मंगल ग्रह का राशि परिवर्तन…इन राशियों के लिए बेहद खास..कुछ राशियों को रहना होगा सतर्क

तेज ग्रह मंगल (Mars) वृष राशि से निकलकर 14 अप्रैल से अपने शत्रु बुध की राशि मिथुन राशि में प्रवेश किए हैं। इस राशि पर ये 2 जून तक गोचर करेंगे, इसके बाद अपनी नीचराशि कर्क में प्रवेश कर जाएंगे। इनके राशि परिवर्तन का पृथ्वी और प्राणियों पर सीधा असर पड़ता है। मिथुन राशि वायुतत्व की राशि है इसलिए इस राशि में मंगल के जाने से प्राकृतिक आपदाएं, आंधी-तूफान और आगजनी की घटनाओं की स्थिति देखने को मिल सकता है। जानिए आपके राशि में कैसा रहेगा इसका प्रभाव

मेष राशि

राशि से पराक्रम भाव में गोचर करते हुए मंगल (Mars) मिलाजुला फल प्रदान करेंगे। इस भाव में इनका फल दो तरफा होता है एक ओर जहां आपको साहसी और पराक्रमी बनाकर कामयाब करेंगे वही परिवार के वरिष्ठ सदस्यों और भाइयों से मतभेद भी कराएंगे। इसीलिए अपनी जिद और आवेश पर नियंत्रण रखते हुए कार्य करेंगे तो अधिक सफल रहेंगे। कोर्ट कचहरी के मामलों में निर्णय आपके पक्ष में आने के संकेत किंतु, इस अवधि के मध्य किसी को भी अधिक धन उधार के रूप में न दें अन्यथा वह धन समय पर नहीं मिलेगा।

वृषभ राशि

राशि से धन भाव में गोचर करते हुए मंगल (Mars) का प्रभाव कई तरह के अप्रत्याशित परिणाम दिलाएगा। विदेशी मित्रों अथवा संबंधियों से लाभ के योग। काफी दिनों का दिया गया धन भी वापस मिलने की उम्मीद। जमीन जायदाद संबंधी मामलों का तो निपटारा होगा किंतु पारिवारिक एवं मानसिक कलह का सामना करना पड़ सकता है। पड़ोसियों से भी संबंध बिगड़ने न दें। कार्य क्षेत्र में भी व्यर्थ झगड़े विवाद से बचें। वाहन सावधानी पूर्वक चलाएं। स्वास्थ्य विशेष करके दाहिनी आंख से संबंधित समस्या से भी सावधान रहें।

यहां पढ़ें: भगवत गीता के 20 आचरण अपना लिए तो जीवन हो जाएगा मंगलमय

मिथुन राशि

आपकी राशि पर गोचर करते हुए मंगल (Mars) का प्रभाव बहुत अच्छा नहीं कहा जा सकता क्योंकि, यह इनके शत्रु बुध की राशि है इसलिए कहीं न कहीं मानसिक व्यग्रता बढ़ जाएगी। आपके स्वभाव में भी चिड़चिड़ापन आएगा। कार्यक्षेत्र में उच्चाधिकारियों से संबंध बिगड़ने न दें। स्वास्थ्य के प्रति चिंतनशील रहें। यात्रा सावधानीपूर्वक करें, वाहन दुर्घटना से बचें। जमीन-जायदाद से जुड़े मामलों का निपटारा होगा। केंद्र अथवा राज्य सरकार के विभागों में प्रतीक्षित पड़े कार्य संपन्न होंगे। अपनी ऊर्जाशक्ति का पूर्ण सदुपयोग करें।

कर्क राशि

राशि से व्ययभाव में गोचर करते हुए योगकारक मंगल (Mars) का प्रभाव अत्यधिक खर्च  और भागदौड़ का सामना करवाएगा। यह भी हो सकता है कि आपको आर्थिक तंगी का भी सामना करना पड़े किंतु विदेशी मित्रों तथा संबंधियों से सुखद समाचार प्राप्ति के योग। कार्य व्यापार की दृष्टि से इन का गोचर बहुत खराब नहीं रहेगा। विदेशी कंपनियों में सर्विस अथवा नागरिकता के लिए आवेदन करना चाह रहे हों तो अवसर अनुकूल रहेगा। झगड़े विभाग से बचते रहें और कोर्ट कचहरी के मामले बाहर ही सुलझा लेना समझदारी होगी।

सिंह राशि-

राशि से लाभ भाव में गोचर करते हुए मंगल (Mars) का प्रभाव मिलाजुला रहेगा। आय के साधन बढ़ेंगे। दिया गया धन भी वापस मिलने की उम्मीद। शत्रु परास्त होंगे और कोर्ट कचहरी के मामलों में भी निर्णय आपके पक्ष में आने के संकेत किंतु परिवार के वरिष्ठ सदस्यों अथवा बड़े भाइयों से संबंध बिगड़ने न दें। विद्यार्थियों अथवा प्रतियोगिता में बैठने वाले छात्रों के लिए समय अनुकूल रहेगा। संतान संबंधी चिंता में कमी आएगी। नवदंपति के लिए संतान प्राप्ति एवं प्रादुर्भाव के भी योग। प्रेम- रोमांस के मामलों में उदासीनता रहेगी।

कन्या राशि

राशि से दशम कर्म भाव में गोचर करते हुए मंगल (Mars) अच्छा फल ही प्रदान करेंगे। नौकरी में भी पदोन्नति था मान-सम्मान की वृद्धि होगी किंतु, इसे बनाए रख पाना आपके लिए चुनौती रहेगा। नौकरी में स्थान परिवर्तन के लिए प्रयास करना चाह रहे हों तो सफलता के योग। केंद्र अथवा राज्य सरकार के विभागों में प्रतीक्षित  कार्यो का निपटारा होगा। किसी नए तरह का टेंडर भी भरना चाह रहे हों तो अवसर अनुकूल रहेगा। विदेशी कंपनियों में नौकरी अथवा नागरिकता के लिए आवेदन करने की दृष्टि से भी ग्रह-गोचर अच्छा रहेगा।

तुला राशि-

राशि से भाग्य भाव में गोचर करते हुए मंगल (Mars) का प्रभाव सामान्य फलकारक ही रहेगा। आर्थिकपक्ष मजबूत रहेगा। मकान-वाहन के क्रय का भी योग। धर्म और अध्यात्म के प्रति रुचि बढ़ेगी। सामाजिक कार्यों में भी बढ़ चढ़कर हिस्सा लेंगे और आर्थिक सहयोग भी भर करेंगे। विद्यार्थियों एवं प्रतियोगिता में बैठने वाले छात्रों के लिए समय नई चुनौतियां पेश करेगा इसलिए परीक्षा में अच्छे अंक लाने के लिए पढ़ाई में लापरवाही न करें। अपनी ऊर्जाशक्ति और साहस के बलपर कठिन परिस्थितियों पर भी आसानी से नियंत्रण पा लेंगे।

यहां पढ़ें: चाणक्य नीति: क्या आप परेशान हैं… इस लेख को पढ़ें मुश्किलें होगी आसान

वृश्चिक राशि-

राशि से अष्टम भाव में गोचर करते हुए मंगल (Mars) के उग्र प्रभाव के परिणामस्वरूप आपके स्वभाव में भी कुछ परिवर्तन आएगा, हो सकता है कि क्रोध बढ़े और  आत्मविश्वास की कमी दिखाई दे। कार्य-व्यापार में निर्णय लेने में विलंब न करें। किसी भी तरह के नए अनुबंध पर हस्ताक्षर करना हो तो भी पीछे न हटें। स्वास्थ्य के प्रति चिंतनशील रहें। कोर्ट-कचहरी तथा विवादित मामले किसी भी तरह से बाहर ही सुलझाने का प्रयास करें। अपनी ऊर्जाशक्ति का सदुपयोग अच्छे कार्यों में करें। जमीन जायदाद से जुड़े मामले हल होंगे।

धनु राशि

राशि से सप्तम भाव में गोचर करते हुए मंगल (Mars) का प्रभाव सामान्य फलकारक ही रहेगा। कार्य व्यापार की दृष्टि से तो समय अपेक्षाकृत बेहतर रहेगा किंतु दांपत्य जीवन में कड़वाहट आ सकती है। शादी-विवाह से संबंधित मामलों में भी थोड़ा विलंब हो सकता है। इस अवधि के मध्य साझा व्यापार करने से बचें। केंद्र अथवा राज्य सरकार के विभागों में प्रतीक्षित पड़े कार्य संपन्न होंगे। विद्यार्थियों अथवा प्रतियोगिता में बैठने वाले छात्रों के लिए समय अनुकूल है। प्रेम संबंधी मामलों में उदासीनता रहेगी इसलिए कार्य पर ही ध्यान दें।

मकर राशि-

राशि से छठे शत्रु भाव में गोचर करते हुए मंगल (Mars) शत्रु शमन तो करेंगे किंतु आर्थिक हानि एवं कर्ज के जाल में भी उलझा सकते हैं इसलिए लेनदेन के मामलों में अधिक सावधानी बरतें। किसी को भी अधिक धन उधार के रूप में देने से बचें। विवादित मामलों में निर्णय आपके पक्ष में आने के संकेत। विदेशी संबंधियों और मित्रों से भी सुखद समाचार मिल सकता है यहाँ तक कि विदेशी कंपनियों में नौकरी अथवा वीजा आदि के लिए आवेदन भी करना चाह रहे होंगे तो सफल रहेंगे। स्वास्थ्य के प्रति लापरवाही ना बरतें। वाहन दुर्घटना से बचते रहें।

कुंभ राशि

राशि से पंचम भाव में गोचर करते हुए मंगल (Mars) शिक्षा प्रतियोगिता में अच्छी सफलता दिलाएंगे। इंजीनियरिंग तथा साइंस के छात्रों के लिए तो यह गोचर किसी वरदान से कम नहीं है इसलिए परीक्षा में अच्छे अंक लाने के लिए थोड़ा और प्रयास करें। कार्य व्यापार में भी उन्नति होगी, आय  के साधन भी बढ़ेंगे। प्रेम संबंधी मामलों में उदासीनता रहेगी इसलिए समय नष्ट न करें। संतान के दायित्व की पूर्ति होगी। नवदंपत्ति के लिए संतान प्राप्ति एवं प्रादुर्भाव के भी योग। उच्चाधिकारियों से संबंधों के प्रति संवेदनशील रहें और विवाद बढ़ने न दें।

मीन राशि-

राशि से चतुर्थभाव में गोचर करते हुए मंगल (Mars) कहीं न कहीं पारिवारिक कलह एवं मानसिक अशांति का सामना करवाएंगे। यात्रा-देशाटन की अधिकता रहेगी। मित्रों तथा संबंधियों से भी अप्रिय समाचार प्राप्ति के योग। माता-पिता के स्वास्थ्य के प्रति चिंतनशील रहें। परिवार के विवादित मामले भी आपस में ही सुलझा लेना समझदारी होगी। जमीन जायदाद से जुड़े मामले हल होंगे। मकान अथवा वाहन के भी क्रय का योग। शासन सत्ता का पूर्ण सहयोग मिलेगा। अपनी योजनाएं गोपनीय रखते हुए आगे बढ़ेंगे तो अधिक सफल रहेंगे।