अंतर्राष्ट्रीय बाजार में करोड़ों कीमत की इस सांप के साथ रायपुर पुलिस ने 4 को किया अरेस्ट

रायपुर।  रायपुर की Police ने 4 युवकों को शुक्रवार को गिरफ्तार किया। ये रेड सैंड बोआ (Red sand boa) नाम का दुर्लभ करोड़ों की सांप बेचने की कोशिश में थे। इस करोड़ों की सांप को लोग दो मुंहे सांप के नाम से भी जानते हैं। भारत सरकार ने इस सांप (Red sand boa) को बेहद दुर्लभ प्रजाति में शामिल कर रखा है। रायपुर के सायबर सेल को करोड़ों सांप की तस्करी का इनपुट मिला था। 4 आरोपियों को पकड़कर अब वन विभाग के हवाले कर दिया गया है। अब आगे की कार्रवाई वन विभाग करेगा।

साउथ से खुद 10 लाख में खरीदकर लाए थे

सायबर सेल के प्रभारी रमाकांत साहू ने बताया कि हमारी टीम ने सिविल लाईन थाना इलाके के त शिव चौक पुराना राजेन्द्र नगर स्थित एक मकान में छापा मारा। यहां से हमने 4 युवको को पकड़ा जो कि केरल के रहने वाले थे। मकान के कमरों की तलाशी लेने पर एक ड्रम में दुर्लभ प्रजाति का सांप रेड सैंड बोआ (Red sand boa) रखा था। लड़कों ने अपना नाम किरन आरपी, राज किरन, रिनु बी बताया।

विश्व दिवस: हर मौसम में अलर्ट रखने वाले गौरैया अब रेत में उंडूल करते नहीं दिखते.. पढ़ें रोचक जानकारी

सांप के बारे पूछने पर पता चला कि साउथ के चित्तूर से 10 लाख रुपए में इन्होंने ये सांप खरीदा था। रायपुर में 30 लाख रुपए में ये सांप बेचना चाहते थे। आरोपी रायपुर में ही रहते हैं यहां वॉल पेंटिंग का काम करते हैं। ये कुछ लोगों से सांप बेचने को लेकर संपर्क कर रहे थे। इसकी जानकारी पुलिस के पास पहुंची और फिर इन्हें पकड़ा गया। पुलिस ने इनके मोबाइल फोन और अर्टिगा कार को भी जप्त कर लिया है।

बाजार में करोड़ो में है कीमत

अंतराष्ट्रीय बाजारों में इस सांप (Red sand boa) की कीमत 2 से 3 करोड़ रुपए है। सांपों के संरक्षण का काम करने वाली संस्था नोवा नेचर के मोइज ने बताया कि कुछ मीडिया रिपोर्ट्स की वजह से इस बात की चर्चा है कि तंत्र क्रिया करने में इस सांप (Red sand boa) का इस्तेमाल होता है। चीन में इस सांप से कैंसर की दवा बनाने का काम होने की बातें भी सामने आती हैं। यही वजह है कि इंटरनेशनल मार्केट में इस सांप की डिमांड है।

कभी खरीदने वाले पकड़ में नहीं आते

रायपुर Police ने इस बात का खुलासा नहीं किया कि इन तस्करों ने सांप (Red sand boa) की डील किसके साथ की थी। सूत्रों की मानें तो 10 लाख रुपए में तस्करों ने यूं ही सांप नहीं खरीदा, बल्कि इस का खरीदार तय था। रायपुर के कुछ लोगों के संपर्क में भी ये आरोपी थे। मगर आधिकारिक तौर पर इस बात का खुलासा नहीं किया गया है कि खरीदार कौन था। स्नैक रेसक्यू करने वाले मोइज ने बताया कि ऐसे मामलों में हमने भी कभी खरीदार को उजागर होते नहीं देखा, वो कभी पकड़ में नहीं आते।

हमसे जुड़िए

https://twitter.com/home

https://www.facebook.com/?ref=tn_tnmn

https://www.facebook.com/webmorcha/?ref=bookmarks

https://webmorcha.com/

https://webmorcha.com/category/my-village-my-city/

9617341438, 7879592500,  7804033123

Leave a Comment