पुनर्वसु नक्षत्र के जातक का व्यक्तित्व

0
webmorcha

आप सदाचारी, सहनशील और संतोषी स्वभाव के हैं। “सादा जीवन, उच्च विचार” वाली कहावत आप पर हूबहू लागू होती है। ईश्वर पर आपकी अगाध आस्था है और आप परम्पराप्रिय हैं। पुरातन विचारधाराओं व मान्यताओं में आपका दृढ़ विश्वास है। सौम्य स्वभाव, दयालु और परोपकारी प्रवृत्ति तो आपके गुणों में चार चांद लगा देती है। आप शांत, धीर-गंभीर, आस्थावान, सत्य व न्यायप्रिय तथा अनुशासनप्रिय जीवन जीने वाले हैं और आपकी व्यवहार-कुशलता और अटूट मैत्री तो लोकप्रिय है।

व्यर्थ के जोख़िम उठाने से आप हमेशा बचते हैं और अगर कोई मुसीबत या समस्या आपके सामने आती है तो वह ईश्वरीय कृपा से जल्दी दूर हो जाती है।  आप बहुमुखी प्रतिभा के धनी हैं और हर काम को बड़े सलीक़े से पूरा करते हैं इसलिए किसी भी क्षेत्र में सफल हो सकते हैं।  आप शांतिप्रिय और तार्किक प्रवृति के होंगे तथा सबका सम्मान करने वाले और निष्कपट स्वभाव की होंगे। आपके बच्चे भी अच्छा व्यवहार करने वाले होंगे।

शिक्षा और आय

आप शिक्षक, लेखक, अभिनेता, चिकित्सक आदि के रूप में नाम और मान अर्जित कर सकते हैं। ज्योतिष साहित्य के रचयिता, योग-शिक्षक, यात्रा व पर्यटन विभाग, होटल-रेस्तराँ से सम्बंधित कार्य, मनोवैज्ञानिक, धर्म गुरु, पंडित, पुरोहित, विदेश व्यापार, प्राचीन व दुर्लभ वस्तुओं के विक्रेता, पशुपालन, रेडियो, टेलीविज़न व दूरसंचार से जुड़े कार्य, डाक व कुरिअर सेवा, समाजसेवी आदि कार्य करके आप सफल जीवन जी सकते हैं।

पारिवारिक Life

आप माता-पिता के बहुत आज्ञाकारी होंगे और गुरुओं और शिक्षकों का भी ख़ूब सम्मान करेंगे। आपके वैवाहिक Life में कुछ समस्याएँ रह सकती हैं, अतः यदि आप Life Partner से तालमेल बनाकर चलें तो उत्तम होगा। Life Partner  को मानसिक व स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्याएँ परेशान कर सकती हैं, परन्तु उनमें अच्छे गुण भी कूट-कूट के भरे हैं और उनका स्वरुप मनोहारी है। वे बड़े-बूढ़ों का भी सम्मान करने वाले होंगे। बच्चों और Family की देखभाल करने में वह निपुण होंगे।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here