कोमाखानरायपुर

शिक्षाकर्मियों का संविलियन आदेश जारी, सोमवार से शुरू होगी प्रक्रिया

रायपुर। शिक्षाकर्मियों का संविलियन आदेश जारी हो चुका है। सोमवार 1 जुलाई से संविलियन की प्रक्रिया शुरु हो जाएगी। मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने बताया कि आज ही संविलियन के आदेश पर हस्ताक्षर हुए हैं और कल से संविलियन की प्रक्रिया शुरु हो जाएगी।
10 जून को अंबिकापुर में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष के समक्ष सीएम डॉ रमन सिंह ने शिक्षाकर्मियों के संविलियन करने की घोषणा किए थे। इसके बाद 18 जून को रमन कैबिनेट ने बैठक में इस घोषणा पर मुहर लगाई गई।

यहां पर पढ़िए http://संविलियन मिशन वॉल पेटिंग कर कहा था दूध मांगोगे

ऐसे जारी हुआ आदेश

  • संविलियन किए गए शिक्षक (पंचायत/नगरीय निकाय) संवर्ग स्कूल शिक्षा विभाग में शिक्षक (एलबी) के नाम से जाने जाएंगे।
  • स्कूल शिक्षा विभाग के अंतर्गत पूर्व से संचालित शालाओं में जहां ई-संवर्ग के शिक्षक पदस्थ हैं, उन शालाओं में पदस्थ पंचायत एवं नगरीय निकाय संवर्ग के शिक्षक नवीन नाम एलबी संवर्ग के तथा जहां टी – संवर्ग के शिक्षक पदस्थ हैं, उन शालाओं में पदस्थ पंचायत एवं नगरीय निकाय संवर्ग के शिक्षक नवीन नाम – शिक्षक टी (एलबी) संवर्ग के अंतर्गत होंगे और इनका कैडर अलग-अलग होगा।

http://हाईपावर कमेटी की रिपोर्ट तैयार

  • शिक्षक (एलबी) संवर्ग को एक जुलाई 2018 से सातवे वेतन आयोग की राज्य शासन द्वारा समय-समय पर स्वीकृत अनुशंसाओं के अनुरूप वेतन और अन्य सुविधाएं देय होंगी।
  • शिक्षक (एलबी) संवर्ग को देय समस्त लाभ के लिए सेवा की गणना संविलियन की तारीख एक जुलाई 2018 से की जाएगी।

http://कुछ दिन पहले ही सीएम ने संविलियन का दिखाया था हरी झंडी

  • दिनांक 1 जुलाई 2018 की पहले की अवधि के लिए किसी भी प्रकार के एरियर्स की पात्रता नहीं होगी।
  • शिक्षक (एलबी) संवर्ग को नवीन अंशदायी पेंशन योजना की पात्रता होगी।
  • शिक्षक (एलबी) संवर्ग की भर्ती, पदोन्नति और सेवा के नियम स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा अलग से बनाकर अधिसूचित किए जाएंगे।
  • किसी भी अन्य विभाग के सेवा एवं भर्ती नियमों में यदि इस आदेश के तहत निर्मित नियमों से असंगत कोई नियम अथवा प्रावधान हो, तो वे नियम या प्रावधान इस आदेश के प्रावधानों की सीमा तक संशोधित माने जाएंगे। संबंधित विभाग इस आदेश के प्रावधानों से संगत अनुकूलन आदेश अपने सेवा भर्ती नियमों में अविलम्ब शामिल कराएगा
  • शिक्षक (पंचायत/नगरीय निकाय) संवर्ग के जारी नियुक्ति आदेश के विरूद्ध यदि किसी न्यायालय में प्रकरण विचाराधीन है, तो उनका संविलियन न्यायालय के निर्णय के अध्याधीन रहेगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button