महासमुन्दमेरा गांव मेरा शहर

शिक्षक की मांग को लेकर शिक्षक के नेतृत्व में बच्चों का चक्का जाम, पालकों को लेना-देना नहीं

webmorcha.com से विशेष रिपोर्टर बलराम दीक्षित की रिपोर्ट

पटेवा : रूमेकेल मिडिल स्कूल के बच्चे और शिक्षक नेशनल हाइवे 53 पटेवा बार रोड के पास चक्का जाम कर दिए। शिक्षक की मांग को लेकर सोमवार 12 बजे स्कूल छोड़ चक्काजाम करने पहुंच गए थे।

सबसे नीचे देेखिए:  वीडियों 

सबसे खास बात यह है कि संस्था प्रभारी रोशन साहू स्वयं उपस्थित रहकर बच्चों को रोड में बिठाए तथा पुलिस से भी बहस की। आंदोलन का नेतृत्व स्वयं शिक्षक साहू ने किया। बाद में अफसरों द्वारा समझा कर शिक्षक व्यवस्था कराने का आश्वासन देकर चक्का जाम को खत्म कराया। बतादें कि इस चक्का जाम से पालकों का किसी तरह का लेना देना नहीं है। इससे साफ जाहिर हो रहा है कि यहां पदस्थ कर्मचारी अध्यापन में नहीं बल्कि नेता बनने में ज्यादा रूचि रख रहे हैं।

यहां पढ़े: http://तोरण यादव का योग राष्ट्रीय स्पर्धा में शामिल होने पर रामआसरे ने दिया आर्थिक मदद

  • रूमेकेल मीडिल स्कूल में दर्ज संख्या 167
  • रेगुलर शिक्षकों की संख्या 02
  • शिक्षा दूत 01
  • यहां गणित का शिक्षक नहीं है।
  • यहां के शिक्षकों विभाग के अफसरों को कई बार सूचना दिया।
  • लेकिन अफसरों को इससे लेना-देना नहीं है।

http://पुलिस सक्रियता…सुमो के साथ महिला को अपहरण करने वाले दो लोग पकड़े गए

अंतत: प्रधानपाठक अपने रूल रेगुलेशन को एक तरफ खुद चक्काजाम करने पहुंच गए।
हालांकि विभाग के अफसरों द्वारा शिक्षक व्यवस्था करने के आश्वासन के बाद यहां का चक्का जाम खत्म हुआ।
8 किमी बच्चों को पैदल भेज करवाया गया चक्काजाम

शिक्षक की मांग को लेकर

शिक्षा की नींव को बना रहे प्रदर्शनकारी

बतादें कि रूमेकेल स्कूल और हाइवे की दूरी 8 किमी है। इस तरह बच्चों को शिक्षक द्वारा चक्काजाम करने के लिए 8 किमी पैदल ही भेज दिया। और खुद शिक्षक बाइक में सवार होकर पहुंचा। यह वह बच्चे हैं जो अभी हाल ही में प्राथमिक पढ़ाई कर इस स्कूल में प्रवेश लिए हैं, जिन्हें मध्य श्रेणी की शिक्षा दिया जाना है। लेकिन यहां के शिक्षकों द्वारा प्रदर्शनकारी करने का पाठ पढ़ाया जा रहा है।

http://मिथुन राशि के जातक फिजुल खर्जी से बचे, कन्या के जातक को कोर्ट कचहरी से मिल सकता है लाभ

रोकने बहुत हुआ प्रयास

संकुल समन्वयक ने क्या कहा यह भी जानिए: रायतुम संकुल समन्वयक हेमलाल तोंड्रे ने कहा चक्का जाम करने से पहले मैने बहुत रोकने की कोशिश किया लेकिन प्रधानपाठक मानने को तैयार ही नहीं हुआ। इसकी सूचना मैने उच्च अफसरों को दे दी है।

http://खट्टा हाईस्कूल उन्नयन में पहुंचे विमल और पूनम, ग्रामीणों ने कहा शिक्षक भी दें दाे साहब

व्यवस्था की गई

एबीओ गजेन्द्र ध्रुव ने बताया कि शिक्षक की कमी है लेकिन चक्का जाम करना उचित नहीं है। मांग के आधार पर रूमेकेल में कल से गणित शिक्षक की व्यवस्था की गई है।

http://पुलिस किसान बन पहुंचा खेत और नकली नोट के अंतर्राज्यीय गिरोह को शरण देने वाले को दबोचा

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button