरण से ग्रामीणों में दहशत है। वन विभाग के मैदानी अमले ने गांवों में मुनादी कराकर अलर्ट रहने कहा है। एक ही रात में दो ग्रामीणों को हाथी के द्वारा मौत के घाट उतार देने से ग्रामीणों में वन विभाग के प्रति भारी रोष है। बहरहाल, दोनों की लाश को पीएम के लिए जिला हॉस्पीटल के चीरघर में रखा गया है।

2 गांव में दो की मौत

ग्रामीणों और वन विभाग के मैदानी कर्मचारियों से मिली पुष्ट जानकारी के मुताबिक, महासमुंद शहर के वार्ड 8 निवासी राजू विश्वकर्मा (60 वर्ष) अपने दो अन्य साथियों के साथ महादेव पठार (जंगल स्थित दर्शनीय स्थल) गए थे। जहाँ से बाइक से वापस शहर लौट रहे थे। ग्राम गौरखेड़ा के पास रात्रि करीब 8 बजे मोटरसाइकिल के सामने हाथी आ धमका। हड़बड़ी में राजू बाइक से गिर गया। उसके दो साथी वहां से जान बचाकर बाइक से भाग निकले।

आसपास के क्षेत्रों में अलर्ट

राजू को हाथी ने कुचल-कुचलकर मार डाला। यह खबर तेजी से सोशल मीडिया में वायरल हुआ। वन विभाग के अधिकारी घटना स्थल पर पहुँचकर आसपास के गांवों में अलर्ट घोषित कर ही रहे थे। इसी बीच खबर मिली कि हाथी गौरखेड़ा से आगे बढ़कर तीन किलोमीटर दूर झालखम्हरिया  गांव पहुंच गया है। वहां खेत में लगाए गए मूंगफली फसल की रखवाली कर रहे तीस वर्षीय युवा किसान परमेश्वर कमार पर हमला कर दिया। इससे घटनास्थल पर ही उसकी मौत हो गई।

प्रदेश में आज कई जगहों पर भारी बारिश के बाद महासमुंद, गरियाबंद सहित यहां अब भारी बारिश की चेतावनी

एक दिन में दो मौत की पहली घटना

महासमुंद वन मंडल के सिरपुर क्षेत्र में हाथियों का जमावड़ा बीते कुछ वर्षों से है। अब तक 30-32 लोगों पर हमला कर चुका दंतैल हाथी के द्वारा एक ही रात में दो अलग-अलग घटनाओं को अंजाम देने की यह पहली घटना है। एक रात में दो घंटे के अंतराल में दो ग्रामीण को हाथी के कुचलने से मौत से क्षेत्र के ग्रामीण और किसानों में भारी दहशत है।

ग्रामीणों और किसानों से अपील

हाथी भगाओ फसल बचाओ समिति सिरपुर (Mahasamund) के संयोजक राधेलाल सिन्हा ने ग्रामीणों और किसानों से अपील करते हुए कहा है कि हाथी पहले की अपेक्षा और ज्यादा आक्रमक हो गया है। कभी भी कहीं भी पहुंचकर हिंसक घटनाओं को अंजाम दे रहा है।  क्षेत्र में एक सप्ताह के भीतर यह तीसरी घटना है। वन विभाग के कर्मचारी भी हाथी से सावधान रहने गांवों में पहुंचकर मुनादी करा रहे हैं। नागरिकों को सतर्क रहने और जानमाल की सुरक्षा के लिए सूर्यास्त के बाद और सूर्योदय के पहले जंगली रास्तों से नहीं गुजरने की गुजारिश की जा रही है।

https://webmorcha.com/

https://webmorcha.com/category/my-village-my-city/

9617341438, 7879592500,  7804033123