सेनानी और शहीद गौरव ग्राम को झेलना पड़ रहा उपेक्षा का दंश, विकास से रहा अछूता- पूनम –

बुदेली उपसरपंच तथा कांग्रेस नेता पूनम दास मानिकपुरी ने कहा कि बुंदेली जिले का एक बड़ा गांव होने के साथ ही यहां सेनानी शहीदों का गौरव ग्राम है। लेकिन यहां की विकास को जानबुझकर नेताओं द्वारा ध्यान नहीं दिया जा रहा है। ग्रामीणों द्वारा समस्या और मांगों को लेकर अनेक बार मांग की गई लेकिन किसी प्रकार का ध्यान नहीं दिया गया।  

  • छत्तीसगढ़. महासमुंद।   पिथौरा विकासखंड के सबसे बडे़ ग्राम बुंदेली में एक भी  बडा विकास का काम नहीं हुआ है। इस ग्राम में स्वतंत्रता संग्राम सेनानी स्व आंनदा दास मानिकपुरी और शहीद कमलेश्वर सोनवानी का गृह ग्राम है जहां पर आज तक एक भी  विकास का काम नहीं हो पाया बुंदेली मे आसपास के कई गांव जैसे छिंदौली बेल्डीही बोइरलामी लिलेसर चरौदा परसदा बिराजपाली डोंगाजर कोल्दा भुरकोनी के पढने वाले बच्चे बुंदेली आते हैं बारहवी के बाद कालेज जाने के लिए या तो 30 किलोमीटर बागबाहरा या पिथौरा जाना पढता है बालिकाओं को जाने मे बहुत परेशानी होती है इसके लिए शुरु से ही बुंदेली में कालेज की मांग की जा रही है ।
  • बुंदेली में राष्ट्रीय कृत बैंक खोलने वर्षों पुरानी मांग बुंदेली से ठाकुरदिया वन मार्ग को डामरीकरण करने बुंदेली मे स्वतन्त्रा संग्राम सेनानी के द्वारा दी गई अपनी जमीन पर सरकारी अस्पताल बनाने की मांग, किसानों और आम नागरिकों की सुविधा के लिये बुंदेली बेल्डिही नाला मे ऐनीकेट की निर्माण की मांग, पठियापाली नहर निर्माण की मांग भालुमूत्तरी स्टापडेम की मांग, सरकारी तलाबों की सौँदर्यीकरण, बुंदेली के सभी  चौक चौराहों पर सौर उर्जा से स्ट्रीट लाइट  लगाने की माग बुंदेली में नए पानी टंकी निर्माण एव पाईप लाईन विस्तार की मांग कई वर्षों से किया जा रहा है।
  •  लेकिन इस गांव की सुध लेने वाला कोई नहीं कई बार मुख्यमंत्री जनदर्शन कलेक्टर जनदर्शन और कई बार विधायक और सांसद मंत्री से इस गांव के विकास के लिए मांग किया गया लेकिन अभी  तक किसी प्र कार से कोई कार्यवाही नहीं हुई लोकसुराज में भी  आवेदन लगाया गया है लेकिन उसमें मे भी  कोई कार्यवाही नहीं लोकसुराज अभियान केवल ढकोसला है कोई समाधान नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button