सांसद चुन्नीलाल साहू ने सदन में फिर उठाया बागबाहरा हेचरी का मामला, कहा- पर्यावरण को नुकसान के साथ जनजीवन पर पड़ रहा बुरा असर

0
48
webmorcha.com
चुन्नीलाल

महासमुंद। महासमुंद लोक सभा के सांसद चुन्नीलाल साहू ने आज नियम 377 के तहत महासमुंद जिले अंतर्गत  बागबाहरा विकास खंड के ग्रामीण क्षेत्रों में मुर्गी पालन करने के नाम पर  बडे-बडे हेचरी उत्पादन केंद्र खोले जा रहे है, जिससे आस-पास के ग्रामीण इलाकों में होनेवाला प्रदूषण को लेकर सदन में विपक्ष के द्वारा हल्ला व सोरगुल करने के कारण ध्यानाकर्षण करने अपनी बात लिखित मे प्रस्तुत कर किया।

महासमुंद लोक सभा के सांसद चुन्नीलाल साहू
महासमुंद लोक सभा के सांसद चुन्नीलाल साहू

बतादें, बागबाहरा ब्लॉक के वनांचल के कई गांव के लोग मक्खी और जूं से परेशान हैं। ग्राम जामली क्षेत्र में तीन पोल्ट्री फार्म और एक हैचरी जहां चूजे तैयार किए जाते हैं। जिसके कारण यहां काफी अपशिष्ट बाहर निकलते हैं। जिसके कारण गांव के घरों में इसका असर है। यहां के लोग मक्खी के कारण मच्छरदानी लगाकर भोजन करते हैं। ग्रामीणों ने इसे लेकर जनप्रतिनिधि और शासन-प्रशासन से कई बार शिकायत कर चुके हैं। मामले को लेकर पूर्व में भी विधानसभा में मामला उठ चुका है।  प्रशासन की ओर से कई बार जांच की गई। लेकिन इसका स्थाई विकल्प नहीं निकला। ग्रामीणों का कहना है कि यहां रहने वाले दमे और अज्ञात बीमारी से परेशान हैं। आए दिन बच्चे डिहाइड्रेशन से पीड़ित रहते हैं।

चार गांव के लोग हैं प्रभावित :

पोल्ट्री फार्म की गंध से जामली, खम्हारमुड़ा, जीवनगढ़, कमरौद लोगों को हैचरी और पोल्ट्री फार्म से परेशानी है। यहां के लोगों ने कई बार बैठक कर गंध और गंदगी नहीं फैलाए जाने को लेकर विरोध कर चुके हैं।

लोग मच्छरदानी लगाकर गुजर-बसर कर रहे थे

यहां के लोग कई सालों से मक्खी से प्रभावित हैं, साथ ही अब घरों में जूं निकल रहा है। मक्खी से लोग जैसे-तैसे कर मच्छरदानी लगाकर गुजर-बसर कर रहे थे, लेकिन जूं को रोकने जैसे विकल्प इनके पास नहीं है। ग्रामीणों का कहना है हेचरी से चूजे निकलते हैं और खराब अंडा को अपने बाउंड्री अंदर खुले जमीन पर जला देते हैं। इससे उठने वाले धुएं और दुर्गंध से यहां रहने वाले लोग परेशान हैं। साथ ही आवारा कुत्ते हेचरी के सामने सड़क से गुजरने वाले व्यक्ति पर हमला कर देते हैं।

दिल्ली से टोक्यो गया फोन तो रोने लगीं हॉकी टीम की कई खिलाड़ी, पीएम मोदी ने बंधाया ढांढस

निर्माणाधीन हेचरी फ़ार्म पर रोक लगाने के लिए ग्रामीण हुए लामबंद,सौपा ज्ञापन कलेक्टर को

अभी हाल ही में बागबाहरा विकासखंड के ग्राम पंचायत पचेडा के ग्रामवासी आबादी क्षेत्र के नजदीक 40 एकड़ जमीन में बन रहे हेचरी फ़ार्म निर्माण के लिए जारी एनओसी को निरस्त कर निर्माण कार्य को बंद करने के लिए कलेक्टर के प्रतिनिधि के तौर पर अपर कलेक्टर सीमा बंसल को ज्ञापन सौपा है। सौंपा गए ज्ञापन में लेख है कि ग्राम पचेड़ा के आबादी क्षेत्र हायर सेकेंडरी स्कूल पचेड़ा ग्राम पंचायत मामा भाचा से क्रमशः  500-500 मीटर से भी कम दूरी पर लगभग 40-50 एकड़ जमीन पर विहार हैचरी फार्म का निर्माण हेतु कार्य प्रगति पर है।

निर्माणाधीन हैचरी फार्म पर रोक लगाने के लिए ग्रामीण हुए लामबंद,सौपा ज्ञापन

ग्राम पंचायत पचेड़ा के पदाधिकारियों द्वारा गुप्त एवं अनाधिकृत रूप से एनओसी सरीन हैचरी फार्म के लिए जारी किया गया है इस पर ग्राम वासियों को पूर्णता आपत्ति है जो निरस्त करने योग्य है । उक्त हेचरी फ़ार्म के बनने से ग्राम पचेड़ा व मामा भाचा के ग्रामीणों में प्रदूषण व बदबू के कारण विभिन्न प्रकार के आक्रामक बीमारी होने का खतरा है ।

हेचरी फ़ार्म निर्माण के लिए जारी एनओसी को निरस्त कर निर्माण कार्य को बंद करने के लिए कलेक्टर के प्रतिनिधि के तौर पर अपर कलेक्टर सीमा बंसल को ज्ञापन सौपा हैनिर्माणाधीन हेचरी फ़ार्म के किनारे दोनों और गांव में आने जाने का मुख्य मार्ग है,मामा भाचा के स्कुलीय बच्चे इसी मार्ग से स्कूल आते जाते हैं।  मुर्गियों में होने वाली संक्रामक बीमारी से छात्रों व राहगीरों को परेशानी होगी साथ ही उक्त निर्माणाधीन जगह की पानी बहकर निस्तारित तालाब में प्रवाहित होती है इससे भविष्य में तालाब का पानी पूरी तरह से होगा।

हमसे जुड़िए

https://twitter.com/home             

https://www.facebook.com/?ref=tn_tnmn

https://www.facebook.com/webmorcha/?ref=bookmarks

https://webmorcha.com/

https://webmorcha.com/category/my-village-my-city/

9617341438, 7879592500,  7804033123