महासमुंद। लाखों रुपये का प्रतिबंधित कफ़ सिरप एवं टेबलेट समेत तीन तस्करों को रंगे हाथ पकड़ाया

महासमुंद। वर्तमान परिवेश में युवा पीढ़ी नशे की गर्त में समाती जा रही है। जिससे युवाओं के कार्यक्षमता वह स्वास्थ्य में गिरावट तथा खर्च में वृद्धि के कारण चोरी लूट व अन्य कई प्रकार के क्राइम बढ़ रहे हैं। लेकिन समस्त  क्राइम पर अंकुश लगाने हेतु महासमुंद जिले के तेजतर्रार पुलिस अधीक्षक  प्रफुल्ल कुमार ठाकुर द्वारा अंकुश लगाने हेतु कमर कस लिया गया है। नशे के खिलाफ इस मुहिम के तारतम्य में जिले के समस्त थाना एवं चौकी प्रभारियों को  लाकडाउन की अवधि में जिले में अवैध मादक पदार्थों के  बिक्री एवं परिवहन पर अंकुश लगाने हेतु निर्देशित किया गया था जिसके परिपालन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक महोदया श्रीमती मेघा टेम्भुलकर साहू तथा

http://कोरोना संकटकाल में डैनेक्स ने रचा इतिहास, दंतेवाड़ा की महिलाओं के हुनर का कमाल : 1 करोड़ 26 लाख रूपए का बेचा माल

अनुविभागीय अधिकारी पुलिस सरायपाली विकास पाटले के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी सरायपाली निरीक्षक वीणा यादव एवं स्टाफ द्वारा सरायपाली थाना क्षेत्रांतर्गत अवैध शराब,  मादक पदार्थो की बिक्री एवं परिवहन करने वाले संदेही व्यक्तियों पर सतत निगरानी रखी जा रही है इसी दौरान आज मुखबीर से सूचना मिली कि सारंगढ रोड़ में सारंगढ बरमकेला से दो मोटर सायकल में सवार प्रतिबंधित दवाईयां कफ सीरफ एवं टेबलेट लेकर सरायपाली तरफ आ रहे हैं कि सूचना पर हमराह स्टाफ व गवाह के रवाना होकर सारंगढ बार्डर ग्राम पोड़ापाली के पास नाकाबंदी किये कुछ समय पश्चात सारंगढ रोड़ तरफ से सरायपाली की ओर दो मोटर सायकल आते दिखाई दिए,

 

जिनको हाथ से इसारा कर रोकने की संकेत दिया गया जो पुलिस को देखकर मोटर सायकल को मोड़कर भागने की कोशिश करने लगे। जिन्हें दौड़ाकर पकड़ा गया। नाम पता पूछने पर बजाज डिस्कवर बिना नंबर के मोटर सायकल चालक ने अपना नाम शेख मकसूद्दीन पिता शेख तफरूद्दीन बताया तथा पिछे के मोटर सायकल HF डिलक्स के चालक अपना नाम अशोक दुबे पिता नंदकुमार दूबे एवं मोटर सायकल के पीछे बैठे व्यक्ति अपना नाम बाबूलाल सागर पिता चतुरसिंग सागर निवासी सरायपाली होना बताये तथा मोटर सायकल पीछे एवं बीच सीट में रखे बेंग एवं थैला के संबंध में पुछताछ करने पर बेंग एवं थैला में प्रतिबंधित नशीली कफ सीरफ एवं टेबलेट दवाईंया होना बताये

जिसके संबंध में नारकोटिक एक्ट के प्रावधानों के तहत कार्यवाही करते हुए, धारा 91 जा0फौ0 का नोटिस दिया जो कफ सीरफ एवं टेबलेट खरीदी बिक्री एवं परिवहन करने के संबंध में कोई दस्तावेज लिखित में नहीं होना बताये। आरोपियों के कब्जे से 500 नग ONEREX COUGH SYRUP प्रत्येक शीशी में 100ml किमती 1,50,000रूपये एवं 600 नग एलप्रासेफ कंपनी का टेबलेट किमती 12,000 रूपया एवं घटना में प्रयुक्त मो0सा0 HF डिलक्स बिना नंबर का किमती 40,000 रूपये  एवं बजाज डिस्कवर मो0सा0 बिना नंबर का किमती 40,000 रूपये को समक्ष गवाहन मुताबिक जप्ती पत्रक के जप्त कर कब्जा पुलिस लिया। आरोपी 1. अशोक दुबे पिता नंदकुमार ऊर्फ दादू दुबे उम्र 35 वर्ष सा0 वार्ड नं. 10 बाजारपारा सरायपाली,

http://महासमुन्द। कोविड-19 रोकथाम के लिए सोनासिल्ली एवं लालपुर माइक्रो कन्टेनमेंट जोन घोषित

2. शेख मकसूद्दीन पिता शेख तफरूद्दीन उम्र 45 वर्ष सा0 वार्ड नं. 07 शास्त्रीनगर झिलमिला,  3. बाबूलाल सागर पिता चतुर सिंग सागर जाति गांड़ा उम्र 40 साल सा0 वार्ड नं. 11 बाजारपारा सरायपाली थाना सरायपाली जिला महासमुंद (छ0ग0) का कृत्य धारा 21 NDPS Act का अपराध का घटित करना पाये जाने से मौके पर गवाहों के समक्ष मुताबिक गिरफ्तारी पत्रक के विधिवत गिरफ्तार किया गया गिरफ्तारी की सूचना परिजनों को दिया गया। आरोपियो के विरूद्ध थाना सरायपाली में अपराध क्रमांक 165/2021 धारा  21 NDPS ACT कायम कर विवेचना में लिया गया है। मामला अजमानतीय होने से आरोपियो को ज्युडिशियल रिमांड पर भेजा गया है।

संपूर्ण कार्यवाही में थाना प्रभारी निरीक्षक वीणा यादव, सउनि राजेन्द्र प्रसाद भोई,मुरलीधर भोई, रमानीलाल टांडेकर, प्रधान आरक्षक भोलेन्द्र ठाकुर, अशोक बाघ, हिमाद्री देवता,वरुण दीपक,जयन्त बारीक़, सुकलाल भोई,  आरक्षक हिरेन्द्र भार्गे, अनिल मांझी, चन्द्रमणी यादव, दिलीप पटेल, टीकाराम नायक,हितेश साहू, दिनेश बुढेक,शिवशंकर राज, टीकाराम साहू, योगेश यादव, विपिन सिदार, आलोक शर्मा,नगर सैनिक लक्ष्मण  मिश्रा, संजीव यादव तथा अन्य थाना स्टाफ का विशेष योगदान रहा।