पूर्व विधायक विमल ने लगाए गंभीर आरोप बोले.. शासन-प्रशासन कांग्रेसी नेता अपनी मस्ती में लगे हुए हैं किसी को भी जनता का ध्यान नहीं है! अस्पताल के मुख्य द्वार में बैठ किया प्रदर्शन

महासमुन्द। आज पूरे छत्तीसगढ़ में कोरोना को लेकर हाहाकार मचा हुआ है और शासन-प्रशासन कांग्रेसी नेता अपनी मस्ती में लगे हुए हैं किसी को भी जनता का ध्यान नहीं है जिसमे वैक्सीनेशन का मामला, टेस्टिंग में कमी, ऑक्सीजन बेड, वेंटिलेटर में कमी  इन सभी विषयों को लेकर दोपहर 2 बजे पूर्व विधायक डॉ विमल चोपड़ा ने कलेक्टर से दूरभाष में चर्चा कर इन सभी व्यवस्थाओं में सुधार करने की बात कही और आग्रह किया कि जो कोविड मरीज ज्यादा बीमार नहीं है और जो अपनी सहमति से घर जाना चाहते हैं उन्हें घर में होम आईशोलेसन की अनुमति दी जाए।

डॉ चोपड़ा ने कोविड अस्पताल की व्यवस्था में सुधार सहित जिला अस्पताल में तत्काल 100 और ऑक्सीजन बेड की व्यवस्था किए जाने की मांग की, शासन प्रशासन द्वारा निर्देश दिया जा रहा है कि टेस्टिंग कम कर पॉजिटिव मरीजों की संख्या कम की जाए इसे तत्काल बंद कर सभी आने वाले मरीजों की जांच की जाए। लगातार सुबह से ही मरीजों की भीड़ बढ़ रही है और टेस्टींग किट को दबाकर कहा जा रहा है कि टेस्टींग किट खत्म हो गया है।

रिपोर्ट: कोरोना महामारी के दौरान यौन हिंसा का ‘युद्ध की रणनीति’ के तौर पर उपयोग

जो मरीज घर जाना चाहते हैं उन्हें घर जाने की अनुमति दी जाए

आने वाले मरीज एक दूसरे मरीजों टेंस्टीग की कमी के कारण एक दूसरे के संपर्क में आकर कोरोना पॉजिटिव हो रहे है। डॉक्टर चोपड़ा ने जीएनएम की व्यवस्था में भी सुधार करने, वहां भोजन, साफ सफाई ,पानी की व्यवस्था को दुरुस्त करने की मांग की।

साथ ही टेस्टिंग सेंटर में छांव कि उचित व्यवस्था व पीने की पानी की व्यवस्था हो इसकी भी बात कही पूर्व विधायक डॉक्टर चोपड़ा ने कहा कि जो मरीज घर जाना चाहते हैं उन्हें घर जाने की अनुमति दी जाए इस संबंध में कलेक्टर से दूरभाष के माध्यम से चर्चा हुई थी उन्होंने सहमति देते हुए आदेश पारित करने की बात कही लेकिन शाम 5 बजे तक किसी भी प्रकार का कोई आदेश जारी नहीं किया गया तत्पश्चात भाजपा नेताओं ने डॉ विमल चोपड़ा के नेतृत्व मे कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर  कलेक्टर से मिलना चाहा  लेकिन  कलेक्टर के  वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग  में व्यस्त होने के कारण मुलाकात नहीं हुई(

इसके बाद  भाजपा  नेताओं  ने जिला अस्पताल पहुंचकर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए जिला अस्पताल के मुख्य द्वार में जमीन पर बैठकर जिला प्रशासन, अस्पताल प्रशासन के विरोध नारेबाजी की इसके बाद डॉ. दिनेश सिन्हा से चर्चा कर अपनी बातों को शासन प्रशासन तक पहुंचाने की बात की। इस दौरान पार्षद देवी चंद राठी, सांसद कार्यालय प्रभारी मोहन साहू ,सांसद प्रतिनिधि पवन साहू ,भाजपा नेता महेंद्र सिका, हीरेंद्र सोनी, जगन्नाथ छुरा, भरत खत्री, विक्की गुरुदत्ता प्रमुख रूप से उपस्थित थे।

Leave a Comment