छत्तीसगढ़महासमुन्दमेरा गांव मेरा शहर

महासमुंद नगर पालिका की कमान एक बार फिर राशि महिलांग के हाथों पर

पूर्व विधायक डॉ. विमल चोपडा़ ने नगर पालिका अध्यक्ष के चुनाव में जिस प्रकार से निर्वाचन अधिकारी ने कांग्रेस का पिछलग्गू बनकर संवैधानिक मर्यादाओ को ताक में रखकर कांग्रेस को फायदा पहुंचाने का काम किया है उसकी घोर निंदा की है।

महासमुंद। आज गुरुवार को पालिका अध्यक्ष का चुनाव संपन्न हुआ। बतादें अभी कुछ ही दिन पहले यहां के पूर्व भाजपा अध्यक्ष को यहां के पाषदों ने हटा दिया था। आज हुए चुनाव में  पूर्व पालिकाध्यक्ष राशि महिलांग 9 मतों के अंतर से जीती प्रतिष्ठा की लड़ाई में नगर सत्ता पर कांग्रेस का कब्जा किया। बताया जा रहा है राशि को 19 और प्रकाश को 11 मत मिले। जीत के बाद कांग्रेस समर्थकों में खुशी की लहर है।

पूर्व MLA विमल चोपड़ा ने चुनाव प्रक्रिया पर उठाए सवाल! ?

पूर्व विधायक डॉ. विमल चोपडा़ ने नगर पालिका अध्यक्ष के चुनाव में जिस प्रकार से निर्वाचन अधिकारी ने कांग्रेस का पिछलग्गू बनकर संवैधानिक मर्यादाओ को ताक में रखकर कांग्रेस को फायदा पहुंचाने का काम किया है उसकी घोर निंदा की है। निर्वाचन हेतु घोषित समय को एक घंटे इसलिए बढ़ाना की कांग्रेस के लोग नामांकन भरने हेतू आ नही पाये , चुनाव नियमो का उल्लंघन है। 11 बजे नामांकन फार्म दे देना ही इस बात का द्योतक है कि सम्मिलन प्रांरभ हो गया परंतु नामांकन फार्म जमा न करना और लिखित रूप से 11.45 को देना की सम्मेलन प्रारंभ नही हुआ

महासमुंद: 36 किसानों का 100 एकड़ जमीन का सौदा देख दंग रह गए बांसकांटा के किसान

और 1 घंटे बढ़ाया जाता है , विरोधाभासी है। निर्वाचन अधिकारी को घोषित कार्यक्रम का पालन करना चाहिए परंतु पीठासीन अधिकारी जैसा कार्य कर रहे है स्पष्ट है कि वो कांग्रेस के पिछलग्गू है। डॉ. चोपडा़ ने कहा कि कांग्रेस इन्ही सब कारणो से प्रत्यक्ष प्रणाली के बजाय चुनाव को अप्रत्यक्ष प्रणाली से पार्षदो के माध्यम से करा रही है ताकि साम-दाम, दण्ड-भेद की नीति से वह अपना अध्यक्ष बैठा सके उसे जनभावनाओ एवं विकास से किसी प्रकार का लेना देना नही हैं ।

Related Articles

Back to top button