ओडिशा नुआपाड़ा में 4 दिन में 5 गुना संक्रमित, ओडिशा ने छत्तीसगढ़ सीमा सील की

नुआपाड़ा रविवार, 11 अप्रैल 2021 भुनेश्वर। देश में कोरोनावायरस का कहर बढ़ता ही जा रहा है। महाराष्ट्र और गुजरात से पलायन की खबरे आ रही है। ट्रेनें और बसें खचाखच भरी हुई है। ओडिशा में कोविड-19 के मामले बढ़ने के बीच सरकार ने शनिवार को छत्तीसगढ़ के साथ लगती अपनी सीमा सील कर दी और अंतरराज्यीय सीमा पर गश्त तेज कर दी। छत्तीसगढ़ की सीमा से लगते नुआपाड़ा जिले में कोविड-19 की स्थिति ‘‘गंभीर’’ है। पिछले चार दिनों में यहां संक्रमण के मामले पांच गुना बढ़े हैं।

मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने प्रशासन को मास्क न पहनने पर जुर्माना राशि दोगुना करने का आदेश दिया है। पहले दो उल्लंघनों के लिए लोगों को 2,000 रुपये का जुर्माना देना होगा और उसके बाद मास्क नहीं पहनने पर 5,000 रुपये तक का जुर्माना भरना पड़ेगा।

छत्तीसगढ़ में कोरोना बेकाबू… 97 मौतें, रायपुर और दुर्ग में कोहराम..14 से महासमुंद में लॉकडाउन

ओडिशा में कोरोना संक्रमण के लगातार बढ़ते मामले को देखते हुए राज्य सरकार ने छत्तीसगढ़ सीमा को सील करने का निर्णय लिया है। लोगों तथा वाहनों के आवागमन पर लगे प्रतिबंध को सख्त कर दिया गया है। यहां तक कि ओडिशा के अन्दर स्थल मार्ग, जल मार्ग या फिर आकाश मार्ग के जरिए बाहर राज्य से आने वाले प्रत्येक व्यक्ति को कोविड नियम का अनुपालन करना होगा। बाहर राज्य से आने वाले व्यक्ति को 72 घंटे के अन्दर आरटीपीसीआर टेस्ट कराने के बाद उसे निगेटिव रिपोर्ट देनी होगी। अन्यथा एक सप्ताह तक अनिवार्य क्वारेनटाइन में रहना होगा। संपृक्त व्यक्ति को अपनी पूर्णांग विवरणी के साथ एक अंडरटेकिंग देना होगा। यह राज्य स्वास्थ्य मंत्री नव किशोर दास एवं मुख्य सचिव सुरेश चन्द्र महापात्र ने अपने निर्देशनामा में स्पष्ट किया है।

10 अप्रैल से है रेल सेवा बंद

निर्देशनामा के मुताबिक यदि कोई व्यक्ति दोनों टीका ले चुका होगा तो फिर उसे ओड़िशा आने पर कोई पाबंदी नहीं होगी। इस प्रतिबंध को 12 अप्रैल से सख्त कर दिया जाएगा। वहीं छत्तीसगढ़ से आने वाली कोई भी यात्री वाही गाड़ी या एक्सप्रेस रेलगाड़ी का आवागमन नहीं हो सकेगा। इसके लिए रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष सुनीत शर्मा को मुख्य सचिव महापात्र ने पत्र लिखकर अवगत करा दिया है। 10 अप्रैल से अनिश्चित काल के लिए रेल सेवा को रद करने की बात उन्होंने अपने पत्र में दर्शायी है। छत्तीसगढ़ के कारण राज्य में कोरोना संक्रमण बढ़ रहा है। ऐसे में इसे ध्यान में रखते हुए महापात्र ने राज्य के सुन्दरगड़, झारसुगुड़ा, सम्बलपुर, बरगड़, बलांगीर, नुआपड़ा, कालाहांडी, नवरंगपुर, कोरापुट, गंजाम, गजपति, रायगड़ा, केन्दुझर, मयूरभंज तथा बालेश्वर जैसे 16 जिले के जिलाधीश को अस्थाई स्वास्थ्य केन्द्र (टीएमसी) तैयार करने के लिए अनुमति दे दी है।

हमसे जुड़िए

https://twitter.com/home             

https://www.facebook.com/?ref=tn_tnmn

https://www.facebook.com/webmorcha/?ref=bookmarks

https://webmorcha.com/

https://webmorcha.com/category/my-village-my-city/

9617341438, 7879592500,  7804033123

Leave a Comment