जुलाई 2021 का मीन राशिफल – जानिए इस माह कैसे बीतेगा आपका समय

जुलाई 2021 का मीन राशिफल:  जुलाई का महीना मीन राशि के जातको के लिए औसत से बेहतर रहने की उम्मीद है। कामकाज को लेकर आपको विशेष प्रयत्न करने की आवश्यकता होगी। प्रयास से लाभ के योग हैं। व्यापार आदि में संपर्कों का आप भरपूर फायदा उठाने में सक्षम होंगे। वाणी-व्यवहार के दम पर आप अपने काम बनाने में सफल होंगे। विद्यार्थियों के लिए जुलाई का महीना थोड़ा परेशानी वाला हो सकता है। पठन-पाठन में छोटी-मोटी अड़चनें आती रहेंगी और मन भटकेगा।

कार्यक्षेत्र

कामकाज और करियर के दृष्टिकोण से यह महीना प्रयास से विशेष सफलता प्राप्त करने वाला रहेगा। काम-धंधे को जमाने और बढ़ाने के लिए आपको अतिरिक्त समय और ज्यादा प्रयास की जरूरत होगी। भागदौड़ होगी, लेकिन आप अपने काम सफलतापूर्वक करा लेंगे। नौकरीपेशा लोगों को काम के सिलसिले में लंबी यात्राएं करनी पड़ सकती हैं। विदेश आदि भी जाना हो सकता है। आपकी यात्राएं सुखद और सफलता दिलाने वाली साबित होंगी।

आर्थिक

आर्थिक दृष्टिकोण से देखा जाए तो जुलाई का महीना कुल मिलाकर अच्छा ही कहा जाएगा। एकादश भाव में स्वराशि के शनि विराजमान हैं और उन पर शुक्र की दृष्टि भी हो रही है। शुक्र और शनि मित्र ग्रह हैं। शुक्र वैभव के प्रतीक हैं और शनि परिश्रम के, तो कुल मिलाकर सोने में सुंगध वाली बात हो गई। इसके अवाला, तीसरे भाव में राहु विराजमान हैं, जो आपको अपने बाहुबल, परिश्रम और करीबी लोगों की मदद से आर्थिक रूप से मजबूत बनने की दिशा में प्रयास को प्रेरित करेंगे।

जुलाई 2021 का कुंभ राशिफल – जानिए इस माह कैसे बीतेगा आपका समय

स्वास्थ्य

स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से जुलाई का महीना कोई विशेष परेशानी का नहीं रहने वाला है। स्वास्थ्य की स्थिति सामान्य ही कही जाएगी। लेकिन पेट से संबंधित रोगों के लिए थोड़ी सावधानी रखने की जरूरत है। खान-पान का विशेष ध्यान रखने की जरूरत होगी। दूषित और गरिष्ठ आहार का सेवन पेट में अपच और संक्रमण का कारण बन सकता है। यात्रा आदि में विशेष सावधानी रखें। पंचम भाव में मंगल व शुक्र और उस पर शनि की दृष्टि होने से समस्या बढ़ सकती है। इसलिए कोई भी तकलीफ हो, तो उसे अनदेखा न करें। तीसरे भाव में राहु और बुध की उपस्थिति यह संकेत दे रही है कि गले या कंधे में दर्द हो सकता है।

प्रेम व वैवाहिक

जिन जातकों के प्रेम संबंध हैं, उनके लिए यह महीना आनंद और उमंग से भरपूर रहने वाला है, अगर विवेक का प्रयोग करें और वाणी में मधुरता बनाए रखें तो। मंगल और शुक्र की पंचम में उपस्थिति है। इससे आप रोमांस से तो भरपूर दिखेंगे, प्रियतम को खुश भी रखेंगे, लेकिन आपकी वाणी आपका साथ छोड़ेगी और मामूली बातों पर भी क्लेश हो जाएगा। इससे रंग में भंग पड़ने की पूरी आशंका है। प्रियतम का मजाक में ही सही, उपहास करने का प्रयास न करें। आपकी विनोदपूर्ण बात भी उन्हें चुभ सकती है और इससे मन में खटास आ सकती है। रोमांटिक मूड और अंतरंग क्षणों में वृद्धि संभव है। प्रियतम के साथ समय बिताने का भरपूर मौका मिलेगा। आपको उस मौके पर व्यवहार में मधुरता रखनी है, तंज कसने की आदत से बचना है। बाकी तो आनंद ही आनंद है।

पारिवारिक

पारिवारिक जीवन के दृष्टिकोण से देखें, तो इस माह आपको अपना दिल बड़ा करने की जरूरत है। आपमें जरूरत से ज्यादा अपने लिए स्थान और अपनी मर्जी चलाने की प्रवृत्ति परिवार में कलह का कारण बन सकती है। अपने विचार लोगों पर थोपें नहीं और हमेशा अपने हित को साधने का प्रयास न करें। परिवार के बीच से आपके इस स्वभाव के लिए विरोध के स्वर उभर सकते हैं। चतुर्थ भाव में सूर्य की उपस्थिति आपको परिवार पर खुद को हावी रखने के लिए प्रोत्साहित करेगी। परिवार सामंजस्य से सुखपूर्वक चलता है। सिर्फ अपनी बात कहने और दूसरे के विचारों का कोई सम्मान न करने की आदत घर का वातावरण बिगाड़ सकती है। इसको लेकर विशेष सतर्क रहें।

उपाय

1- प्रतिदिन चमेली के तेल का एक दीपक जलाकर हनुमान जी की मूर्ति के समक्ष रखें

2- श्री बजरंग बाण का पाठ करें।

3- भाई और बहनों से अच्छे संबंध बनाकर रखें।

4- दुर्गा मां का भूलकर भी अपमान न करें।

5- पीली वस्तु का दान करें।