नोबेल पुरस्कार विजेता बोले – कोरोना ने समाज की कमियों को 'सबके सामाने ला खड़ा किया

नई दिल्ली। नोबेल पुरस्कार विजेता मोहम्मद यूनुस ने कहा कि कोविड-19 ने समाज और अर्थव्यवस्था की कमियों को ‘सबके सामाने ला खड़ा किया है’. खास तौर से असंगठित क्षेत्रों में, जहां से लॉकडाउन के दौरान बड़ी संख्या में लोगों को जाते हुए देखा गया. पेशे से अर्थशास्त्री यूनुस को बांग्लादेश में ग्रामीण बैंक की स्थापना करने और लघु ऋण तथा लघु वित्त पोषण के सिद्धांत को लागू करने के लिए 2006 में नोबेल पुरस्कार दिया गया था.

यहां पढ़ें: झारखंड: साध्वी के साथ 4 लोगों ने किया सामूहिक दुष्कर्म, साधु की बेरहमी से पिटाई

तीसरे लॉरेट्स एंड लीडर्स फॉर चिल्ड्रेन सम्मेलन को संबोधित करते हुए युनुस ने कहा कि खास तौर से भारत में हमने देखा है कि लॉकडाउन के दौरान अपनी आजीविका खोने के बाद कैसे प्रवासी मजदूर पैदल अपने घर गए हैं.उन्होंने कहा, ‘‘कोविड ने बड़े पैमाने पर हमारे समाज और अर्थव्यवस्था की कमियों को उजागर किया है. जैसे बड़े पैमाने पर दिहाड़ी मजदूरों के रूप में काम कर रहे असंगठित क्षेत्र के लोगों का पलायन. उनके पास जल्दी ही पैसे खत्म हो गए, उनके पास भोजन नहीं था, किराया को पैसे नहीं थे, खास तौर से भारत में, इसलिए वे मीलों पैदल चलकर अपने घर गए क्योंकि उनके पास आजीविका नहीं थी.’’

loading…






Leave a Comment