महासमुन्दमेरा गांव मेरा शहर

15 अगस्त कार्यक्रम में पंडाल लगाने मची होड़, बिना टेंडर ही एक महीने पहले ही मैदान में कब्जा

महासमुंद। लापरवाही का नतीजा यहां देखिए,  15 अगस्त स्वतंत्रा दिवस मनाने मिनी स्टेडियम खेल मैदान को एक महीने पहले ही किराया भंडार के लोगों ने कब्जा कर रखा है। जबकि अभी तक प्रशासन की ओर से टेंडर ही नहीं निकाली गई है। सिर्फ संबधित विभाग के मौखिक आदेश और मिलीभगत का नतीजा यह है कि खेल मैदान से खेल प्रेमी वंचित हो गए हैं। जबकि विभाग का जरा भी यहां हस्तक्षेप नहीं है।

सबसे नीचे देखिए: वीडियो

http://कर्क राशि के जातक को मिलेगी सम्मान, धनु राशि के जातक आलस्य से बचे

पीडब्ल्यूडी विभाग अफसरों को प्रशासन ने जिम्मेदारी दी है, लेकिन हर साल अफसर अपने चहेतों को टेंट लगाने का अवसर देते हैं। जबकि शहर में दर्जन भर से अधिक लोग इस व्यवसाय से जुड़े हैं, और यही कारण है कि चहेंते लोग पहले खेल मैदान को कब्जा कर लिए हैं।

http://ब्रेकिंग। झालखम्हरिया में जबरदस्त एक्सीडेंट, एक की मौत एक गंभीर

शहर में संचालित किराया भंडार के लोगों ने कहा प्रशासन में पारदर्शिता नहीं होने के कारण कुछ चहेते लोगों ने एक माह पूर्व ही कार्यक्रम मनाने पंडाल लगा दिए हैं। व्यवसायियों ने कहा कि जिस तरह पहले से कब्जा कर मैदान को रखा गया है, लेकिन यहां विभाग के अफसरों को इससे लेना-देना नहीं है। जबकि पंडाल लगाने का कार्य सिर्फ दो दिन में ही पूरा हो सकता है।

http://हरियाली लाने खल्लारी विधायक चुन्नीलाल ने स्कूली बच्चों के साथ किया पौधरोपण

बतादें कि स्वतंत्रता मनाने के लिए लाखों रुपए खर्च की जाती है। जिसमें मैदान में पंडाल लगाने में सबसे अधिक खर्च किया जाता है। और यहीं कारण है कि खेल मैदान में बिना अनुमति ही एक महीने पहले से पंडाल लगाने का कार्य शुरू हो गया है।

http://जेल भरो में हजारों कर्मचारी पहुंचे राजधानी, कहा मांगे पूरी नहीं तब तक होगी आंदोलन

कब्जा करनेे से रोज खिलाड़ी हो रहे चोटिल

बतादें कि मैदान के चारों ओेर पंडाल लगाने के लिए अवैध तरीके से लोहे के खंबे लगा दिए गए हैं। इस मैदान में रोजाना क्रिक्रेट, बॉलीवाल, फुटवाल के अलावा विभिन्न खेल खेलने खिलाड़ी पहुंचते हैं। पंडाल लगाने के लिए चारो तरफ घेर लेने के कारण खिलाड़ी इन खंबों में रोज टकरा कर चोटिल हो रहे हैं। लेकिन इससे न जनप्रतिनिधि और नहीं जिम्मेदार अफसरों को लेना-देना है।

जिम्मेदार ने नहीं किया फोन रिसीव

इधर, पीडब्लूडी के कार्यपालन अभियंता आर के खाम्हरा ने फोन ही रिसीव नहीं किया। एक महीने पहले से मैदान को कब्जा कर लिए जाने को लेकर शहर के खेल प्रेमियों में आक्रोश है।

यहां देखिए वीडियो

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button