छत्तीसगढ़मेरा गांव मेरा शहररायपुर

CG जेल में बंद चिटफंड ठगों पर पुलिस मेहरबान, शराब पार्टी करते पकड़ा गया, 4 पुलिस निलंबित

इन ठगों से कई परिचित भी उससे Hotel में मिलने आते थे। पुलिस अफसरों ने बताया कि चिटफंड कंपनी HBN के डायरेक्टर अमनदीप सिंह को 7 वर्ष पहले दिल्ली में गिरफ्तार किया गया था। उसने 6 वर्ष में रकम दोगुना करने का झांसा देकर 110 करोड़ से अधिक की ठगी की। वह तब से रायपुर राजधानी केंद्रीय जेल में बंद है

रायपुर। छत्तीसगढ़ में 110 करोड़ की ठगी के मामले में रायपुर राजधानी जेल में बंद चिटफंड कंपनी (chit fund company) के दो डायरेक्टर सोमवार को कचहरी चौक के होटल में शराब पार्टी करते पकड़ा गया। दोनों डायरेक्टर को पेशी के लिए सुबह कोर्ट लाया गया था। यहां से पुलिस की मिलीभगत से उसे गुपचुप तरीके से होटल ले गए। वहां AC में रूम में बिठाकर दोनों विचाराधीन बंदी पार्टी कर रहे थे।

इसकी जानकारी अफसरों को हुई तो होटल में छापा मारा गया। दोनों डायरेक्टर को कोर्ट में पेश करने के बाद जेल भेज दिया गया। SSP ने ड्यूटी में लगे चारों Police वालों को सस्पेंड कर दिया है। उनके खिलाफ विभागीय जांच का आदेश दिया गया है। चर्चा है कि बीते 6 साल में ऐसा कई बार हो चुका है, जब आरोपी को Hotel  में सुविधा दी गई है।

छत्तीसगढ़, ओडिशा समेत यहां होगी झमाझम बारिश, IMD का ताजा भविष्यवाणी

webmorcha.com
चिटफंड ठगों

जानकारी के अनुसार, इन ठगों से कई परिचित भी उससे Hotel में मिलने आते थे। पुलिस अफसरों ने बताया कि चिटफंड कंपनी HBN के डायरेक्टर अमनदीप सिंह को 7 वर्ष पहले दिल्ली में गिरफ्तार किया गया था। उसने 6 वर्ष में रकम दोगुना करने का झांसा देकर 110 करोड़ से अधिक की ठगी की। वह तब से रायपुर राजधानी केंद्रीय जेल में बंद है।

वहीं कंपनी का एक और डायरेक्टर राकेश तोमर भी जेल में बंद है। दोनों की ठगी के मामले में सोमवार को कोर्ट में सुनवाई थी। सुबह 11.30 बजे जेल की गाड़ी में अन्य बंदियों के साथ अमनदीप और राकेश को कोर्ट लाया गया, लेकिन दोनों को लॉकअप (lockup) में बंद नहीं किया गया। दोनों को बाहर बिठाकर रखा गया। दोपहर 2 बजे दोनों को गुपचुप तरीके से कोर्ट के पास स्थित Hotel ले जाया गया। यहां सिपाही ने कमरा नंबर 204 को शाम 6 बजे तक के लिए बुक किया था।

webmorcha.com
चिटफंड ठगों

दोनों AC वाले कमरे में बैठकर पार्टी करने लगे। इसकी शिकायत किसी ने अफसरों को शिकायत की। आनन-फानन में दोनों को कोर्ट लाया गया। उसके बाद जेल भेज दिया गया। SSP प्रशांत अग्रवाल ने होटल लाने वाले सिपाही किशोर नायक, राकेश सिंह, दुर्विजय पांडेय और लक्ष्मीनारायण ठाकुर को सस्पेंड कर दिया है। चर्चा है कि होटल ले जाने के लिए चारों को मोटी रकम दी गई थी। उसके बाद ही दोनों बंदियों को होटल ले गए है।

मित्र व परिजन भी मिलने आते हैं

बताया जा रहा है बीते 6 वर्ष में कोर्ट में पेशी के दौरान कई बार अमनदीप को Hotel ले जाया गया। जहां वह जमकर पार्टी करता है। उसके रिश्तेदार और परिजन भी उससे होटल में मुलाकात कर चुके है। इसकी शिकायत भी हो चुकी है। उसके बाद दोनों आरोपियों की ऑनलाइन पेशी कराई जा रही थी। लंबे समय बाद दोनों को जेल से बाहर निकाला गया था। उसे Police वाले होटल ले गए।

 

https://twitter.com/WebMorcha

https://www.facebook.com/webmorcha

https://www.instagram.com/webmorcha/

 

Related Articles

Back to top button