Uncategorized

हर कष्ट्रों का निवारण शनि देव करेंगे, 15 मई को कहां जाए और क्या करें यह जानिए…

शहर में जयंती मनाने कैसे हो रही तैयारी यह भी जाने

ज्येष्ठ अमावस्या 15 मई, 2018 के दिन को शनि जयंती मनाई जाएगी।  इस दिन शनि देव की विशेष पूजा का विधान है। शनि देव को प्रसन्न करने के लिए अनेक मंत्रों व स्तोत्रों का पाठ किया जाता है। शनि हिन्दू ज्योतिष में नौ मुख्य ग्रहों में से एक हैं।  शनि अन्य ग्रहों की तुलना मे धीमे चलते हैं, इसलिए इन्हें शनैश्चर भी कहा जाता है। पुराणों के अनुसार शनि के जन्म के विषय में काफी कुछ बताया गया है, और ज्योतिष में शनि के प्रभाव का साफ़ संकेत मिलता है। शनि ग्रह वायु तत्व और पश्चिम दिशा के स्वामी हैं। शास्त्रों के अनुसार शनि जयंती पर उनकी पूजा-आराधना और अनुष्ठान करने से शनिदेव विशिष्ट फल प्रदान करते हैं।

शहर में जयंती मनाने कैसे हो रही तैयारी यह भी जाने

  • महासमुंद सिद्ध श्री संकट मोचन हनुमान मंदिर समिति समिति कचहरी चौक महासमुंद की एक आवश्यक बैठक 13 मई 2018 को मंदिर परिसर में प्रातः 11 बजे रखा गया है। बैठक में 15 मई 2018 को श्री शनिदेव जन्मोत्सव धूमधाम से मनाने हेतु रूपरेखा तैयार की जावेगी। उक्त जानकारी मंदिर समिति के सचिव भरत सिंह ठाकुर ने देते हुए बैठक में मंदिर समिति के सभी सदस्यों से आवश्यक रूप से उपस्थित रहने की अपील की है।

शनि को खुश करने क्या करें यह भी जानिए

  • शनि जयंती के अवसर पर शनिदेव के निमित्त विधि-विधान से पूजा पाठ तथा व्रत किया जाता है। शनि जयंती के दिन किया गया दान पूण्य एवं पूजा पाठ शनि संबंधि सभी कष्टों दूर कर देने में सहायक होता है. शनिदेव के निमित्त पूजा करने हेतु भक्त को चाहिए कि वह शनि जयंती के दिन सुबह जल्दी स्नान आदि से निवृत्त होकर नवग्रहों को नमस्कार करते हुए शनिदेव की लोहे की मूर्ति स्थापित करें और उसे सरसों या तिल के तेल से स्नान कराएं तथा षोड्शोपचार पूजन करें साथ ही शनि मंत्र का उच्चारण करें।

।। ॐ शनिश्चराय नम:।।

  • इसके बाद पूजा सामग्री सहित शनिदेव से संबंधित वस्तुओं का दान करें. इस प्रकार पूजन के बाद दिन भर निराहार रहें व मंत्र का जप करें। शनि की कृपा एवं शांति प्राप्ति हेतु तिल , उड़द, कालीमिर्च, मूंगफली का तेल, आचार, लौंग, तेजपत्ता तथा काले नमक का उपयोग करना चाहिए। शनि देव को प्रसन्न करने के लिए हनुमान जी की पूजा करनी चाहिए। शनि के लिए दान में दी जाने वाली वस्तुओं में काले कपडे, जामुन, काली उडद, काले जूते, तिल, लोहा, तेल,  आदि वस्तुओं को शनि के निमित्त दान में दे सकते हैं।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button