कोमाखानमहासमुन्द

साल भर से नहीं मिला वेतन तो कर्मचारियों ने शराब दुकान के गल्ले से उड़ा लिए 7 लाख

महासमुंद। मूनगासेर शराब दुकान में 17 और 18 अगस्त की मध्यरात्रि करीब 7 लाख रुपए  की चोरी हो गई। मूनगासेर शराब दुकान में पदस्थ सुपरवाइजर प्रतिमा लहरे ने पुलिस को बताया कि शराब दुकान का ताला तोड़कर दुकान के अंदर रखे अलमारी से 7 लाख 31 हजार 50 रुपए को किसी ने चोरी कर लिया। सूचना पर बागबाहरा पुलिस घटनास्थल पहुंचकर जांच की। पुलिस ने घटना के दिन मौजूद सभी कर्मचारियों को बुलाकर पूछताछ की। जिस पर दुर्गेश साहू और विजय चक्रधारी ने पुलिस को बताया कि कंपनी के द्वारा विगत एक साल से यहां कार्यरत कर्मचारियों को वेतन नहीं दिया है। दुकान में प्रतिमा लहरे सुपरवाइजर के रूप में दुर्गेश साहू, विजय चक्रधारी, बुधराम साहू और हेमंत साहू सेल्समैन के पद पर कार्यरत थे. जबकि चौकीदार के रूप में सुरेंद्र पटेल, रुपेश पटेल व तेज कुमार टंडन थे.

http://होम लोन लेने वालों के खुशखबरी, SBI ने ब्याज दर में की कटौती

पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि उन्हें करीब 7 महीना से वेतन नहीं मिला था, जिसकी वजह से वह परेशान थे. कंपनी वालों के ध्यान नहीं रखने के कारण सुपरवाइजर और सेल्समैन ने प्लान बनाया और 17 और 18 अगस्त के कलेक्शन को आपस में बांटने की ठान ली। उनके बनाए गए प्लान के अनुसार रात 9 बजे दुकान बंद होने के समय लाइट बंद थी। चौकीदार शराब पीकर कमरे के भीतर सो गए थे. इसी का फायदा उठाकर अलमारी में रखे रकम को चुरा लिया गया और लगभग 23 हजार रुपए की रक़म को वहीं गल्ले में छोड़ दिया ताकि लोगों को लगे कि चोर ने हड़बड़ी में पैसा चुराया नहीं है।इसके बाद उक्त रकम को लेकर सुपरवाइजर प्रतिमा लहरे अपने घर चला गया. और सेल्समैन के द्वारा दुकान का शटर गिराकर ताला को खुला छोड़ दिया गया. इसके बाद बनाए गए प्लान के अनुसार दुर्गेश साहू और विजय चक्रधारी रात को 12 से 1 बजे के बीच शराब दुकान के शटर उठाकर के जोर-जोर से खटखटाने लगे.

http://वीडियो : अधीक्षिका के पति ने सफाईकर्मी महिला को आश्रम से घसीटते हुए निकाला बाहर

तभी चौकीदार जाग गया और अंधेरे का फायदा उठाकर दोनों सेल्समैन अपनी बाइक लेकर वहां से भाग निकले। वहां  से भागने के बाद ये दोनों सुपरवाइजर प्रतिमा के घर गए जहां उसके घर में 6 लाख 79 हजार 250 रुपए में से 4 लाख को प्रतिमा लहरे अपने पास रखा और दुर्गेश साहू को 2 लाख दिया और विजय चक्रधारी को बाकी बचा 79 हजार 250 को दिया। उसके बाद दोनों अपने घर चले गए और पैसे को सुरक्षित स्थान पर रख दिए. मामले से शामिल तीनो आरोपी को गिरफ्तार कर धारा 457 ,380,120 बी के तहत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया है। उक्त कार्रवाई पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह के निर्देश पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक वेदव्रत सिरमौर एवं अनुभवी अधिकारी पुलिस थाना प्रभारी उप निरीक्षक संजय सिंह राजपूत, ललित साहू मुकेश कुमार हरीश साहू का विशेष योगदान रहा।

[wds id=”1″]

हमसे जुड़िए…

https://twitter.com/home

https://www.facebook.com/?ref=tn_tnmn

https://www.facebook.com/webmorcha/?ref=bookmarks

https://webmorcha.com/

https://webmorcha.com/category/my-village-my-city/

9617341438, 7879592500, 8871342716, 7804033123

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button