ओडिशा: 43 साल बाद दिखा महानदी किनारे लुप्तप्राय घड़ियालों का प्राकृतिक घोंसला, “ओडिशा एकमात्र ऐसा राज्य है जहां सभी 3 प्रजातियां हैं- मीठे पानी के घड़ियाल, मगर और खारे पानी के मगरमच्छ”

भुनेश्वर। सतकोसिया के पास बलदामारा क्षेत्र में 43 साल बाद महानदी नदी के पास लुप्तप्राय घड़ियालों का प्राकृतिक घोंसला देखने को मिला है। बतादें ओडिशा देश का ऐसा एकमात्र राज्य है जहां घड़ियाल विलुप्त प्रजाति मौजूद है।

सतकोसिया के पास बलदामारा क्षेत्र में 43 साल बाद महानदी नदी के पास लुप्तप्राय घड़ियालों का प्राकृतिक घोंसला। अनुगुल के सहायक वन संरक्षक सुवेंदु बेहरा ने कहा, “ओडिशा एकमात्र ऐसा राज्य है जहां सभी 3 प्रजातियां हैं- मीठे पानी के घड़ियाल, मगर और खारे पानी के मगरमच्छ।” (२१.०६)

महानदी किनारे लुप्तप्राय घड़ियालों

कर्क राशि में 22 जून को प्रवेश कर रहा शुक्र, मेष, मिथुन, मकर और मीन राशियों पर होगी धनवर्षा