मंत्री डॉ डहरिया ने कहा कि प्रदेश के लोगों ने छत्तीसगढ़ राज्य के विकास का जो सपना देखा था वह मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में पूरा हो रहा है। विकास कार्यों से प्रदेश की नई तस्वीर गढ़ी जा रही है। नरवा, गरवा, घुरवा और बाड़ी और गौठान के माध्यम से गांव की पुरानी संस्कृति को पुनर्जीवित किया गया। महिला स्व सहायता समूहों को गौठान के माध्यम से आत्मनिर्भर बनाया जा रहा है।

मंत्री डॉ डहरिया ने आगे कहा कि राज्य सरकार द्वारा कोविड के रोकथाम के लिए सराहनीय कार्य किया गया। कोविड के समय में भी प्रदेश में विकास कार्यों की लगातार सौगात दी गई। मुख्यमंत्री के नेतृत्व में राजीव गांधी किसान न्याय योजना से किसानों को लाभान्वित किया जा रहा है। सरकार द्वारा धान के बदले अन्य फसल और वृक्षारोपण करने वालों को प्रति एकड़ 10 हजार की राशि देकर प्रोत्साहित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि किसानों का कर्ज माफ करने के साथ बिजली बिल हाफ कर लोगों को राहत पहुचाया गया है। मंत्री डॉ.डहरिया ने कहा कि कोविड के समय में आर्थिक मंदी का असर राज्य में देखने को नहीं मिला।

हमारे राज्य की अर्थव्यवस्था मजबूत रही। हमारी सरकार प्रदेश के लोगों के साथ मिलकर विकास के कार्यों को पूरा कर रही है। लोगों को अच्छी सड़क मिले, घर में नल कनेक्शन से पानी मिले इसके लिए भी सरकार प्रयासरत है। उन्होंने कहा कि आरंग विधानसभा क्षेत्र में सामुदायिक भवन, सड़क,सीसी रोड़ निर्माण सहित अन्य कार्य लगातार स्वीकृत कर विकास की धारा बहाई जा रही है। मंत्री ने ग्राम रसनी और बोडरा में लगभग 62 लाख रुपए से अधिक के विभिन्न विकास कार्यों का भूमिपूजन किया।

जिसमें शासकीय भवन से मुख्य मार्ग तक मुख्यमंत्री सुगम सड़क निर्माण और सामुदायिक भवन, सीसी रोड़ निर्माण जैसे कार्य शामिल है। इस अवसर पर जनपद पंचायत आरंग के अध्यक्ष  खिलेश्वर देवांगन,  चंद्रशेखर चंद्राकर,  हेमलता साहू,  अनिता थानसिंह साहू,  कोमल साहू सहित अन्य जनप्रतिनिधि और ग्रामीणजन उपस्थित थे।