महासमुंद: छूटभैया नेताओं के संरक्षण में जगह-जगह डंप हो रहा रेत, इन छूटभैयों का पहुंच उपर तक, इसलिए कार्रवाई से बच रहे अफसर!  

महासमुंद। जिले के कई स्थानों पर रेत का अवैध भंडारण हो रहा है। जानकारी के बावजूद खनिज विभाग को है बावजूद कार्रवाई नहीं हो पा रहा है। ताजा मामला जिला मुख्यालय से 15 किलोमीटर दूर बिरकोनी में भारी मात्रा में रेत का अवैध भंडारण किया गया है। इस भंडारण में छूटभैया कथित नेताओं का संरक्षण जिनकी पहुंच उपर तक है, ऐसे में अफसर भी नतमस्तक हो रहे हैं।

ऐसे तो रेत माफिया जिलेभर में सक्रिय हैं। जिसके कारण शासन को प्रतिदिन राजस्व की क्षति हो रही है। बतादें रेत माफिया को लेकर सोशल मीडिया में तस्वीर की भरमार है। वहीं दिन-रात रेत का अवैध भंडारण व परिवहन कार्य चल रहा है। रात में बड़ी संख्या में हाइवा के जरिए नदी से रेत लेकर भंडारण के साथ अन्य क्षेत्रों में परिवहन किया जा रहा है।

छत्तीसगढ़ होली होने वाली है फीका: प्रदेश के इस जिले ने रंगों के त्योहार पर गाइड लाइन जारी की, क्या अप पूरे प्रदेश में लगेगा इसका ग्रहण

खनिज अफसर HD भारद्वाज रटा-रटाया जवाब दे रहे हैं उनका कहना है कि कार्रवाई के लिए खनिज निरीक्षक को आदेशित किया गया है। बावजूद इसके उनके अधिकारी अभी तक न तो भंडारण की जगह पर पहुंच पाए हैं और न ही रात में चल रहे अवैध उत्खनन वाले क्षेत्र में। जबकि ये दोनों जगह जिला मुख्यालय से केवल 15 व 20 किलोमीटर दूरी पर है।

भाजपा ने दी प्रदर्शन की चेतावनी

महासमुंद पूर्व विधायक और बीजेपी प्रदेश कार्यसमिति सदस्य डॉ विमल चोपड़ा ने भी मामले में शासन-प्रशासन का मिलीभगत का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि मामले में कार्रवाई नहीं हुई तो BJP जिला खनिज अधिकारी का घेराव कर प्रदर्शन करेगी। उन्होंने कहा कि खनिज अधिकारियों और रेत माफियाओं की मिलीभगत से छत्तीसगढ़ की खनिज संपदा की लूट हो रही है। इससे पंचायतों को हानि होने के साथ ही सड़कें खराब हो रही है और इसके लिए पूरी तरह से शासन जिम्मेदार है।

Leave a Comment