ओडिशा : सिर्फ 100 रुपए के कारण पूर्व कुलपति ध्रुबराज नाइक की मर्डर, तालाब को लेकर था पुराना झगड़ा

भुनेश्वर: सिर्फ 100 रुपए के लिए संबलपुर विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति प्रोफेसर ध्रुव राज नाइक की रविवार को मर्डर कर दी गई। एक बदमाश ने झारसुगुडा जिले स्थित कुआरमल गांव में उनके भवन पर चाकू मारकर उनकी मर्डर कर दी। Police ने बताया है कि आरोपी और प्रोफेसर ध्रुबराज का तालाब को लेकर एक विवाद चला आ रहा था।

पर्यावरणविद और पूर्व कुलपति के भाई अर्जुन नायक ने मीडियाकर्मियों से बात करते हुए कहा कि कुआरमल गांव का एक शराबी युवक सुबह उनके आवास पर आया और पूर्व वीसी से 100 रुपए मांगने लगा। मना करने पर युवक ने उन्हें घर से बुलाया फिर उनके पर कुल्हाड़ी से हमलाकर भाग गया। पूर्व वीसी को त्तकाल हॉस्पीटल ले जाया गया जहां उनकी मौत् हो गई। वहीं इस मामले पर जानकारी देते हुए झारसुगुड़ा के SP बीसी दास ने बताया कि आरोपी को हिरासत में ले लिया गया है। पूछताछ की जा रही है।

साप्ताहिक राशिफल 28 जून से 4 जुलाई 2021: जानिए इस सप्ताह आपके लिए कितना शुभकारी होगा साबित

बदमाश की पहचान 20 वर्षीय प्रवीण धारुआ के रूप में हुई है, जिसका कथित तौर पर 83 वर्षीय ध्रुबराज नाइक के साथ विवाद था। झारसुगुड़ा के एसपी बिकाश चंद्र दास ने इंडिया टुडे को बताया कि प्रवीण धारुआ मृतक ध्रुबराज नाइक के गांव कुआरमल का रहने वाला है, धारुआ का प्रोफेसर ध्रुबराज से एक तालाब को लेकर विवाद हो गया था कि प्रोफेसर ने तालाब को दूसरे व्यक्ति को पट्टे पर दिया था, जिसे आरोपी मुफ्त में चाहता था।

बिकाश चंद्र दास ने आगे कहा कि कुछ दिन पहले आरोपी ने हंगामा किया था और तालाब की रखवाली करने वाले चौकीदार पर भी हमला कर दिया था। ध्रबराज पर हमला करने के बाद आरोपी धारुआ खुद ध्रुवराज नाइक द्वारा बनाए गए जंगल में छिप गया।  जंगल 19 गांवों में फैला हुआ है।