कुख्यात गैंगस्टर हैदर गिरफ्तार ओडिशा लाई पुलिस, रिमांड में होगी पूछताछ

कटक। पांच दिनों की लुका छुपी के बाद Police के हाथ लगा कुख्यात गैंगस्टर हैदर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। हैदर को कटक कमिश्नरेट Police ने तेलंगाना राज्य के संगारेड्डी जिला के अखनूर से गिरफ्तार किया है। बदामबाड़ी थाना अधिकारी रश्मि रंजन महापात्र की अगुवाई में जाने वाली टीम ने वहां पर दो-तीन दिनों तक डेरा जमाकर हैदर के बारे में कुछ जानकारी हासिल की और उसकी गतिविधि पर नजर रखते हुए गुरुवार की देर रात को जब वह बाइक के द्वारा किसी के साथ जा रहा था तभी उसे रोककर तेलंगाना Police की मदद से गिरफ्तार किया पुलिस।

गिरफ्तारी के बाद उसे स्वास्थ्य की जांच की गई। फिर उसे जहीराबाद की अदालत में हाजिर किया गया और वहां से कमिश्नरेट पुलिस उसे ट्रांजिट रिमांड में लाई है। गुरुवार की सुबह 7 बजे हवाई जहाज के द्वारा हैदराबाद से लेकर उसे रवाना होने के बाद भुवनेश्वर के हवाई अड्डे पर करीब 8:30 बजे पहुंची। वहां से कड़ी सुरक्षा के बीच हैदर को कटक DCP  के कार्यालय में लाया गया।

कटक DCP कार्यालय में आयोजित पत्रकार सम्मेलन में पुलिस कमिश्नर सौमेंद्र प्रियदर्शी और कटक डीसीपी प्रतीक सिंह प्रमुख मौजूद रह कर हैदर की गिरफ्तारी के बारे में विस्तृत जानकारी दिए हैं। पुलिस कमिश्नर सौमेंद्र प्रियदर्शी ने पत्रकार सम्मेलन यह जानकारी दी है कि, हैदर कटक से कार के द्वारा राज्य की सीमा पार करते हुए तेलंगाना में पहुंचा था। हैदर को पनाह देने वाले लोगों के द्वारा उसके परिवार वालों को वह ठीक-ठाक होने के बारे में सूचना दी गई थी। तभी पुलिस ने उसके ठिकाने के बारे में सारी जानकारी हासिल किया। कमिश्नरेट पुलिस की विशेष टीम पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र, तेलंगाना, झारखंड और छत्तीसगढ़ आदि राज्य में डेरा जमाये हुए थी।

छत्तीसगढ: कोरोना ने BJP नेत्री की ली जान… कुछ दिन पहले हुए थे संक्रमित

आखिरकार जब वह हैदराबाद और इसके आस पास के इलाके होने की पता चली और उसका बेटा भी हैदराबाद में रहने के बारे सूचना मिली तो वहां पर मौजूद विशेष पुलिस की टीम चौकन्ना हो गई। उसके बारे में कमिश्नरेट पुलिस को जब पक्का सबूत मिला तो तेलंगाना पुलिस की मदद से गुरुवार को जब वह मोटरसाइकिल के द्वारा कहीं जा रहा था तभी उसे दबोच लिया गया। गुरुवार को उसकी स्वस्थ परीक्षा किये जाने के बाद कोर्ट में पेशी की गई और उसे रिमांड में लेने के लिए भी कमिश्नरेट पुलिस की ओर से अर्जी दी गई। रिमांड में लेने के पश्चात उसे अधिक पूछताछ करने के बाद ही उसके फरार षड्यंत्र के बारे में तमाम सूचना मिल पाएगी। यह बात पुलिस कमिश्नर सौमेंद्र प्रियदर्शी ने गण माध्यम को सूचना दी है।

उसके साथ-साथ और कौन-कौन इससे षड्यंत्र में शामिल है। इसमें मेडिकल के कर्मचारी या डॉक्टर की भूमिका, संबलपुर से एससीबी को इलाज के लिए जाने वाले सुरक्षाकर्मियों की भूमिका को भी पुलिस जांच करेगी। गिरफ्तारी के लिए कमिश्नरेट पुलिस की और से कटक डीसीपी प्रतीक सिंह की खास टीम तैयार की गई थी। इस गिरफ्तारी के लिए डीसीपी प्रतीक सिंह के साथ-साथ उनकी पूरी टीम को श्रेय दिया है पुलिस कमिश्नर ने। जानकार पुलिस अधिकारियों की  अगुवाई में टीम का गठन किया गया था। कड़ी मशक्कत के बाद 5 दिनों में कमिश्नरेट पुलिस को यह सफलता मिली है।

हमसे जुड़िए

https://twitter.com/home             

https://www.facebook.com/?ref=tn_tnmn

https://www.facebook.com/webmorcha/?ref=bookmarks

https://webmorcha.com/

https://webmorcha.com/category/my-village-my-city/

9617341438, 7879592500,  7804033123