महासमुंद: प्रेमिका को पाने बेहोश होते तक पिलाया शराब और उसी बोतल से किया मर्डर

महासमुंद। अभी कुछ दिन पहले खल्लारी क्षेत्र के खम्हारमुडा जंगल में अज्ञात लाश मिली थी। जिसकी शिनाख्त के बाद पुलिस ने इस हत्या की घटना की खुलासा की है। मृतक की पहचान ग्राम नारा का ईश्वरी साहू के रूप में पुलिस ने की। पुलिस को मृतक के परिजन से मृतक के संबंध में जानकारी प्राप्त करने पर पता चला की मृतक ईश्वरी साहू की शादी ग्राम रसनी थाना आरंग के मोंगरा बाई से हुई है।

जिसके दो बच्चें है मृतक के पत्नी का व्यवहार अपने ससुराल पक्ष में सही नही होने से पति-पत्नी व बच्चें रायपुर में जाकर रहना बताये। रायपुर में रहने के दौरान ईवश्री व उनके पत्नी के बीच आपसी संबंध ठीक नही चल रहा था। जिसके चलते मोंगरा बाई भी रायपुर में कुछ काम कर रही थी। विगत वर्ष लाॅकडाउन के दौरान काम नही मिलने से व अपनी पत्नी से विवाद के चलते मृतक ईश्वरी साहू अपनी पत्नी व बच्चों को रायपुर में छोडकर अपने गांव नारा वापस आकर रह रहा था।

पुलिस को करता रहा गुमराह

सायबर सेल की टीम मृतक का अपने पत्नी मोंगरा के साथ विवाद एवं पत्नी से अलग रहने के आधार पर उनके संबंध में जानकारी एकत्रित की गई तो मुखबीर से पता चला की मृतक की पत्नी का पूर्व से एक सिटी बस चालक के साथ बस में रायपुर से भानसोज आने जाने के दौरान घनिष्ठता हो गयी थी। दिनांक 26.03.21 को मृतक के साथ उक्त बस चालक को ग्राम नारा से मोटर सायकल से भानसोज की ओर जाते देखा गया था। जिसपर से बस चालक बिसहत दीवान की तलाश की गई। बस चालक को उसके निवास ग्राम भडहा थाना खरोरा जिला रायपुर से पकड कर पुलिस अभिरक्षा में लिया गया एवं पूछताछ करने पर गोलमोल जवाब देकर पुलिस को गुमराह करता रहा।

मउर्र करने बनाई योजना

पुलिस द्वारा कडाई एवं बारिकी से पूछताछ करने पर अपराध करना स्वीकार किया एवं बताया कि मृतक ईश्वरी की पत्नि मोगरा बाई से विगत 04 वर्षो से जान पहचान एवं प्रेम संबंध है। पिछले वर्ष लाॅकडाउन होने के पश्चात् मृतक अपनी पत्नि को रायपुर में छोडकर गांव नारा आ जाने से इनका प्रेम संबंध और गहरा हो गया पति-पत्नि में इसी बात को लेकर अक्सर विवाद होता रहता था। दिनांक 21.03.21 को ग्राम नारा में सामाजिक बैठक जिसमें मृतक ईश्वरी साहू एवं मोगरा बाई का तलाक हुआ तथा मृतक अपने दोनो बच्चों को अपने पास गांव में रखना चाहता था। जिसके कारण मृतक की पत्नि मोंगरा बाई पति अलग होने तथा अपने दोनो बच्चों से भी अलग हो जाने के कारण अपने प्रेमी आरोपी बिसहत दीवान पिता बहारू दीवान ग्राम भड़हा के साथ मिल कर योजना बनाकर मृतक ईश्वरी को रास्ता से हटाने का योजना तैयार किये।

महासमुंद पुलिस विभाग में कई कर्मचारी इधर से उधर देखिए लिस्ट

इतना पिलाया शराब कि वह हो गया बेयुध

योजनानुसार दिनांक 26.03.21 को आरोपी सिटी बस पंडरी डीपो में छोडकर मंदिर हसौद आया वहा से अपना स्वयं का मोटर सायकल होण्डा लिवो क्रमांक CG 04 NJ 4587 को लेकर ग्राम नारा गया। वहा से मृतक ईश्वरी साहू को घुमने जाने व शराब पिलाने के बहाने से भानसोज की ओर लेकर गया, भानसोज नहर के पास दोनो शराब पीये बाद और शराब पिने का लालच देकर आरंग शराब भट्ठी के पास लाया और मृतक को पैसे देकर दो पौवा मसाला शराब खरीदवाया।

पश्चात् घोडारी महानदी पुल के पास आकर ककडी खरीद कर एक पौवा से ज्यादा हिस्सा मृतक को देकर कम हिस्सा स्वयं पिया एवं मृतक को ज्यादा नशा होने पर घुमाने ले जाने के बहाने से महासमुन्द होते हुये डुमरपाली, खम्हारमुडा लभरा जंगल ले गया जहां बचे हुये एक पौवा शराब को फिर से उसे ज्यादा हिस्सा देकर कम हिस्सा अपने लिये रखा मृतक शराब पिने के बाद मदहोश होकर वही सो गया।

आरोपी द्वारा अपने योजनानुसार अपने तथा प्रेमिका मोंगरा बाई के मध्य से मृतक को हटाने शराब की शिशि को फोडकर चाकू जैसे उपयोग कर मृतक के गले को बार-बार रेत कर काट कर हत्या करना स्वीकार किया तथा यह बताया कि आरोपी पूर्व में रायल कंपनी की बस को जिला महासमुन्द चलाने से घटना स्थल एवं आसपास के ईलाके से परिचित होना बताया एवं यह भी स्वीकार किया कि 04 वर्षो से मोंगरा बाई से घनिष्ठता होने से वह उसके बच्चों से भी अत्याधिक प्यार करने लगा था। मृतक द्वारा बच्चों को अपने पास ले आने की बात पर से वह भी मृतक से क्षुब्ध होकर प्रेमी एवं प्रेमिका योजना बनाकर उसके द्वारा मृतक की हत्या की गई। आरोपियो के विरूद्ध थाना खल्लारी में अपराध क्रमांक 47/21 धारा 302, 120बी भादवि0 कायम कर विवेचना में लिया गया।

 

Leave a Comment