रायगढ़: टीकाकरण को लेकर झूठी अफवाह फैलाने Facbook पर बनाए 18 अकाउंट, लड़कियों के नाम की फेक ID से फैलाता था समाज में संक्रमण

​​​​​​​रायगढ़। कोविड संक्रमण के कारण पूरे देश में लगातार हालात खराब हो रहे हैं। इसे रोकने टीकाकरण के माध्यम लोगों को सुरक्षित रखा जा सके। बावजूद इसके ऐसे लोग भी हैं जो समाज में हैं जो जो कोरोना से भी अधिक संक्रमण का काम कर रहे हैं। प्रदेश के रायगढ़ में कुछ ऐसा ही मामला सामने आया है यहां कि पुलिस ने एक ऐसे ही युवक को गिरफ्तार किया है, जो टीकाकरण को लेकर अफवाहें फैला रहा था। इसके लिए आरोपी ने Facbook पर 18 अकाउंट बनाए थे। इसमें से अधिकतर युवतियों के नाम से थे।

जानकारी के अनुसार,  पुलिस को जानकारी मिली कि रायगढ़ छत्तीसगढ़ नाम से बने Facbook पेज पर वैक्सीनेशन को लेकर लगातार जानकारी झूठी जानकारी डाली जा रही है। इस पर एसपी संतोष सिंह ने साइबर सेल को जांच के निर्देश दिए। टीम ने फेसबुक पर चल रही अकाउंट ID होल्डर के बारे में जानकारी जुटाई और फिर कोतवाली Police के साथ मिलकर आरोपी दरोगापारा निवासी आशीष ठेठवार को पकड़ लिया।

इस रईसजादें ने 7 लाख रुपए देकर थाइलैंड से बुलाई कॉलगर्ल, रायपुर से जुड़ा ये कनेक्शन…कोरोना के संक्रमण से हो गई मौत

मोबाइल जब्त करने पर पता चला फेक अकाउंट

पकडे गए आरोपी पहले एक बैंक में कर्मचारी था। Police ने उसके पास से मोबाइल भी जब्त किया है। उससे पता चला कि शातिर ने अलग-अलग 18 अकाउंट फेसबुक पर बना रखे थे। इसमें रायगढ़ छत्तीसगढ़ समेत मिस्टी पटेल, सुरभि मिश्रा, सुजाता यादव, रिचा यादव, रश्मि साहू, डॉ. कविता यादव, डॉ. आराधना साहू, सुजाता ठाकुर, नेहा गुप्ता, डॉ. निशा, स्वाति यादव, निशा गोपाल, चंचल अग्रवाल जैसे नामों का इस्तेमाल किया गया था।

लड़कियों के नाम से बनी फेसबुक ID पर लोग आसानी से जुड़ते थे

पूछताछ में आरोपी आशीष ठेठवार ने बताया कि महिलाओं के नाम से बनी फेसबुक ID में लोग आसानी से जुड़ जाते हैं। इसके चलते उसने महिलाओं के नाम की फर्जी फेसबुक अकाउंट बनाना शुरू किया। इसके जरिए वह पोस्ट करता तो ज्यादा से ज्यादा लोगों के पास पहुंचता था। रायगढ़ छत्तीसगढ़ के नाम से ही बने पेज में करीब 4200 फ्रेंड हैं। वहीं मिष्टी पटेल में करीब 2700 लोग फ्रेंड लिस्ट में जुड़े हुए हैं। यही स्थिति अन्य ID में भी है।

छत्तीसगढ़: सावधान यहां भी हवा से फैल रहा कोरोना…सीएम कार्यालय ने भी शेयर किया वीडियो

अफवाह फैलाने की बनी थी सनक… और कुछ नहीं

पुलिस ने बताया कि युवक कोरोना और वैक्सीनेशन को लेकर भ्रामक जानकारी क्यों फैलाता था, इस संबंध में कुछ स्पष्ट रूप से सामने नहीं आ सका है। बस यह उसकी सनक थी और कुछ नहीं। पूछताछ में बताया है कि वह पहले से ही युवतियों और महिलाओं के नाम से फर्जी फेसबुक ID बनाता था। जब उसमें 3-4 हजार लोग जुड़ जाते थे, तो उसको पेज में बदल देता था। इसके बाद भ्रामक पोस्ट करना शुरू कर दिया।

हमसे जुड़िए

https://twitter.com/home             

https://www.facebook.com/?ref=tn_tnmn

https://www.facebook.com/webmorcha/?ref=bookmarks

https://webmorcha.com/

https://webmorcha.com/category/my-village-my-city/

9617341438, 7879592500,  7804033123